ब्रेन से लेकर स्किन तक के लिए फायदेमंद है खसखस, जानें इस कूलिंग हर्ब के इस्तेमाल का तरीका

खसखस के बीज छोटे, हल्के बीज होते हैं जो अफीम और तेल से भरपूर होते हैं। वे जहां उगाए जाते हैं, उसके आधार पर वे स्लेटी नीले, गहरे भूरे, सफ़ेद या हल्के पीले रंग के होते हैं। ये बीज बहुत सुगंधित और स्वादिष्ट होते हैं, भले ही उनका आकार छोटा हो।
खसखस में जिंक, कैल्शियम और आयरन होता हैं, जो किसी भी फिमेल फर्टिलिटी के लिए जरूरी है। चित्र- अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Published: 5 Jul 2024, 10:27 am IST
  • 136

कुछ चीजें हजारों सालों तक भी अपना महत्व नहीं खोतीं। पौष्टिक भोजन ऐसी ही एक चीज है। आज हम खसखस ​​पर बात करने जा रहें है। अंग्रेजी में खसखस ​​को पोपी सीड्स ​​कहते हैं। अलग-अलग भाषाओं में इसके कई अन्य नाम हैं, जैसे तमिल में कासा कासा।

खसखस के बीज का साइंटिफिक नाम है पापवर सोम्निफेरम। भले ही यह पौधा पूर्वी भूमध्यसागरीय क्षेत्र का मूल निवासी है, लेकिन मध्य यूरोपीय और भारतीय व्यंजनों में इन बीजों का भरपूर उपयोग किया जाता है। भारत में, खासकर बंगाल में, खसखस ​​के बीज कई व्यंजनों का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।

इसके बीजों को अन्य बीजों की तरह उतना महत्व नहीं दिया जाता, लेकिन इसके पोषक तत्वों की बात करें तो ये कहीं से भी पीछे नहींं है। ये अपने फायदो के साथ कई रहस्यों की खजाना लेकर आता है।

खसखस के फायदों और उसके बारे में ज्यादा जानकारी लेने के लिए हमने बात की न्यूट्रीशनिस्टअर्चना बत्रा से। अर्चना बत्रा 15 साल से अधिक समय से डायटिक्स और न्यूट्रिशन डिपार्टमेंट में प्रैक्टिस कर रही हैं।

खसखस ​​आपके रक्त कोशिकाओं को शुद्ध करता है, जो आपके मस्तिष्क में ब्लड सर्कुलेशन की गुणवत्ता में सुधार करता है। चित्र- अडोबी स्टॉक

क्या होता है खसखस (what is khus khus)

अर्चना बत्रा बताती हैं कि खसखस के बीज छोटे, हल्के बीज होते हैं जो अफीम और तेल से भरपूर होते हैं। वे जहां उगाए जाते हैं, उसके आधार पर वे स्लेटी नीले, गहरे भूरे, सफ़ेद या हल्के पीले रंग के होते हैं। ये बीज बहुत सुगंधित और स्वादिष्ट होते हैं, भले ही उनका आकार छोटा हो।

खसखस के बीज में कई पोषक तत्वों होते हैं, जिनमें फाइबर, हेल्दी फैट, प्रोटीन और कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम और जिंक होते है। वे बी विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट भी देते हैं। ये छोटे बीज हड्डियों के स्वास्थ्य, पाचन और पूरे स्वास्थ्य को संतुलित मात्रा में सेवन करने पर बेहतर बनाते हैं।

खसखस के बीज के क्या फायदे हैं (Benefits if poppy seeds)

1 महिलाओं में प्रजनन क्षमता को बढ़ाता है

खसखस में जिंक, कैल्शियम और आयरन होता हैं, जो किसी भी फिमेल फर्टिलिटी के लिए जरूरी है। खसखस ​​के सेवन से आपके शरीर में इन पोषक तत्वों की कमी पूरी होती है और आपके प्रजनन स्वास्थ्य के लिए सहायता मिल सकती है।

बीजों में मौजूद स्वस्थ वसा हार्मोनल संतुलन में योगदान करते हैं और इसलिए, जिससे मैंस्ट्रुएल साइकिल संतुलित रहती है और ओव्यूलेशन समय पर होता हैं। जब आप गर्भधारण करने की कोशिश कर रही हों तो अच्छा मैंस्ट्रुएल साइकिल स्वास्थ्य बहुत मायने रखता है।

2 ब्रेन फंक्शन के लिए अच्छा है

खसखस ​​के बीज कई पोषक तत्वों से भरपूर है। विशेष रूप से, कैल्शियम, मैग्नीशियम और फॉस्फोरस आपके ब्रेन फंक्शन के लिए बहुत अच्छा काम करते है। खसखस ​​आपके रक्त कोशिकाओं को शुद्ध करता है, जो आपके मस्तिष्क में ब्लड सर्कुलेशन की गुणवत्ता में सुधार करता है। ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होने से आपके ब्रेन में आक्सीजन सही तरह से पहुंचता है और सोचने समझने की क्षमता सही होती है।

3 हड्डियों के स्वास्थ्य को बढ़ाता है

खसखस कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम और प्रोटीन जैसे आवश्यक गुणों की मदद से आपके शरीर में हड्डियों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है। ये गुण हड्डियों के घनत्व और हड्डियों के स्वास्थ्य के रखरखाव में योगदान करते हैं।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

4 त्वचा और बालों के लिए बेस्ट है

एंटीऑक्सीडेंट त्वचा और बालों को अच्छा और बेहतर बनाने के लिए बहुत जरूरी है। खसखस के बीजों में उपलब्ध जरूरी चीजें आपको मुक्त कणों से लड़ने में मदद करते हैं। यह समय से पहले बुढ़ापा, पीगमेंटेशन और रूखी त्वचा को रोकने में मदद करता है।

khuskhus kheer recipe
आपको कब्ज की समस्या में और पेट की समस्या में खसखस आपकी मदद कर सकता है। चित्र- अडोबी स्टॉक

कैसे करें खसखस के बीजों का इस्तेमाल (How to use poppy seeds)

1 मफिन और केक– मफिन या केक के घोल में खसखस ​​डालकर उसे कुरकुरा और स्वादिष्ट की जाती है।

2 सलाद पर ड्रेसिंग– खसखस ​​का उपयोग सलाद ड्रेसिंग में करें या अतिरिक्त कुरकुरापन के लिए सीधे सलाद पर छिड़कें।

3 पुडिंग और कस्टर्ड– एक बहुत अच्छे टेक्सचर और स्वाद के लिए पुडिंग और कस्टर्ड में खसखस ​​मिलाया जा सकता है।

4 दही और स्मूदी- अपनी स्मूदी की पौष्टिकता बढ़ाने के लिए दही पर खसखस ​​छिड़कें या उन्हें स्मूदी में मिलाएं।

ये भी पढ़े- हाई कोलेस्ट्रॉल है हार्ट अटैक का कारण, सबसे पहले त्वचा और आंखों पर दिखाई देते हैं ये 5 संकेत

  • 136
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख