और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

Overeating : इन 6 तरीकों से आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है जरूरत से ज्‍यादा खाना

Published on:20 May 2021, 13:40pm IST
अच्‍छी सेहत के लिए पौष्टिक आहार बहुत जरूरी है। पर ओवरईटिंग करना आपके शरीर के लिए भयानक हो सकता है, क्योंकि ये शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों को नुकसान पहुंचा सकता है।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 90 Likes
जरूरत से ज्‍यादा खाना, आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
जरूरत से ज्‍यादा खाना, आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

आप में से अधिकांश लोग इस बात को जानते होंगे कि अधिक भोजन आपके स्वास्थ्य को अस्थिर कर सकता है, क्योंकि अधिक भोजन लेने से आपका पेट पूरी तरह से भर जाता है। जिस कारण पेट में भोजन को पचने में काफी दिक्कत होती है। ये पूरी शरीर की संरचना में परिवर्तन का कारण भी बन सकता है।

ओवरईटिंग को आदत न बनाएं

अमेरिकन जर्नल ऑफ फिजियोलॉजी : एंडोक्रिनोलॉजी एंड मेटाबॉलिज्म में प्रकाशित एक अध्ययन यह कहता है कि कभी-कभार ओवरईटिंग से आपके शरीर पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है। पर अगर ये नियमित रूप से किया जाए, तो ये आपके वजन, वसा की एकाग्रता और यहां तक कि ब्लड शुगर के स्तर को भी प्रभावित कर सकता है।

ज्‍यादा खाने को अपनी आदत न बनाएं। चित्र- शटरस्टॉक
ज्‍यादा खाने को अपनी आदत न बनाएं। चित्र- शटरस्टॉक

इसके अलावा, ओवरईटिंग का बड़ा जोखिम उच्च कैलोरी सेवन से जुड़ा होता है जो आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के जोखिम पोर्टफोलियो को बढ़ा सकता है।

इसलिए, हम आपको यहां ओवरईटिंग से होने वाले 6 नुकसान के बारे में बताने जा रहे हैं

1. अत्यधिक वसा का जमा होना

यदि आप समय के साथ बार-बार भोजन करते हैं, तो इससे आपकी पाचन क्रिया धीमी हो जाएगी। जो आपके पेट में भोजन को लंबे समय तक स्टोर करती है, शरीर में स्टोर करने के लिए अतिरिक्त वसा को बढ़ावा देती है।

2012 के एक अध्ययन के अनुसार, शरीर में अत्यधिक वसा का संचय और आवश्यकता से अधिक पोषक तत्व प्राप्त करने से आपको वजन बढ़ने जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

2. इससे डायबिटीज हो सकती है

अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन के अनुसार, ओवरईटिंग के माध्यम से अधिक वजन होना टाइप 2 डायबिटीज होने का सबसे बड़ा कारण है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि क्रोनिक ओवरईटिंग ब्लड शुगर को ऊर्जा में परिवर्तित करने के लिए ब्लड सेल्स (रक्त कोशिकाओं) को रोक देती है।

ज्‍यादा खाना डायबिटीज का कारण बन सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
ज्‍यादा खाना डायबिटीज का कारण बन सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

जिससे ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करना कठिन हो जाता है, जिससे डायबिटीज का खतरा बढ़ सकता है।

3. अच्छी नींद में बाधा

अधिक खाने से व्यक्ति सुस्त महसूस करता है और सोने के तरीके को प्रभावित करता है क्योंकि खाने की इच्छा को दूर करने के लिए जागता रहता है और खाना बीच रात में बनाता रहता है।

4 हृदय स्वास्थ्य की समस्या

ओवरईटिंग से हृदय रोग और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं की संभावना बढ़ सकती है। अधिक खाने से तनाव हार्मोन नॉरपेनेफ्रिन रिलीज हो सकता है, जो हृदय गति और रक्तचाप को बढ़ाता है।

लड़कियों में मोटापे से जुड़े चयापचय परिवर्तन लड़कों की तुलना में अधिक होते हैं। चित्र-शटरस्टॉक.
लड़कियों में मोटापे से जुड़े चयापचय परिवर्तन लड़कों की तुलना में अधिक होते हैं। चित्र-शटरस्टॉक.

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के एक अध्ययन के अनुसार जिन लोगों को पहले से ही दिल की बीमारियां हैं, वो अगर भारी भोजन लेते हैं, तो उन्हें दिल का दौरा पड़ने का खतरा दो घंटे में चार गुना अधिक हो सकता है।

5. पाचन तंत्र को बाधित करता है

ओवरईटिंग, विशेष रूप से अस्वस्थ खाद्य पदार्थ आपके पाचन तंत्र को बाधित कर सकते हैं। आप एसिड रिफ्लक्स, सिंड्रोम या आईबीएस, अत्यधिक सूजन, और गैस जैसे पाचन संकट से पीड़ित हो सकते हैं।

6. ब्रेन फंक्‍शन को खराब करता है

ओवरईटिंग से दिमाग अपना काम ठीक से नहीं कर पाता, क्योंकि खाद्य पदार्थों में उच्च कैलोरी की बड़ी मात्रा आपकी स्मृति को नुकसान पहुंचाती है। असल में, एक न्यूट्रिशन और डायबिटीज के अध्ययन में पाया गया कि ओवरईटिंग यूरोग्नैलाइन के उत्पादन को बाधित करता है।  यूरोग्नैलाइन एक ऐसा हार्मोन है जो मस्तिष्क संकेत प्रसारित करने में मदद करता है।

मुश्किल नहीं है ओवरईटिंग से बचना

जब आप भोजन कर रहे हों, तो भोजन पर उचित ध्यान दें।
बहुत से लोग खा लेते हैं, क्योंकि वे इस बात की जांच नहीं करते हैं कि वे क्या खा रहे हैं।
धीरे-धीरे खाएं और अपने भोजन को उतना ही चबाएं जितना आप आसानी से पचा सकते हैं।
फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें क्योंकि वे लोगों को लंबे समय तक आराम देने में मदद करते हैं।

माइंडफुल ईटिंग पर ध्‍यान दें। चित्र: शटरस्‍टॉक
माइंडफुल ईटिंग पर ध्‍यान दें। चित्र: शटरस्‍टॉक

प्रोटीन युक्त आहार लें, जो भूख को कम करने वाले हार्मोन को नियंत्रित करता है। जिससे आपको भूख कम लगती है।

इसलिए लेडीज, इस बात पर ध्यान दें कि आप क्या खा रही हैं और कितना खाना आपके लिए पर्याप्त है। आश्वस्त रहें कि आप कुछ ही समय में स्वस्थ और ऊर्जावान महसूस करेंगी।

यह भी पढ़ें – मम्‍मी कहती हैं इम्‍युनिटी को बर्बाद कर सकता है बासी खाना, आइए पता करते हैं क्‍या है सच्‍चाई

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।