रागी की गुडनेस को एड करके ट्राई करें रागी ओट्स ढोकला की ये रेसिपी, जानें इसके फायदे

आमतौर पर ढोकले के लिए बेसन का प्रयोग किया जाता है। मगर रेसिपी में ट्विस्ट लाकर बेसन की जगह रागी और ओट्स की गुडनेस को एड करके ढोकले को हेल्दी बनाया जा सकता है। जानते हैं रागी ओट्स ढोकले की रेसिपी
Jaanein ragi dhokla ke fayde
रागी को न्यूट्रीशन का पावरहाउस कहा जाता है। इसमें फाइबर, विटामिन और आयरन की उच्च मात्रा पाई जाती है। चित्र- अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Updated: 15 May 2024, 10:40 am IST
  • 140
Preparation Time
Preparation Time 25 mins
Cook Time
Cook Time 25 mins
Total Time
Total Time 50 mins
Serves
Serves 4
मेडिकली रिव्यूड

गर्मी के मौसम में ज्याद तला भुना खाना स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है। ऐसे में सुबह और शाम के नाश्ते के लिए हेल्दी विकल्प की तलाश की जाती है। हांलाकि डाइट में पोषण एड करने के लिए कई चीजों को सम्मिलित किया जाता है और रेसिपीज़ में बदलाव भी किए जाते हैं। ऐसी ही एक रेसिपी है ढोकला। आमतौर पर ढोकले के लिए बेसन का प्रयोग किया जाता है। मगर रेसिपीज़ में ट्विस्ट लाकर बेसन की जगह रागी और ओट्स की गुडनेस को एड करके ढोकले को टेस्टी और हेल्दी बनाया जा सकता है। जानते हैं रागी ओट्स ढोकले की रेसिपी स्टेप बाई स्टेप।

जानते हैं रागी ओट्स ढोकला में इस्तेमाल होने वाले इंग्रीडिएंटस के फायदे

1. रागी का आटा

रागी को न्यूट्रीशन का पावरहाउस कहा जाता है। इसमें फाइबर, विटामिन और आयरन की उच्च मात्रा पाई जाती है। इसके नियमित सेवन से शरीर का इम्यून सिस्टम मज़बूत बनता है। रागी को नाचनी भी कहा जाता है। इसमें पाए जाने वाले पॉलीफेनोल्स शरीर में डायबिटीज़ के स्तर को नियंत्रित करते हैं। इसके अलावा रागी के आटे में फाइटिक एसिड पाए जाते हैं, जिससे हड्डियों को भी मज़बूती मिलती है।

Ragi ke aate ke fayde
रागी के आटे में फाइटिक एसिड पाए जाते हैं, जिससे हड्डियों को भी मज़बूती मिलती है। चित्र : शटरस्टॉक।

2. ओट्स का पाउडर

ओट्स में फाइबर, प्रोटीन, जिंक और अमीनो एसिड उच्च मात्रा में पाए जाते हैं। इससे खान से पाचनसंबधी समस्याओं से मुक्ति मिल जाती है। इसमें मौजूद माइक्रो न्यूट्रीएंट की मात्रा डायबिटीज़ को नियंत्रित करने में मदद करती है। न्यूट्रीशन के भरपूर ओट्स में बीटा ग्लूकन पाया जाता है। बीटा ग्लूकन एक साल्यूएबल फाइबर है, जिसके सेवन से बार बार भूख लगने की समस्या हल हो जाती है।

3. उड़द दाल का आटा

उड़द दाल का आटा शरीर में आयरन की कमी को पूरा करता है। इससे शरीर दिनभर एक्टिव और एनर्जी से भरपूर रहता है। इसमें फ्लेवोनोइड्स, सिनेमिक एसिड और फेनोलिक एसिड जैसे कई एंटीऑक्सीडेंटस पाए जाते हैं। इससे डाइजेशन मज़बूत बनता है और शरीर कब्ज, ब्लोंटिग और अपच की समस्या से बचा रहता है। उड़द दाल के आटे को खान से शरीर में फॉलिक एसिड की कमी दूर होती है। इससे जोड़ों में होने वाले दर्द से मुक्ति मिल जाती है।

4. दही बनाए इम्यून सिस्टम को मज़बूत

प्रोबायोटिक्स से भरपूर दही का सेवन करने से शरीर में गुड बैक्टीरिया की मात्रा बढ़ने लगता है। इससे आंतों के स्वास्थ्य को मज़बूती मिलती है। इसमें मौजूद प्रोटीन की मात्रा हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। इसके नियमित सेवन से शरीर में कैल्शियम की कमी पूरी होती है।

poshak ttvon se bharpur dhokla
रागी ओट्स ढ़ोकले की रेसिपी स्टेप बाई स्टेप।
चित्र : अडोबी स्टॉक

रागी ओट्स ढोकला

इसे बनाने के लिए हमें चाहिए

रागी का आटा 1 कप
ओट्स का पाउडर 1/2 कप
उड़द दाल का आटा 1/2 कप
दही 1 कप
पानी 1 कप
राई 1/2 चम्मच
कढ़ी पत्ता 8 से 10
सोंठ 1/2 चम्मच
बेकिंग सोडा 1/2 चम्मच
हरी मिर्च 5 से 6

जानें रागी ओट्स ढोकला बनाने की विधि

  • सबसे पहले बाउल में रागी का आटा, ओट्स पाउडर और उड़द दाल का आटा डालकर मिक्स कर लें।
  • अब उसमें दही मिलाएं और कुछ देर तक हिलाएं। एक गाढ़ा पेस्ट तैयार होने के बाद उसमें आवश्यकतानुसार पानी डालें।
  • बैटर तैयार होने के बाद उसे 6 से 8 घंटे के लिए ढ़ककर रख दें। अगले दिन सुबह उसमें नमक, हल्दी और लाल मिर्च मिलाएं।
  • बैटर को स्मूद और फ्ल्फी बनाने के लिए आधा चम्मच बकिंग सोडा भी डालें। इसके अलावा 1/2 चम्मच सोंठ भी डालें।
  • इसके बाद बैटर में 1 चम्मच वेजिटेबल ऑयल डालकर मिक्स कर दें। अब एक बर्तन लेकर उसे ग्रीस करें।
  • बर्तन में बैटर को डालें और स्टीम होने के लिए रख दें। 10 से 15 मिनट तक स्टीम होने के बाद उसे चेक कर लें।
  • दूसरी ओर कढ़ाई में एक चम्मच तेल डालें और उसमें कढ़ी पत्ता, हींग, राई व हरी मिर्च का तड़का लगाएं।
  • तैयार ढोकला को टुकड़ों में काट लें और उस पर वो तड़का डाल दें। ढोकला को इमली या पुदीने की चटनी के साथ सर्व करें।

ये भी पढ़ें- टमाटर के सूप से हो गए है बोर तो ट्राई करें टमाटर के जैम की ये मजेदार रेसिपी

  • 140
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख