वेट लॉस फ्रेंडली इस स्ट्रॉबेरी हलवे के साथ पूरी करें अपने मीठे की क्रेविंग, नोट कीजिए आसान रेसिपी

Published on: 17 February 2022, 16:06 pm IST

आपने सूजी और बेसन का हलवा तो कई बार खाया होगा। मगर क्या आपने कभी स्ट्रॉबेरी का हलवा खाया है? ये हलवा वेट लॉस फ्रेंडली है और स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है।

aapke liye faydemand hai strawberry halwa
टेस्टी और हेल्दी स्ट्रॉबेरी हलवा रेसिपी. चित्र : शटरस्टॉक

क्या आपको भी कुछ मीठा खाने की क्रेविंग हो रही है? यदि आप सूजी और बेसन का हलवा खा – खा कर बोर हो गई हैं, तो हम आपके लिए लाए हैं स्ट्रॉबेरी का हलवा। ये आपके सामान्य हलवे से बहुत अलग और टेस्टी है।

स्ट्रॉबेरी का हलवा आपकी सभी फ़िटनेस की जरूरतों को पूरा करता है। ये लो कैलोरी है, वेट लॉस फ्रेंडली है और इसमें स्ट्रॉबेरी की मिठास है। तो देर किस बात की? चलिये जानते हैं स्ट्रॉबेरी हलवा की रेसिपी।

स्ट्रॉबेरी हलवा बनाने के लिए आपको चाहिए

रवा 1/2 कप
दूध 1 1/2 कप
स्ट्रॉबेरी 10 – 15 या 1 पैक
इलायची पाउडर 1/4 छोटा चम्मच
घी 4 बड़े चम्मच
काजू 10
स्टीविया ज़रूरत के अनुसार

स्ट्रॉबेरी हलवा बनाने की विधि

आधी स्ट्रॉबेरी को पीसकर मुलायम पेस्ट बना लें और बाकी को काट लें।
2 टेबल स्पून घी गरम करके काजू डाल कर अच्छे से भून लीजिये।
अब इसमें रवा डालें और अच्छी तरह भूनें।
इस बीच दूध उबालें और रवा के मिश्रण में डालें।
रवा के अच्छे से पक जाने पर चीनी और स्ट्रॉबेरी का मिश्रण डालें, और अच्छी तरह मिलाएं।
अब कटी हुई स्ट्रॉबेरी, इलायची पाउडर डालें, स्वाद बढ़ाने के लिए बचा हुआ घी डालें और अच्छी तरह मिलाएं।
5 मिनट के लिए धीमी आंच पर रखें और बंद कर दें।
अब स्ट्रॉबेरी हलवा सर्व करने के लिए तैयार है।

जानिए आपके स्वास्थ्य के लिए कैसे फायदेमंद है स्ट्रॉबेरी हलवा

इम्युनिटी बढ़ाए

यह स्वाद में जितनी मीठी होती हैं इम्युनिटी बढ़ाने में उतनी ही तेज़ होती हैं। एक कटोरी स्ट्रॉबेरीज में 51 ग्राम विटामिन C होता है, जो एक अच्छा इम्युनिटी बूस्टर है। साथ ही एक शक्तिशाली, एंटीऑक्सीडेंट है।

हार्ट हेल्थ के लिए फायदेमंद

स्ट्रॉबेरी रंगीन पिगमेंट से भरपूर होती है जिसका सुरक्षात्मक प्रभाव होता है – इन एंथोसायनिडिन के बारे में माना जाता है कि इसमें कई संभावित स्वास्थ्य लाभ होते हैं, जिसमें सूजन को रोकना और हृदय रोग से बचाव शामिल है।

रक्त शर्करा को नियंत्रित करे

स्ट्रॉबेरी का सेवन ग्लूकोज के पाचन को धीमा कर देता है और इंसुलिन के उपयोग को नियंत्रित करता है, खासकर जब वे उच्च कार्ब वाले भोजन के साथ खाए जाता है। यह रंगीन एंथोसायनिन है जो इस प्रभाव को क्रियान्वित करता है।

यह भी पढ़ें : इम्युनिटी बढ़ाने से लेकर त्वचा की रंगत सुधारने तक आपके लिए फायदेमंद है बेर

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें