मूंग दाल दही इडली है हेल्दी और गिल्ट फ्री स्नैक्स, जानिए इसके फायदे और रेसिपी

मूंग दाल दही इडली एक पौष्टिक आहार है। इसके सेवन से पाचनतंत्र मज़बूत बनता है और बार बार भूख लगने की समस्या भी हल हो जाती है। जानते हैं मूंग दाल दही इडली की रेसिपी और इसमें इस्तेमाल किए जाने वाले इंग्रीडिएंटस के फायदे
Moong dal idli ki recipe
प्रोटीन और फाइबर से भरपूर मूंग दाल का सेवन करने से हंगर हार्मोन को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। चित्र अडोबीस्टॉक
ज्योति सोही Published: 21 Jun 2024, 05:00 pm IST
  • 140
Preparation Time
Preparation Time 20 mins
Cook Time
Cook Time 30 mins
Total Time
Total Time 50 mins
Serves
Serves 5

जब बात खाने की आती है, तो स्वाद के साथ सेहत का ख्याल रखना भी ज़रूरी है। लोगों में दिनों दिन बढ़ रही जागरूकता के चलते वे टेस्टी के साथ हेल्दी फूड्स के विकल्प खोजते है। ऐसे में सुबह और शाम के नाश्ते के लिए अगर आप किसी खास रेसिपी की खोज कर रहे हैं, तो मूंग दाल दही इडली एक पौष्टिक आहार है। इसके सेवन से पाचनतंत्र मज़बूत बनता है और बार बार भूख लगने की समस्या भी हल हो जाती है। जानते हैं मूंग दाल दही इडली की रेसिपी और इसमें इस्तेमाल किए जाने वाले इंग्रीडिएंटस के फायदे भी।

क्यों हेल्दी और गिल्ट फ्री स्नैक्स है मूंग दाल दही इडली (Health benefits of moong dal dahi idli)

1 मूंग दाल है वेटलॉस में कारगर

प्रोटीन और फाइबर से भरपूर मूंग दाल का सेवन करने से हंगर हार्मोन को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। एनआईएच की रिपोर्ट के अनुसार दिनभर में 1 कप मूंग दाल का सेवन करने से शरीर में 80 प्रतिशत फोलेट की कमी को पूरा किया जा सकता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंटस की मात्रा गट हेल्थ को मज़बूती प्रदान करती है।

Moong dal ke fayde
प्रोटीन और फाइबर से भरपूर मूंग दाल का सेवन करने से हंगर हार्मोन को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। चित्र अडोबीस्टॉक

2 हड्डियों के लिए फायदेमंद

इमली का सेवन करने से शरीर को फाइटोकेमिकल्स कंपाउड की प्राप्ति होती है। इससे शरीर इन्फ्लामेशन से मुक्त रहता है और जोड़ों में बढ़ने वाले दर्द से बचा जा सकता है। इसके अलावा मैग्नीशियम की मात्रा शरीर में ऑस्टियोपोरोसिस के खतरे को भी कम करती है। बोन हेल्थ के लिए कारगर इमली को रस, चटनी और पाउडर के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

3 सांसों की दुर्गंध को करे दूर

एंटीबैक्टीरियल और एंटीइन्फ्लामेटरी गुणों से भरपूर अदरक का रस पेट दर्द, कब्ज और उल्टी की समस्या को दूर करने में मदद करता है। इसके अलावा अदरक का सेवन करने से ओरल हेल्थ को मज़ूबती मिलती है। अदरक में पाई जाने वाली विटामिन्स की मात्रा सांसों की दुर्गध दूर करने में फायदेमंद है।

4 धनिया पत्ती से करें इम्यून सिस्टम बूस्ट

आमतौर पर चटनी बनाने और सजावट के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले धनिए में एंटीऑक्सीडेंटस की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। विटामिन ए, बी और सी से भरपूर धनिए में पाए जाने वाले एक्टिव एंजाइम शरीर में शुगर के स्तर को नियंत्रित करते हैं। धनिया पत्ती में पाई जाने वाली टोकोफेरोल और टेरपीनिन एंटीऑक्सीडेंटस की मात्रा शरीर को संक्रमण के प्रभाव से मुक्त रखती है। इससे इम्यून सिस्टम को मज़बूती मिलती है।

Moong dal recipe kaise banayein
जानते हैं मूंग दाल दही इडली की रेसिपी । चित्र अडोबीस्टॉक

मूंग दाल दही इडली बनाने का तरीका (Moong dal dahi idli recipe)

इसे बनाने के लिए हमें चाहिए

मूंग दाल 1 कटोरी
इमली 250 ग्राम
काला मिर्च 1/2 चम्मच
ब्राउन शुगर 1 चम्मच
काली नमक 1/2 चम्मच
जीरा पाउडर 1 चम्मच
सूजी 1 कटोरी
दही 1 कटोरी
अदरक 2 इंच
धनिया पत्ती 1/2 कटोरी
पुदीना पत्ती 1 कटोरी
हरी मिर्च 2
नमक स्वादानुसार

जानें मूंग दाल दही इडली बनाने की विधि (Steps to make moong dal dahi idli)

  1. इडली बनाने के लिए सबसे पहले एक बाउल में 3 कप पानी डालें और उसमें मूंग दाल को धोकर भिगो दें।
  2. दूसरी ओर 250 ग्राम इमली को पानी में भिगोकर रख दें और 30 मिनट के बाद उसका पल्प अलग करके पानी निकालें लें
  3. अब इमली के पानी को पैन में डालें और गर्म करें। उसके बाद उसमें स्वादानुसार नमक, काली मिर्च और ब्राउन शुगर को मिलाएं।
  4. चटनी बनाने के लिए घोल को हिलाने के बाद जब वो अच्छी तरह से गाढ़ा हो जाएं, तो गैस बंद करके ठंडा होने के लिए रखें।
  5. तब तक ब्लैण्डर में धनिया पत्ती, हरी मिर्च, पुदीना पत्ती, प्याज, अदरक, नींबू का रस, नमक और पानी मिलाकर ब्लैण्ड करें।
  6. दूसरी ओर सोक की हुई दाल को अन्य बाउल में निकालकर उसमें 1 इंच अदरक का टुकड़ा काटकर डालें और साथ में नमक मिलाएं।
  7. दाल के साथ 1 कप सूजी, 1 कप दही और पानी मिलाकर इसे ब्लैण्ड कर दें। मिश्रण तैयार होने के बाद उसमें 1/2 चम्मच बेकिंग सोडा मिलाएं।
  8. मिश्रण ढ़ककर रख दें। अब मिश्रण को सूजी के मोल्ड में फिल करके स्टीम करें। 10 मिनट स्टीम करने के बाद पकी हुई सूजी को ठंडा होने दें और उसके बाद उसे पानी के बाउल में डाल दे।
  9. पकी हुई इडली को 5 मिनट तक पानी में सोक करने के बाद निकालें और उसपर दही और तैयार धनिया पुदीना चटनी और मीठी चटनी को डालें।
  10. इसके बाद स्वादानुसार जीरा पाउडर, काला नमक और गार्निश करने के लिए अनार के दाने डालकर सर्व करें।

ये भी पढ़ें- करेले का कड़वापन भुला देंगी मुंह में पानी लाने वाली ये 5 करेला रेसिपीज, सेहत के लिए भी हैं फायदेमंद

  • 140
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख