फॉलो

वेट लॉस से लेकर बेहतर ऑर्गेज़्म तक, जानिए क्यों है अश्वगंधा हर स्त्री का बेस्ट फ्रेंड

Updated on: 2 July 2020, 11:53am IST
अश्वगंधा सिर्फ इम्‍यूनिटी ही नहीं बढ़ाती, बल्कि यह आपका वजन घटाने से लेकर सेक्‍स डिजायर बढ़ाने तक में काम आती है। अश्वगंधा की इन खूबियों को जानने के बाद आप भी इसका इस्‍तेमाल जरूर शुरू कर देंगी।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 79 Likes
अश्‍वगंधा महिलाओं के लिए काफी फायदेमंद है। चित्र: शटरस्‍टॉक

अश्वगंधा जिसे इंडियन जिन्सेंग (Indian ginseng) भी कहा जाता है, इसके औषधीय गुणों के बारे में तो हम सब जानते ही हैं, आयुर्वेद में बरसों से इसका उपयोग होता आया है। मेडिकल साइंस में भी अश्वगंधा (ashwagandha) का बड़ा महत्व है। मगर क्या आप जानते हैं कि एक नए शोध में पाया गया है कि अश्वगंधा हर आयु की महिला के लिए अमृत समान है। इसके रोजाना सेवन से शारीरिक से लेकर मानसिक स्वास्‍‍‍‍थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

क्या हैं वह सकारात्मक परिणाम आइये जानते हैं-

1. वज़न घटाने में है कारगर

वज़न घटाने में अश्वगंधा बहुत उपयोगी साबित हुआ है। खासतौर पर जब तनावग्रस्त जीवनशैली के कारण आपका वज़न बढ़ रहा हो। जर्नल ऑफ एविडेंस बेस्ड इंटीग्रेटिव मेडिसिन में प्रकाशित एक शोध में पाया गया है कि अश्वगंधा तनाव से बढ़ने वाले वज़न को नियंत्रित करता है। यह तनाव को काबू करके मानसिक स्वास्थ्य को दुरुस्त रखता है, सीरम कॉर्टिसोल लेवल को नियंत्रित करता है और भूख और क्रेविंग को भी कम करता है। जिसके कारण वज़न पर फर्क साफ नज़र आता है।

2.बालों की समस्याओं का रामबाण इलाज

अश्वगंधा बालों की सभी समस्याओं को दूर करता है। बालों के झड़ने का मुख्य कारण स्ट्रेस होता है, जिसे नियंत्रित कर अश्वगंधा बालों का झड़ना रोकता है। इसके नियमित सेवन से बाल स्वस्थ रहते हैं।

अश्‍वगंधा बालों की कई समस्‍याओं से निजात दिलाने में भी लाभदायक हैं। Gif : Giphy

यही नहीं, अश्वगंधा का तेल और शैम्पू बालों में ख़ुश्की और डैंड्रफ से भी छुटकारा दिलाता है। साथ ही अश्वगंधा बालों के कम उम्र में सफ़ेद होने को भी रोकता है। यानी काले, घने और डैंड्रफ फ्री बालों के लिए अश्वगंधा को अपने डेली रूटीन में शामिल करना चाहिए।

3. सेक्स लाइफ करता है इम्प्रूव

अश्वगंधा महिलाओं में सेक्स स्टिमुलेशन को बढ़ाने का काम भी करता है। यह औषधि शरीर मे रक्त चाप को बढ़ाकर आपकी सेक्सुअल पोटेंसी को बढ़ाती है। नेचुरल मेडिसिन जर्नल में प्रकाशित एक लेख के अनुसार अश्वगंधा महिलाओं में ऑर्गेज़्म को भी बढ़ाता है।

4. अश्वगंधा की जड़ों में है एन्टी बैक्टीरियल खूबियां

अपनी एन्टी माइक्रोबियल खूबियों के कारण अश्वगंधा का प्रयोग योनि इन्फेक्शन के इलाज के रूप में किया जाता है। आयुर्वेद में इसका उपयोग यीस्ट संक्रमण का इलाज करने के लिए होता है।

5. मधुमेह को करता है नियंत्रित

मधुमेह या डायबिटीज आज के समय में एक बड़ी समस्या है। महिलाओं में हॉर्मोनल असंतुलन के कारण मधुमेह ग्रस्त होने के ज्यादा चांस होते हैं। साथ ही प्रेग्नेंसी, PCOD के कारण भी मधुमेह महिलाओं में ज्यादा देखा जाता है। अश्वगंधा शरीर के शुगर लेवल को नियंत्रित कर डायबिटीज को काबू करता है।

अश्‍वबंधा डायबिटीज को कंट्रोल करने में भी मददगार है। चित्र : शटरस्टॉक

रोज़ाना इसका सेवन करने से डायबिटीज़ को नियंत्रित किया जा सकता है।

6.मेनोपॉज के समय होता है सहायक

जिन महिलाओं में मेनोपॉज के वक़्त मूड स्विंग जैसी समस्याएं आती हैं उन्हें अश्वगंधा का सेवन करना चाहिए। यह हॉर्मोन्स को संतुलित करता है और मूड स्विंग्स को भी काबू करता है।

क्या हो सकते हैं अश्वगंधा के साइड इफेक्ट्स?

अश्वगंधा के औषधीय गुणों के साथ ही कुछ साइड इफेक्ट्स भी होते हैं। हालांकि आयुर्वेदिक चिकित्सा में अश्वगंधा अधिकाधिक प्रयोग होता है। मगर प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को इससे परहेज़ करना चाहिए। प्रेग्नेंसी ही नहीं, हाल ही में मां बनी स्त्रियों को भी अश्वगंधा नहीं दिया जाता है।

ऐसे में अश्वगंधा का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें। यदि आपकी हाल ही में सर्जरी हुई हो, सांस की बीमारी हो या कोई नियमित दवा चल रही हो तो बिना डॉक्टर से पूछे अश्वगंधा सेवन से बचें।

हर व्यक्ति के शरीर की अलग-अलग ज़रूरत होती है। ऐसे में कोई भी औषधि बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं ली जानी चाहिए।

यह भी पढ़ें – आपके घर में ही मौजूद हैं इम्यूनिटी बढ़ाने वाली कुछ आयुर्वेदिक औषधियां

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

संबंधि‍त सामग्री