लंबे और हेल्दी बालों के लिए कर रहीं हैं बायोटिन का सेवन, तो इसके साइड इफैक्ट्स भी जान लें

सही मात्रा में बायोटिन का सेवन आपको लंबे बाल, मजबूत नाखून और बेदाग त्वचा दे सकता है। लेकिन बायोटिन के दुष्प्रभाव काफी खतरनाक भी हो सकते हैं।
biotin ke kuch side effect bhi hai
हेयर ग्रोथ के लिए बायोटिन भी जरूरी है। चित्र : अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Published: 15 Mar 2023, 19:18 pm IST
  • 134

हम सभी घने बाल और मजबूत नाखून चाहते हैं। तनावपूर्ण जीवनशैली इसमें बाधा साबित होती है। इस बाधा को दूर करने के लिए, आपको केवल बायोटिन की आवश्यकता है। बायोटिन आपके बालों के स्वास्थ्य और नाखून को बढ़ाने में आपकी मदद कर सकता है।
कई बार लोग ज्यादा जल्दी परिणाम पाने के लिए ज्यादा मात्रा में सप्लीमेंट का सेवन कर लेते हैं जिसके कई साइड इफेक्ट भी सामने आते हैं। इसलिए अगर आप हेल्दी बालों के लिए बायोटिन का सेवन कर रहीं हैं तो इसके बारे में कुछ जरूर फैक्ट्स (Facts about biotin) और साइड इफैक्ट्स (Side effects of biotin) भी जान लें।

पहले समझिए क्या है बायोटिन

बायोटिन विटामिन बी के ग्रुप से संबंधित है। इसे विटामिन एच या विटामिन बी 7 के रूप में भी जाना जाता है, यह पानी में घुलनशील विटामिन है। बायोटिन हमारे शरीर में एंजाइमों का एक घटक है जो वसा और कार्बोहाइड्रेट को तोड़ने में मदद करता है, उन्हें ऊर्जा में परिवर्तित करता है। बात यह है कि हमारा शरीर पानी में घुलनशील विटामिनों को संग्रहित नहीं करता है और इसलिए हमें उन्हें अपने भोजन से प्राप्त करने की आवश्यकता होती है।

अगर सही मात्रा में बायोटिन का सेवन किया जाए, तो यह आपके समग्र स्वास्थ्य खासतौर से बालों, स्किन और नाखूनों के लिए फायदेमंद होता है। पर बायोटिन की ओवर डोज आपके शरीर को कई नकारात्मक प्रभाव दे सकती है।

ये भी पढ़े- डियर गर्ल्स, यहां हैं ब्रा से जुड़ी आपकी 5 समस्याएं, उनके कारण और समाधान

biotin supplement ke kuch nukasan bhi hai
जानिए क्या खाने से होगी बायोटीन की कमी पूरी। चित्र- अडोबी स्टॉक

क्यों होती है शरीर में बायोटिन की जरूरत

हमारे शरीर में चयापचय प्रक्रियाएं जैसे ग्लूकोज और फैटी एसिड का उत्पादन
बाल, त्वचा, आंखें, लीवर, नाखून और नर्वस सिस्टम को स्वस्थ रखते हैं
रक्त शर्करा के स्तर को रेगुलेट करना
शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाना
गर्भावस्था के दौरान भ्रूण का विकास
सूजन कम करना

बायोटिन की ओवरडोज आपके लिए हो सकती है हानिकारक (Side effects of biotin)

न्यूट्रिशनिस्ट और डाइटिशियन करिश्मा शाह के अनुसार बहुत अधिक बायोटिन विटामिन सी के स्तर को कम कर सकता है। जिससे रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो सकती है।

आपको पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं, जो आंत से संबंधित समस्याओं को जन्म दे सकती हैं।

यह इंसुलिन रिलीज करने में समस्याएं भी पैदा कर सकता है और आपके लीवर को ठीक से कामकाज में हस्तक्षेप कर सकता है।

बहुत अधिक बायोटिन से मूत्र उत्पादन की मात्रा बढ़ सकती है। इसका मतलब है कि आपकी किडनी पर ज्यादा बोझ पड़ेगा।

वैसे तो बायोटिन आपकी त्वाचा को बेदाग और अच्छा बनाता है लेकिन अगर आप इसका सेवन ज्यादा मात्रा में करते है तो ये त्वाचा पर चक्कतों का कारण बन सकता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

अधिक मात्रा मे बायोटिन के सेवन से ब्लड शुगर लेवल हाई हो सकता है जिससे शुगर के मरीजों के लिए खतरा पैदा हो सकता है। ब्लड शुगर लेवल बढ़ने से हार्ट पर भी असर पड़ सकता है।

बायोटिन का अधिकता विटामिन बी 6 के स्तर को कम कर सकती है जिससे न्यूरोलॉजिकल सिस्टम को प्रभावित कर सकता है।

ये भी पढ़े- पेट और स्किन दोनों के लिए फायदेमंद है पपीता, इस रेसिपी से बनाएं पपीते का हलवा

biotin ko khane se phele jan le iske nuksan
बाल और नाखून कमजोर होने पर यह जरूरी नहीं कि आप बायोटिन सप्लीमेंट का ही सेवन करें। चित्र- अडोबी स्टॉक

कितनी मात्रा में करें बायोटिन का सेवन

फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन के अनुसार बायोटिन काफी सुरक्षित है लेकिन अधिक मात्रा में लेने से इसके कई दुष्प्रभाव हो सकते हैं। इसलिए, खुराक सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है। वयस्कों के लिए अनुशंसित दैनिक खुराक 30 माइक्रोग्राम है। यदि कोई महिला स्तनपान करा रही है तो 35 माइक्रोग्राम पर्याप्त है।

सप्लीमेंट ही नहीं, प्राकृतिक खाद्य पदार्थों में भी है बायोटिन

बाल और नाखून कमजोर होने पर यह जरूरी नहीं कि आप बायोटिन सप्लीमेंट का ही सेवन करें। बल्कि किसी भी तरह के साइड इफैक्ट से बचने के लिए आपके इसके प्राकृतिक स्रोतों पर भी ध्यान दे सकती हैं।

कुछ बायोटिन युक्त खाद्य पदार्थ हैं अंडे, मेवे, मछली, शकरकंद, सोयाबीन, साबुत अनाज, मशरूम, केले, फूलगोभी, बीज, मांस, मूंगफली, अखरोट, दूध और अनाज। ये सभी चीज आपको पर्याप्त मात्रा में बायोटिन का पूर्ति करती है।

ये भी पढ़े- बॉडी वैक्स करवाने का सोच रही हैं, तो इससे पहले जान लें प्री और पोस्ट वैक्स केयर टिप्स

  • 134
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख