फॉलो

वेट लॉस के लिए आयुर्वेदिक हेल्थ कोच बता रहे हैं उन 5 फूड के बारे में जिन्‍हें खाना चाहिए सुबह खाली पेट

Updated on: 24 September 2020, 12:15pm IST
अगर आप भी वेट लॉस के लिए सही डाइट या फूड्स खोज रही हैं, तो आपकी खोज पूरी होती है- क्योंकि आयुर्वेदिक हेल्थ कोच डिम्पल जांगड़ा बता रहीं हैं वजन घटाने के आयुर्वेदिक उपाय।
Dimple Jangda
  • 76 Likes
नींबू : इस टेस्‍टी हेयर केयर हैक को जरूर ट्राय करें। चित्र: शटरस्टॉक

स्वास्थ्य ही परम धन है, रोकथाम इलाज से बेहतर है। आयुर्वेद में, रोग की रोकथाम का पहला नियम है शरीर का मोटा ना होना और आंत, लिवर और पेट से विषाक्त पदार्थों को निकालना है। वजन बढ़ना, कब्ज, और पानी का रिटेंशन आमतौर पर विषाक्त पदार्थों के संचय को बढ़ावा देता है।

आप सही डाइट लेकर और कुछ वजन घटाकर इन सब रोगों से लड़ सकते हैं। हम बताते हैं कुछ आयुर्वेदिक सुपरफूड्स जिन्हें वजन कम करने के लिए आप खाली पेट खा सकती हैं। ये फूड्स अच्छे स्वास्थ्य को पाने में मदद करते हैं।

1. नींबू के साथ गर्म पानी और घी

खाली पेट सेवन किया जाने वाला पहला नुस्खा है 200 मिली लीटर गर्म पानी या इसमें नींबू निचोड़कर पीना। यह पेरिस्टिलिस यानी भोजन को पेट से नीचे की ओर करने में मददगार है। यदि आप एक दुबले शरीर (एक्टोमॉर्फ) या मध्यम शरीर (मेसोमोर्फ) हैं, तो आप पाचन तंत्र को दुरुस्त करने और कब्ज को खत्म करने के लिए 1 चम्मच घी के साथ गर्म पानी भी ले सकते हैं।

2. पाचक चाय

सुबह सेवन करने के लिए एक हर्बल मसालेदार चाय का गर्म काढ़ा बनाएं। आप 500 मिलीलीटर पानी में 1 चम्मच जीरा, 1 चम्मच सौंफ के बीज, 1 चम्मच धनिया के बीज, 1 इलायची और एक चुटकी अजवाइन उबाल लें। तब तक उबालें, जब तक कि यह आधा न हो जाए। ब्लोटिंग और अपच को कम करने के लिए इसे खाली पेट पिएं।

खाली पेट इस चाय का सेवन आपके पाचन तंत्र को दुरुस्‍त करता है। चित्र: शटरस्टॉक
खाली पेट इस चाय का सेवन आपके पाचन तंत्र को दुरुस्‍त करता है। चित्र: शटरस्टॉक

3. मेटाबॉलिज्म चाय

दालचीनी, इलायची, लौंग, कसा हुआ अदरक, काली मिर्च, स्टार ऐनीज़, और हल्दी को पानी में उबालकर अपने मेटाबॉलिज्म को एक इंस्‍टेंट पिक-अप दें। जरा सा नींबू निचोड़ें और स्वाद के लिए नारियल की चीनी डालें। यह चाय असरकारी रूप से शरीर के मेटाबॉलिज्म में सुधार करती है, जिससे वजन भी कम होता है।

4. सेलेरी का रस

आयुर्वेद में, आंत पर बैक्टीरिया के द्वारा हानि से बचने के लिए हम फलों को कच्चा खाने और सब्जियां पकी या उबली हुई खाने की सलाह देते हैं। फलों, सब्जियों, दूध, दही, और अन्य ऐसे कॉम्बिनेशन को मिश्रित करने वाली स्मूदी पीने से पूरी तरह से बचें, जो शरीर में अमा या विषाक्त पदार्थों के संचय का कारण बनती है।

स्‍मूदी से बेहतर है सेलेरी का जूस पीना। चित्र: शटरस्‍टॉक
स्‍मूदी से बेहतर है सेलेरी का जूस पीना। चित्र: शटरस्‍टॉक

इसके बजाय, आप शरीर में इन्फामेशन को कम करने के लिए सेलेरी का रस थोड़ा गुलाबी या काला नमक और नारियल के तेल के साथ ले सकती हैं। इस जूस को पीने से आप आसानी से कुछ किलो वजन कम कर सकती हैं।

5. कच्चे फल

सुबह हर्बल चाय पीने के बाद, एक कटोरा कच्चे फल लें। हरे सेब, लाल सेब, क्रैनबेरी, ब्लूबेरी, चेरी, स्ट्रॉबेरी, अनानास, ब्लैकबेरी, आंवला, केला और अनार की तरह नेचर में एस्ट्रिजेंट होते हैं। ये फल शरीर में पानी के रिटेंशन को कम करते हैं और आपकी त्वचा में कोलेजन को बढ़ाते हैं। यह वजन घटाने में सहायक है। कद्दू, खरबूजे, कैंटोलूप जैसे मीठे रसदार फलों से बचें।

सुबह फलों का सेवन आपकी सेहत के लिए फायदेमंद है। चित्र: शटरस्‍टॉक
सुबह फलों का सेवन आपकी सेहत के लिए फायदेमंद है। चित्र: शटरस्‍टॉक

फलों को खाने के एक घंटे के बाद नाश्ता करें। इससे आपके मेटाबॉलिज्म में सुधार होता है और भूख भी कम लगती है।

वजन घटाने के इन बुनियादी नियमों को भी याद रखें:

1. जब आपको भूख लगे तब ही खाएं।
2. सूरज की सिर्कैडियन रिदम का पालन करें और सूर्यास्त के बाद कुछ न खाएं।
3. 16 घंटे तक इंटरमिटेंट फास्टिगं करें, इसे सूर्यास्त के बाद शुरू करें और सूर्योदय के 2 घंटे बाद ही अपना फास्ट तोड़ें।
4. कोई भी पके हुए खाद्य पदार्थ से पहले फल खाएं।
5. याद रखें आपका पेट आपकी मुट्ठी के आकार का है। अपने भोजन को छोटे हिस्सों में बांट दें, और अपनी भूख का केवल 80% खाएं। ताकि आपके भोजन को पचाने के लिए आपके पेट में पाचन रस के लिए जगह हो।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Dimple Jangda Dimple Jangda

Dimple Jangda is an Ayurvedic Health Coach and founder of Prana Healthcare Centre. In the past, Dimple has coached celebrities like Dev Patel, Juhi Chawla, Anjali Tendulkar, and Sushant Singh Rajput.