वैलनेस
स्टोर

इस बदलते मौसम में होने वाली कई बीमारियों से बचाव का उपाय है अनार, हम बता रहे हैं इसके 5 कारण 

Published on:11 February 2021, 10:30am IST
फ्लू से बचाव से लेकर गंभीर बीमारियों से लड़ने तक, अनार का सेवन हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद हैं। वे एंटीऑक्सिडेंट में समृद्ध हैं और यही कारण है कि वे कई रोगजनकों से लड़ सकते हैं। 
विनीत
  • 90 Likes
अनार गुडनेस का खजाना है। चित्र: शटरस्‍टॉक

अनार असल में सुपरफूड है। इसमें मौजूद खास पोषक तत्‍व आपकी इम्‍युनिटी बूस्‍ट कर बदलते मौसम में आपको स्‍वस्‍थ बनाए रखते हैं। खासतौर से इस मौसम में आपको हर रोज अपनी डाइट में अनार को शामिल करना चाहिए। इसके रसीले दानों को आप जूस से लेकर फ्रूट चाट तक में बहुत आराम से इस्‍तेमाल कर सकती हैं। विभिन्‍न शोध भी इस बात का समर्थन करते हैं, बदलते मौसम में होने वाली कई समस्‍याओं का मुकाबला करने में अनार आपकी मदद कर सकता है। 

आइए जानते हैं कि इस मौसम में आपको अपनी डाइट में क्‍यों शामिल करना चाहिए अनार 

  1. यह वायरस और मौसमी फ्लू को दूर रख सकता है

अनार के रस, बीज और यहां तक कि उनके छिलके भी आपके शरीर को रोगजनकों से बचा सकते हैं। अनार का रस विशेष रूप से संक्रमित खाद्य पदार्थों से वायरस के आकर्षण के खिलाफ आपकी रक्षा करता है। साथ ही यह ओरल कैविटी से भी आपका बचाव करता है।

अनार का अर्क विटामिन-सी का एक बड़ा स्रोत है, जो कि आम फ्लू के खिलाफ बेहतरीन सुरक्षा प्रदान करता है।

अगर आपको बार-बार सर्दी लगती है तो तिल का सेवन शुरू करें। चित्र: शटरस्‍टॉक
अगर आपको बार-बार सर्दी लगती है अनार का सेवन शुरु कर दें। चित्र: शटरस्‍टॉक
  1. हाई बीपी को कम कर सकता है

अनार के एंटीऑक्सीडेंट गुण हाई ब्लड प्रेशर को सफलतापूर्वक कम करने के लिए पाए गए हैं। एक अध्ययन से पता चला है कि जो लोग इस समस्या से पीड़ित हैं उन्हें परिणाम देखने के लिए प्रति दिन कम से कम 240 मिलीलीटर अनार के रस का उपभोग करना होगा। इसके अलावा, उन्हें यह सुनिश्चित करना होगा कि अनार का रस 100% प्राकृतिक है, जिसमें किसी भी प्रकार की शुगर नहीं है।

एक और तरीका है कि अनार पोटैशियम के माध्याम से ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद करता है। 100 ग्राम अनार में 236 ग्राम पोटैशियम होता है, जो हमारी हड्डियों के स्वास्थ्य और हमारे दिल के कामकाज को बनाए रखने में मदद करता है।

  1. यह पाचन में सुधार कर सकता है

जो लोग क्रोहन की बीमारी (Crohn’s disease) से जूझते हैं, वे पेट की समस्याओं से अच्छी तरह परिचित हैं। यह अन्‍य कई समस्‍याओं के साथ ही भूख में कमी और वजन में कमी के लिए भी जिम्‍मेदार हो सकती है। 

यह भी पढ़ें: संतुलित आहार और बेहतर पोषण चाहिए तो पत्‍ता गोभी को न करें नजरंदाज, यहां हैं इसके 5 फायदे

इसका कारण पेट के भीतर बैक्टीरिया का जमाव है, जो गंभीर सूजन का कारण बनते हैं। एक उपाय जो कई अध्ययनों से उपयोगी पाया गया है वह है अनार का सेवन। अनार का अर्क उन बैक्टीरिया के खिलाफ एक अच्छे रक्षक और हमलावर के रूप में कार्य करता है जो कि सभी दर्द का कारण बनते हैं।

असल में आप समय बर्बाद कर रहीं हैे। चित्र : शटरस्‍टॉक
कब्ज के चलते आपको बार-बार बाथरूम जाना पड़ता है। चित्र : शटरस्‍टॉक
  1. याददाश्त मजबूत कर सकता है 

यह डॉ. हार्टमैन के अध्ययन का निष्कर्ष था, जिसमें उन्होंने उन रोगियों को अनार की गोलियां दी थीं, जो हृदय की सर्जरी से गुजरने वाले थे। जिसमें पहली गोली सर्जरी से एक सप्ताह पहले और दूसरी 6 सप्ताह बाद दी गई थी। रोगियों ने कहा कि उनकी याददाश्त 100% बरकरार थी और पहले से बेहतर भी थी। वहीं दूसरी ओर, जिन रोगियों को गोलियां नहीं मिलीं, उन्हें सर्जरी के बाद अपेक्षित स्मृति हानि हुई।

डॉ. हार्टमैन और भी आगे बढ़ गए, उन्होंने कहा कि उनके पास कुछ सबूत हैं कि अनार की गोलियां मस्तिष्क में अधिक न्यूरॉन्स बनाने में मदद करती हैं। इसका मतलब यह नहीं है कि आपको अल्जाइमर का इलाज मिल गया है। इसका सीधा सा मतलब है कि कम उम्र में अनार का सेवन करने से आश्चर्यजनक फायदे हो सकते हैं।

  1. डायबिटीज के प्रभाव को संतुलित कर सकता है

डायबिटीज से संबंधित हाई ब्लड शुगर लेवल को, दिन में सिर्फ एक अनार खाने से नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है। ये फल ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम कर सकता है, जो डायबिटीज का मुख्य कारण है।

जब कोशिकाएं पर्याप्‍त ग्‍लूकोज ग्रहण नहीं कर पाती तब स्थिति खतरनाक हो सकती है।चित्र: शटरस्टॉक
ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए फायदेमंद है अनार।चित्र: शटरस्टॉक

वे कई प्रकार के खराब कोलेस्ट्रॉल को भी कम करते हैं, जो आपके ब्लड शुगर लेवल को अपेक्षाकृत कम रखने में मदद करता है। हालांकि, मधुमेह के रोगियों को अनार के अपने दैनिक सेवन को लेकर बहुत सावधान रहना चाहिए। चूंकि इसमें चीनी होती है, ऐसी चीज़ों का सेवन बहुत कम मात्रा में करना चाहिए।

यह भी पढ़ें: विटामिन डी डेफि‍शिएंसी दूर करने के साथ ही वेट लॉस में भी मददगार है दूध, हम बता रहे हैं कैसे

विनीत विनीत

अपने प्यार में हूं। खाने-पीने,घूमने-फिरने का शौकीन। अगर टाइम है तो बस वर्कआउट के लिए।