ब्रेकफास्ट में दलिया खाएं या क्विन्वा, जानें दोनों में से क्‍या है आपके लिए है ज्यादा फायदेमंद

Updated on: 10 December 2020, 12:14 pm IST

सुबह ब्रेकफास्ट में दलिया खाएं या क्विन्वा? अगर आपको भी यह सवाल परेशान कर रहा है, तो हम आपकी शंका को दूर करने में थोड़ी सी मदद कर देते हैं। ताकि इन अनाजों को खरीदने से पहले आप इनके बारे में जानती हों।

आज पता लगाते हैं कि नाश्‍ते में क्विन्‍वा और दलिया दोनों में से ज्‍यादा बेहतर क्‍या है।
आज पता लगाते हैं कि नाश्‍ते में क्विन्‍वा और दलिया दोनों में से ज्‍यादा बेहतर क्‍या है।

ब्रेकफास्ट दिन का सबसे महत्वपूर्ण भोजन होता है। चाहे आपको कितना भी जरूरी काम क्यों न हो आपको अपना ब्रेकफास्ट कभी भी स्किप नहीं करना चाहिए। यह सिर्फ हमें एनर्जी ही नहीं देता, बल्कि हमें अपने दिन को सही तरीके शुरू करने में भी मदद करता है। हालांकि आज ब्रेकफास्ट के लिए कई विकल्प मौजूद हैं।

लेकिन आपके लिए ब्रेकफास्ट में कौन सा विकल्प सबसे बेहतर है यह समझ पाना काफी मुश्किल होता है। हम आपको इसकी पूरी जानकारी देंगे। जानें आपके लिए ब्रेकफास्ट के दौरान किसका सेवन करना बेस्ट है।

जब हम ब्रेकफास्ट की बात करते हैं, तो इसके लिए सबसे ज्यादा दो फूड पसंद किए जाते हैं- क्विन्वा और दलिया। अपने बेहतरीन फायदों के लिए इन दोनों को बहुत ही स्वस्थ माना जाता है। जो कि ब्रेकफास्ट के लिए एक बेहतर विकल्प है?

इन दोनों में से कौन सा ज्यादा बेहतर है यह समझने के लिए हमने दिल्ली के फोर्टिस एस्कॉर्ट्स हार्ट इंस्टीट्यूट में इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजी के एडिशनल डायरेक्टर डॉ विवेक कुमार से बात की।

दोनों ही हैं सुपर फूड

डॉ विवेक कहते हैं क्विन्वा और दलिया दोनों ही सुपरफूड्स हैं। दोनों को ही ब्रेकफास्ट के लिए बेहतरीन माना जाता है। क्विन्वा एक फूल वाले पौधे ‘ चिनोपोडियम क्विन्वा’ का बीज है, जो कि अमरना परिवार से संबंधित है। जबकि दलिया मूल रूप से गेहूं से बनता है।

क्विनोआ सुपरफूड है। चित्र: शटरस्‍टॉक

क्विन्वा है पोषक तत्वों से भरपूर

डॉ कुमार कहते हैं क्विन्वा एक अनाज नहीं बल्कि एक ‘ छद्म अनाज ‘ (pseudo-grain) है, क्योंकि यह अनाज की तुलना में बीज ज्यादा है। यह उन प्लांट बेस्ड खाद्य पदार्थों में से एक है, जिसमें आवश्यक अमीनो एसिड होते हैं।

इसके अलावा, यह प्रोटीन, फाइबर, खनिज, विटामिन, आयरन, कैल्शियम, जिंक, मैंगनीज, फोलिक एसिड और एंटीऑक्सीडेंट से भी भरपूर है। जो इसे शाकाहारी लोगों के लिए बहुत ही फायदेमंद ब्रेकफास्ट बनाते हैं।

पके हुए क्विन्वा में भी कार्बोहाइड्रेट और वसा कम मात्रा में होते हैं। साथ ही यह पूरी तरह से ग्लूटेन-फ्री होता है।

दलिया नहीं है ग्लूटेन-फ्री

दलिया फटा या टूटा हुआ गेहूं होता है। यह साबुत कच्चे गेहूं के दानों को बारीक पीसकर बनाया जाता है। जो इस भोजन को फाइबर से भरपूर बनाता है। दलिया में क्विन्वा की तरह ही मैग्नीशियम, आयरन, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, सोडियम, पोटेशियम, कैल्शियम, विटामिन जैसे पोषक तत्वों के साथ ही बहुत थोड़ी मात्रा में फैट होता है।

दलिया हेल्‍दी विकल्‍प है पर यह ग्‍लूटेन फ्री नहीं है। चित्र: शटरस्‍टॉक
दलिया हेल्‍दी विकल्‍प है पर यह ग्‍लूटेन फ्री नहीं है। चित्र: शटरस्‍टॉक

दोनों में से आप किसे चुनें

क्विनोआ और दलिया दोनों स्वस्थ विकल्प हैं। इनमें लगभग समान पोषक तत्व हैं। लेकिन यह ग्लूटेन-फ्री है, इसलिए इसका उपयोग ग्लूटेन से एलर्जी वाले व्यक्तियों द्वारा किया जा सकता है। साथ ही इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम और सीलिएक रोग से पीड़ित व्यक्ति भी इसका सेवन कर सकते हैं।

इसलिए यदि आप एक ग्लूटेन-फ्री विकल्प ढूंढ रहे हैं, तो दलिया बिल्कुल भूल जाएं। और यदि ऐसा नहीं है तो दोनों को अपने ब्रेकफास्ट में शामिल कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें – सर्दियों के मौसम में क्‍यों जरूरी है आपकी रसोई में अजवाइन का होना, हम बता रहे हैं इसके 5 कारण

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें