जैतून या नारियल का तेल? सेलिब्रिटी डायटिशियन पूजा मखीजा से जानिए कौन सा है बेहतर

Updated on: 18 November 2021, 16:57 pm IST

कभी-कभी, हम इस बात को लेकर परेशान रहते हैं कि हमारे लिए बेहतर क्या है, फिर चाहे वह खाना पकाने के तेल की बात ही क्यों न हो। तो, आपके लिए नारियल या जैतून के तेल में से बेहतर क्या है? यहां जानिए

जानिए जैतून और नारियल में ज़्यादा फायदेमंद कौन ?

स्वस्थ और फिट रहने की चाह में, हम हर संभव बदलाव करने की पूरी कोशिश करते हैं।  लेकिन ऐसी स्थिति में क्या करें अगर हमारे हाथ में दो ही ऑप्शन हों, और दोनों ही हमारे लिए अच्छे हों? यह खाना पकाने के तेलों की लड़ाई है: जैतून ( olives ) बनाम नारियल तेल ( coconut oil), और सेलिब्रिटी डाइटिशियन पूजा ने इस पहेली को सुलझाने में हमारी मदद की है।

पूजा मखीजा ने अपने हालिया इंस्टाग्राम पोस्ट में इस चर्चित प्रश्न के बारे में बताया

जैतून के तेल में क्या है खास?

जैसा कि मखीजा ने अपने पोस्ट में बताया, यह तेल मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड से भरपूर होता है, जिसका अर्थ है कि आपका हृदय स्वास्थ्य के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होता है। इसके अलावा, यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं, तो यह आपको तृप्त महसूस करने में मदद करेगा, और आपको पेट को लंबे समय तक भरा हुआ रखेगा।

लेकिन यहां चेन्नई की डायटीशियन और न्यूट्रिशनिस्ट डॉ धारिणी कृष्णन की ओर से सावधानी बरतने की बात कही गई है। 

वे हेल्थशॉट्स को बताती हैं, “जैतून का तेल निश्चित रूप से हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है।  हालांकि इसका मेल्टिंग प्वाइंट ( Melting Point) कम होने के कारण, यह भारतीय खाना पकाने के लिए उपयुक्त नहीं है क्योंकि यह उच्च खाना पकाने के तापमान पर जल जाएगा।  इसलिए, भले ही इसका उपयोग सलाद और पास्ता को सजाने के लिए किया जा सकता है, यह कड़ाही या तवे की गर्मी में पकाने के लिए उपयुक्त नहीं है। ”

पूजा मखीजा की इंस्टाग्राम पोस्ट देखें, जिसमें जैतून और नारियल के तेल की तुलना की गई है 

क्या नारियल का तेल भी उतना ही स्वस्थ है?

मखीजा कहती हैं, ‘नारियल का तेल त्वचा की चिंताओं से लेकर अच्छे हृदय स्वास्थ्य तक इसे हर चीज के लिए एक चमत्कारिक इलाज माना गया है।  साथ ही, यह वजन घटाने में भी मदद करता है!  यह तेल नारियल की गिरी से निकाला जाता है, और इसमें मीडियम चेन ट्राइग्लिसराइड्स होते हैं जो वजन कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं।

nariyal ka tel ke faydeनारियल तेल कुकिंग करने के लिए काफी बेहतर होता है । चित्र: शटरस्टॉक

जैतून या नारियल का तेल दोनों में क्या बेहतर है ?

मखीजा से पता चलता है कि ये दोनों तेल स्वस्थ हैं, लेकिन इन्हें कम मात्रा में ही सेवन करना चाहिए।

डॉ कृष्णन ने निष्कर्ष निकाला, “एक वयस्क को प्रति दिन 15-20 मिलीलीटर से अधिक तेल का सेवन नहीं करना चाहिए।  तेल का अधिक सेवन कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ा सकता है और आपके पाचन को काफी प्रभावित कर सकता है।

चूंकि पाचन पोषक तत्वों के अवशोषण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, अतिरिक्त तेल की खपत से शरीर द्वारा पोषक तत्वों को ठीक से अवशोषित नहीं किया जा सकता है।  इससे मोटापा भी हो सकता है।”

यह भी पढ़े : ब्लैक या ग्रीन टी से भी बेहतर है गुड़ की चाय, यहां हैं इसके 3 फायदे और आसान रेसिपी

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें