कमल ककड़ी विद स्लाइस पोटैटो की इस रेसिपी के साथ सेलिब्रेट करें वीकेंड और सेहत को दें ढेर सारे फायदे 

कमल का फूल जितना सुंदर  होता है, उतनी ही स्वादिष्ट और पोषण से भरपूर इसकी जड़ होती है। कमल की जड़ जिसे आम भाषा में कमल ककड़ी कहा जाता है,  आपको स्वस्थ बनाए रखने में समर्थ है।

healthy chips recipe
कमल ककड़ी के साथ खुद को दें सेहतमंद ट्रीट, चित्र:शटरस्टॉक
शालिनी पाण्डेय Updated on: 3 September 2022, 18:00 pm IST
  • 111

कमल ककड़ी के फायदे आपको बीमारी के लक्षणों से राहत पाने में मदद कर सकते हैं, लेकिन किसी बीमारी का इलाज साबित नहीं हो सकते। इसलिए, गंभीर बीमारी की अवस्था में डॉक्टरी परामर्श जरूरी है। इस अवस्था में कमल ककड़ी इलाज व दवा के प्रभाव को जरूर बढ़ा सकते हैं। कमल का फूल दिखने में जितना सुंदर  होता है, उतनी ही स्वादिष्ट और पोषण से भरपूर इसकी जड़ होती है। कमल की जड़ जिसे आम भाषा में कमल ककड़ी कहा जाता है,  आपको स्वस्थ बनाए रखने में समर्थ है।

कमल ककड़ी के फायदों  के बारे में हमने बात की न्यूट्रीशनिस्ट अनिता जेना से। तो चलिए जानें इसके फायदे 

 कमल ककड़ी के फायदे – Benefits of Lotus Root (Kamal Kakdi)

  1. दस्त में आराम

अनिता बताती हैं कि दस्त की समस्या से आराम पाने में कमल ककड़ी का उपयोग घरेलू नुस्खे के तौर पर किया जा सकता है। शोध में पाया गया है कि कमल ककड़ी में एंटी डायरिया गुण होते हैं, जो डायरिया से आराम पाने में मदद कर सकते हैं। हां, अगर दस्त गंभीर अवस्था में हैं, तो जल्द से जल्द डॉक्टर से चेकअप करवाना चाहिए।

  1. इन्फ्लेमेशन को करे कम

कमल ककड़ी कई गुणों से भरपूर होती है और ऐसा ही एक गुण है एंटी इंफ्लेमेटरी होना। दरअसल, कमल ककड़ी के मेथेनॉल अर्क को एक प्रभावी एंटी इंफ्लेमेटरी एजेंट माना गया है। चूहों पर किए गए एक शोध में यह पता चला है कि कमल ककड़ी का उपयोग इन्फ्लेमेशन को कम करने में प्रभावशाली साबित हो सकता है। इसलिए, कहा जा सकता है कि कमल ककड़ी के फायदे इंफ्लेमेशन को कम करने में भी मिल सकते हैं।

  1. कैंसर में कमल ककड़ी के फायदे

कमल ककड़ी के फायदे कई बीमारियों से लड़ने में मिल सकते हैं। यहां तक कि कैंसर का खतरा कम करने में भी यह मदद कर सकता है। कमल ककड़ी में मौजूद बायोटिक फाइटोकेमिकल्स को औषधि के रूप में उपयोग किया जाता है। 

खांसी में भी राहत दे सकती है कमलककड़ी, चित्र:शटरस्टॉक

ये कंपाउंड पेट में कैंसर की कोशिकाओं को पनपने से रोकने में मदद कर सकते हैं । यहां हम स्पष्ट कर दें कि कैंसर एक घातक बीमारी है। अगर कोई इस रोग से पीड़ित है, तो उसे डॉक्टर से उचित इलाज करवाना चाहिए। इस अवस्था में कमल ककड़ी इलाज व दवा के प्रभाव को कुछ हद तक बढ़ा सकती है और साथ ही कैंसर से उबरने में मदद कर सकती है।

  1. खांसी से राहत दिलाए

खांसी से राहत पाने के लिए भी कमल ककड़ी का उपयोग किया जा सकता है। वैज्ञानिक शोध में पाया गया है कि कमल ककड़ी के गुण खांसी से आराम पाने में मदद कर सकते हैं। 

