वैलनेस
स्टोर

स्‍वस्‍थ आहार है खुद से प्‍यार जताने का सर्वश्रेष्‍ठ तरीका, इसके लिए फॉलो करें ये 5 डाइट टिप्‍स

Published on:14 February 2021, 11:03am IST
खुद से प्यार करने और अपनी देखभाल करने का मतलब यह नहीं है कि सिर्फ अपनी त्वचा को लाड़ प्यार करना। इसका मतलब यह भी है कि आपको अपने शरीर को उचित पोषण देना होगा। यहां हम बता रहे हैं कि आप ऐसा कैसे कर सकती हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 82 Likes
इन टिप्स को फॉलो करें, और अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखें। चित्र-शटरस्टॉक।

यदि वैलेन्टाइन डे उस व्यक्ति के लिए हमारे प्यार को व्यक्त करने के बारे में है, जिसकी हम परवाह करते हैं, तो इसकी शुरुआत करने का सबसे अच्छा तरीका है कि हम खुद से प्यार करें। हम अक्सर अपने शारीरिक स्वास्थ्य पर ध्यान नहीं देते। जिससे हमारे शरीर को पर्याप्त पोषण नहीं मिल पाता। तो, इस वेलेंटाइन डे, क्यों न अपने आहार में थोड़ा परिवर्तन करके, खुद से प्यार करने का अभ्यास शुरु करने का संकल्प लिया जाए।

एक प्रभावी तरीका यह है कि हम भारतीय खाद्य ज्ञान के धन को टैप करें, जिसका हम एक राष्ट्र के रूप में आनंद लेते हैं। पोषण प्रदान करने का भारतीय तरीका आपको समग्र आहार बनाए रखने और आपके शरीर को अंदर से पोषण देने में मदद कर सकता है।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

इन पांच छोटे आहार परिवर्तनों के साथ शुरू करें, जो कि एक बेहतरीन सेल्फ-गिफ्ट हो सकता है, जिसके परिणामस्वरूप बड़े परिणाम देखने को मिल सकते हैं, साथ ही इससे आपको फिर से अपने आप से प्यार करने में मदद मिलेगी।

  1. फ्लेवर्ड-बैलेंस्ड डाइट लें

जब तक हम स्वादों के एक सभ्य संतुलन का उपभोग नहीं करते हैं, तब तक हमारे मस्तिष्क को यह महसूस नहीं होता कि हमें पर्याप्त पोषण मिला है, और इसलिए हम संतुष्ट नहीं होते हैं। आयुर्वेद का मानना ​​है कि सभी स्वादों को संतुलित करना संतुष्टि और अच्छे स्वास्थ्य की कुंजी है।

आहार आपके समग्र स्‍वास्‍थ्‍य को प्रभावित करता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
आहार आपके समग्र स्‍वास्‍थ्‍य को प्रभावित करता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

हमारे खाना पकाने में विभिन्न मसालों जैसे हल्दी, दालचीनी, सौंफ, धनिया पाउडर और गरम मसाला (जो कि कई मसालों का मिश्रण है) का उपयोग करना एक अच्छा तरीका है। ये मसाले आपकी ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करने में मदद कर सकती हैं जो थोड़े कसैले (astringent ) और कड़वे (bitter) होते हैं। सुनिश्चित करें कि आप अपने मसालों के सही स्रोत का उपयोग करें और एक विश्वसनीय ब्रांड के मसालों का चयन करें। जिनमें मसालों के प्राकृतिक तेल बरकरार हैं, क्योंकि उसी में सारी गुडनेस निहित है।

यह भी पढ़ें: दिन की हेल्‍दी शरुआत के लिए बेहतरीन नाश्ता है केले और गुड़ से बना ये पैनकेक, जानिए इसकी आसान रेसिपी

  1. अनपॉलिश्ड दाल पर स्विच करें

भारत विभिन्न प्रकार की दालों के मामले में भाग्यशाली है। वास्तव में, दालें पोषण का मुख्य आधार रही हैं, विशेष रूप प्रोटीन। दाल स्वास्थ्य के लिए हमेशा बेहतर होती है, और कई प्रकार की दालें मौजूद हैं, तो तरह-तरह की दालों का आनंद लें। साथ ही कुछ ऐसी दालें भी आज़माएं जिन्हें आपने अभी तक नहीं खाया है। लेकिन ध्यान रखें कि अनपॉलिश्ड दाल का विकल्प चुनें, क्योंकि उनमें बेहतर स्वास्थ्य के लिए लगभग सभी जरूरी पोषक तत्व बरकरार रहते हैं।

  1. अपनी इम्युनिटी को बूस्ट करें 

अच्छी प्रतिरक्षा यूं हीं नहीं बन जाती है। इसे बनाने में समय और धैर्य लगता है। और महामारी ने हमें सिखाया है कि इसे मजबूत रखना कितना महत्वपूर्ण है। इसलिए, उस पाठ को आगे बढ़ाते हुए, यह सुनिश्चित करें कि आप अपने दैनिक आहार में प्रतिरक्षा बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थों को सचेत रूप से शामिल करें ताकि इसे उच्च रखा जा सके।

हल्दी एक ऐसा मसाला है, जो इसमें मौजूद करक्यूमिन कंपाउंड के कारण सूजन को कम करने और इम्युनिटी बढ़ाने वाले लाभों को साबित करता है। सुनिश्चित करें कि आप हल्दी को किसी न किसी रूप में अपने दैनिक आहार में शामिल कर रही हैं।

  1. खुश रखने वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करें

महामारी ने हमें कई तरह से निराश किया है। इसने हमारे मानसिक स्वास्थ्य को बहुत प्रभावित किया है। लेकिन हमारे आसपास कई ऐसे हैप्पी फूड्स मौजूद हैं, जो हमारे शरीर में हैप्पी हार्मोन्स को बढ़ाने में मदद करते हैं।  हमें शांत रहने के लिए तनाव में कटौती करने में मदद करते हैं। ऐसा ही एक हैप्पी फूड चना भी है।

चना प्रोटीन का एक बेहतरीन स्रोत है। चित्र-शटरस्टॉक।

न केवल यह विटामिन-सी, ई और बीटा-कैरोटीन जैसे एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होता है, साथ ही मैंगनीज जैसे जरूरी मिनरल भी होते हैं। जो कि हृदय स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। इसके अलावा, छोले हैप्पी विटामिन, जैसे- बी विटामिन में भी समृद्ध होता है।

विटामिन बी1 या थायमिन मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र के स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है। जबकि फोलेट (बी 9) और बी 6, पाइरिडोक्सिन शरीर को हैप्पी हार्मोन सेरोटोनिन और नॉरपेनेफ्रिन बनाने में मदद करके हमारे मूड को विनियमित करने में मदद करते हैं।

हमें यकीन है कि आप अब इन्हें अधिक खाना चाहती हैं, इसलिए उन्हें आप अपने सलाद और सूप में भी जोड़ सकती हैं।

  1. अपने पेट की देखभाल करें

आप अपने आहार में अधिक मूंग दाल को शामिल करके ऐसा कर सकती हैं। हमेशा एक विश्वसनीय स्रोत से अनपॉलिश्ड दाल का विकल्प चुनें। यह घुलनशील, फर्मेंटेड फाइबर (fermentable fibre) प्रदान करता है। जो आंत में अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ावा देने में मदद करता है। आंत को मजबूत करने के लिए एक सचेत प्रयास करें क्योंकि एक मजबूत आंत संपूर्ण स्वास्थ्य को सुनिश्चित करती है।

बस यह सुनिश्चित करें कि आप इसे सही स्रोत से प्राप्त कर रहे हैं, जैसे कि मूंग दाल अनपॉलिश है। आहार में इसे प्राप्त करने का एक और तरीका है, किसी विश्वसनीय स्रोत से खरीदी गई मल्टीग्रेन खिचड़ी खाना।

इन छोटे और प्रभावी परिवर्तनों के साथ, आप वेलेंटाइन डे मनाने के लिए बिल्कुल तैयार हैं!

यह भी पढ़ें: इस बदलते मौसम में होने वाली कई बीमारियों से बचाव का उपाय है अनार, हम बता रहे हैं इसके 5 कारण

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।