वैलनेस
स्टोर

ये 5 जादुई आयुर्वेदिक मसाले और हर्ब्स इम्यूनिटी बढ़ाने में हैं मददगार

Updated on: 10 December 2020, 13:05pm IST
आपकी प्रतिरक्षा यानी इम्यूनिटी कोविड-19 के खिलाफ आपकी ढाल है। यहां वे 5 आयुर्वेदिक मसालें और हर्ब्स हैं जो बीमारियों से लड़ने में मददगार हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 89 Likes
आयुर्वेदिक मसालों और हर्ब्‍स से कोविड-19 से लड़ना होगा आसान। चित्र : शटरस्‍टॉक

एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली से शरीर को फ्लू, रोग पैदा करने वाले वायरस  के साथ ही बैक्टीरिया से लड़ने में मदद मिलती है। कमजोर इम्‍यूनिटी वाले लोगों के किसी भी वायरस से संक्रमित होने का जोखिम ज्‍यादा रहता है। साथ ही वे दूसरों की तुलना में अधिक गंभीर रूप से बीमार होते हैं।

यही कारण है कि हमें यह सुनिश्चित करने की ज़रूरत है कि हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली बेहद मजबूत है। इससे हमें स्वस्थ जीवन जीने में मदद मिलेगी। कोविड-19 के कहर को देखते हुए यह और भी जरूरी हो जाता है कि हम अपनी इम्‍यूनिटी को मजबूत करने के उपाय अपनाएं।

फिट रहने और प्रतिरक्षा को मजबूत बनाए रखने के लिए, हमें चीजों कुछ खास चीजों पर ध्‍यान देने की जरूरत है। नियमित रूप से व्यायाम करें और स्वस्थ भोजन की आदत डालें। पारंपरिक भारतीय चिकित्सा प्रणाली आयुर्वेद में कई ऐसी जड़ी-बूटियों  और मसालों का उल्‍लेख किया गया है जो प्राकृतिक तरीके से प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाते हैं। साथ ही वे पाचन में सुधार और बेहतर मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य जैसे अन्‍य लाभ भी देते हैं।

ऐसे समय में जब दुनिया COVID-19 की चपेट में है, तब हमें इम्‍यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुर्वेद में वर्णित इन मसालों और जड़ी-बूटियों को अपने आहार में जरूर शामिल करना चाहिए:

1 हल्दी: कभी सोचा है कि हमारे बुजुर्गों ने अकसर बीमार या घायल होने पर हल्दी दूध पीने की सिफारिश क्यों की है? आयुर्वेद के अनुसार, हल्दी प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने में मदद करती है और इसमें उपचारात्‍मक गुण भी विद्यमान हैं।

हल्दी आसानी से उपलब्ध है और इसे भोजन में रंग और स्वाद जोड़ने के लिए मिलाया जाता है। यह रक्त प्रवाह में सुधार कर शरीर को हृदय रोगों से भी बचाती है।

gut health during summers
अपनी इम्‍यूनिटी को बूस्‍ट करने के लिए हल्दी से दोस्‍ती कर लें । चित्र : शटरस्टॉक

टेक्सास विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं द्वारा एक अध्ययन के अनुसार, curcumin जो हल्दी का एक नारंगी-पीला घटक है, हमारे शरीर में मौजूद कोशिकाओं के लिए एक शक्तिशाली immunomodulatory एजेंट की तरह काम करता है।

Curcumin गठिया, एलर्जी, अस्थमा, atherosclerosis, हृदय रोग, अल्जाइमर और मधुमेह के रोगियों के लिए भी फायदेमंद है। इतना ही नहीं, पीले रंग का यह मसाला इसके कैंसर विरोधी गुणों के लिए भी जाना जाता है।

2 लहसुन: रसोई में सबसे अधिक उपलब्ध जड़ी बूटियों में से एक है लहसुन। यह कई स्वास्थ्य संबंधी समस्‍याओं के इलाज के लिए जाना जाता है। इसमें रोगाणुरोधी, एंटीबायोटिक, और एंटी इंफ्लामेटरी गुण मौजूद हैं।

अपने दैनिक आहार में लहसुन की कलियों को शामिल करना आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने में मदद कर सकता है। लहसुन भी दिल का दौरा पड़ने के जोखिम को कम करता है और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार के लिए जाना जाता है।

black garlic benefits
लहसुन पेट और मेंटल हेल्‍थ दोनों के लिए ही अच्‍छा है। चित्र: शटरस्‍टॉक

बेहतर प्रतिरक्षा, हृदय स्‍वास्‍थ्‍य और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार के लिए लहसुन पर भरोसा करें। चित्र : शटरस्टॉकफ्लोरिडा विश्वविद्यालय द्वारा एक शोध में पता चला है कि लहसुन इम्‍यूनिटी सेल्‍स फंक्‍शन में सुधार कर सकता है। साथ ही जुकाम और फ्लू के खतरे को कम करने में भी मददगार साबित हो सकता है।

3 अदरक: एक और आम जड़ी बूटी जिसे आमतौर पर भोजन में स्वाद को बढ़ाने के लिए शामिल किया जाता है वह है अदरक। अदरक वाली चाय के स्‍वाद से भला कौन अनजान होगा। पर यह स्‍वाद के साथ सेहत के लिए भी बहुत लाभकारी है।

अदरक सूजन को कम करती है। इसमें एंटी बैक्‍टीरियल गुण हैं जो शरीर की इम्‍यूनिटी बढ़ाने का काम करते हैं। पेट की तकलीफ हो या मतली आ रही हो, तो भी अदरक का सेवन किया जा सकता है।

foods for period cramps
अदरक वाली चाय स्‍वाद ही नहीं, सेहत के लिए भी लाभकारी है। चित्र : शटरस्‍टॉक

4 अश्वगंधा: आयुर्वेद के अनुसार, अश्वगंधा जो एक छोटा पौधा है, सूजन को कम करने और इम्‍यूनिटी को बढ़ावा देने में मदद करता है।

पोलैंड में नेशनल कॉलेज ऑफ नेचुरल मेडिसिन के एक अध्ययन के अनुसार, अश्वगंधा का मानव शरीर में मौजूद चार प्रकार की प्रतिरक्षा कोशिकाओं पर इम्यूनोलॉजिक प्रभाव पड़ता है।

यह भी माना जाता है कि अश्वगंधा शरीर को तनाव को मैनेज करने में भी मददगार साबित होता है। यह तनाव देने वाले कोर्टिसोल हार्मोन के स्तर को कम करता है।

5 गिलोय: यह आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी रक्त को शुद्ध करने और रोग पैदा करने वाले बैक्टीरिया से लड़ने के लिए जानी जाती है। गिलोय के एंटीऑक्सीडेंट गुण इम्‍यूनिटी बढ़ाने के साथ ही पाचन में भी सुधार करते हैं।

तो अब यह जान लीजिए कि अगर आप हेल्‍दी लाइफ जीना चाहती हैं, तो इसके लिए इम्‍यूनिटी बढ़ाना बहुत जरूरी है। इम्‍यूनिटी बढ़ाने के लिए रसोई में मौजूद इन मसालों और हर्ब्‍स का इस्‍तेमाल करना आसान उपाय है।

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।