  1. एनीमिया के लिए फायदेमंद 

शरीर में आयरन की कमी एनीमिया का कारण बनती है। शरीर में आयरन की कमी से पर्याप्त हीमोग्लोबिन नहीं बन पाता। वहीं, कमल के इथेनॉल अर्क में हेमाटोपोईएटिक प्रभाव (रक्त कोशिकाओं को बढ़ाने वाले गुण) होते हैं, जो आयरन की कमी से होने वाले एनीमिया से आराम दिला सकते हैं। कमल ककड़ी में आयरन भी पाया जाता है। इसलिए, इसका उपयोग करने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श अवश्य कर लें।

कमल ककड़ी की यह आसान रेसिपी फाइबर से भरपूर है। चित्र: शटरस्‍टॉक
कमल ककड़ी की यह आसान रेसिपी फाइबर से भरपूर है। चित्र: शटरस्‍टॉक
  1. पोटेशियम से है भरपूर

पोटेशियम शरीर के लिए जरूरी खनिज है। यह कोशिकाओं को ठीक से काम करने में मदद करता है और इसकी कमी से कब्ज, थकान व कमजोर मांसपेशियां जैसी समस्याएं हो सकती हैं। ऐसे में कमल ककड़ी का सेवन करने से फायदा मिल सकता है। कमल ककड़ी पोटेशियम का समृद्ध स्रोत होती है, जिसे आहार में शामिल किया जा सकता है । डॉक्टरों की मानें तो पोटेशियम, रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है तो साथ ही शरीर में तरल पदार्थों के संतुलन को बनाए रख सकता है।

 ऐसे करें अपनी डाइट में शामिल

आप इसके छोटे छोटे टुकड़े करके और इस पर अपनी पसंद का मसाला मिलाकर, फ्राई करके खा सकते हैं।

आप चाहें तो इसका अचार बना सकते हैं।

इसे उबाल कर इसका उपयोग सलाद में भी कर सकते हैं।

आप इसकी सब्जी या कोफ्ते भी बना सकते हैं।

कमल ककड़ी का फ्राई रायता (दही में घी और जीरे से छोंक लगा कर) भी एक शानदार रेसिप है। 

इसे अपनी डाइट में शामिल करने के लिए हम लाए हैं आपके लिए “कमल ककड़ी विद स्लाइस पोटैटो की यह आसान रेसिपी”

इसे बनाना काफी आसान है, इसके लिए आपको आलू, कमल ककड़ी, देसी घी, लौंग, लहसुन और अमचूर की जरूरत होती है।


कमल ककड़ी विद स्लाइस पोटैटो बनाने के लिए आपको चाहिए:
6-7 छिले हुए आलू
1/2 टेबल स्पून देसी घी
3 हरी मिर्च
2 टी स्पून दालचीनी पाउडर
4-5 कमल ककड़ी
2 टेबल स्पून हरा धनिया, टुकड़ों में कटा हुआ
9 लहसुन की कलिया, बारीक कटी
2 टेबल स्पून बेसन
1 टीस्पून अमचूर पाउडर
1 टी स्पून बड़ी इलायची पाउडर
1 टीस्पून काली मिर्च पाउडर
स्वादानुसार नमक
पानी

कमल ककड़ी विद स्लाइस पोटैटो बनाने की विधि

आलुओं को बहुत ही पतले साइज में काट लें। इन्हें थोड़ी देर के लिए पानी में भिगो दें और इसके बाद इन्हें नमक वाले पानी में उबालकर छान लें और एक तरफ रख दें।

कमल ककड़ी को छीलकर तिरछा काट लें और कुछ देर के लिए पानी में डालकर एक तरफ रख दें। इसे नमक वाले पानी में उबालकर छान लें।

एक पैन में घी गर्म करें और इसमें लहसुन डालें। एक बार लहसुन ब्राउन हो जाए तो इसमें हरी मिर्च और बेसन डालकर भून लें।

इसके बाद इसमें नमक, हरा धनिया, अमचूर पाउडर, दालचीनी पाउडर, बड़ी इलायची पाउडर, हरी इलायची का पाउडर और काली मिर्च का पाउडर डालें।

इसमें आलू और कमल ककड़ी डालें। इसे हरा धनिया डालकर गार्निश करें और गर्मागर्म सर्व करें।

यह भी पढ़ें: इम्युनिटी ही नहीं, त्चचा के लिए भी शानदार है तुलसी, हम बता रहे हैं तुलसी के 5 DIY हैक्स

  • 111
लेखक के बारे में
शालिनी पाण्डेय शालिनी पाण्डेय

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory