डायबिटीज पेशेंट्स के लिए गिल्ट फ्री रेसिपी है ओटमील पाई, जानिए इसे कैसे बनाते हैं

मीठे से होने वाले ब्लड शुगर स्पाइक को अवॉइड करने के लिए हमेशा हेल्दी विकल्प ट्राई करें। आप अपने हेल्दी स्वीट मेनू में ओटमील पाई को ऐड कर सकती हैं।
oatmeal pie recipe
यहां जानें ओटमील पाई की हेल्दी रेसिपी। चित्र : अडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 3 Jul 2024, 08:00 am IST
  • 113

डायबिटीज के मरीजों को मीठा खाना माना होता है। यदि कोई व्यक्ति प्री डायबिटिक है, या डायबिटीज की बॉर्डर लाइन पर है, तो उन्हें भी मीठे से पूरी तरह परहेज रखने की सलाह दी जाती है। हम तो इस बात को समझ जाते हैं, परंतु हमारे टेस्ट बड्स के लिए यह समझना मुश्किल होता है। टेस्ट बड्स को मीठे की क्रेविंग होती है, जिसकी वजह से कई बार लोग अनहेल्दी तरीके से मीठा ले लेते हैं। फिर उन्हें ब्लड शुगर स्पाइक (blood sugar) का सामना करना पड़ता है।

मीठे से होने वाले ब्लड शुगर स्पाइक को अवॉइड करने के लिए हमेशा हेल्दी विकल्प ट्राई करें। आप अपने हेल्दी स्वीट मेनू में ओटमील पाई को ऐड कर सकती हैं। यह बेहद स्वादिष्ट और गिल्ट फ्री रेसिपी है। आप इसमें इस्तेमाल हुई सामग्री और इसे बनाने के तरीके को डायबिटीज (diabetes) को ध्यान में रखते हुए चुनती हैं, तो इसे पोष्टिक और गिल्ट फ्री बनाया जा सकता है। तो फिर चलिए जानते हैं, डायबिटिक फ्रेंडली (diabetes friendly sweet dish) ओटमील पाई की रेसिपी (Oatmeal pie recipe)।

हेल्दी ओटमील पाई रेसिपी (healthy oatmeal pie)

ओटमील पाई बनाने के लिए आपको चाहिए

1/4 कप चने का आटा या गेहूं का आटा
2 बड़े चम्मच एरिथ्रिटोल या शहद
चुटकी भर नमक
1/4 छोटा चम्मच वेनिला एक्सट्रैक्ट
बादाम का दूध (आवश्यक्तानुसार)

oats-flour
कई फिटनेस पसंदीदा लोग ओट्स को अपने मील का एक हिस्सा बनाते हैं। चित्र- अडोबी स्टॉक

फिलिंग के लिए आपको चाहिए

2 कप रोल्ड ओट्स
1 कप क्रश किया हुआ नारियल
ऑर्गेनिक शहद या खजूर की प्यूरी (मिठास के अनुसार)
1 बड़ा केला, मैश किया हुआ
2 अंडे
1 बड़ा चम्मच वेनिला एक्सट्रैक्ट
चुटकी भर नमक

इस तरह तैयार करें ओटमील पाई

ओवन को 350°F पर प्रीहीट करें। 8 इंच के पाई पैन को चिकना कर लें और एक तरफ रख दें।

एक मिक्सिंग बाउल में, चने का आटा या गेहूं का आटा, 2 बड़े चम्मच एरिथ्रिटोल या शहद, चुटकी भर नमक, सेब का सॉस (वैकल्पिक) और 1/4 छोटा चम्मच वेनिला एक्सट्रैक्ट डालें। सभी को एक साथ मिला लें।

अब इसमें बादाम के दूध को धीरे धीरे डालें और सभी को एक साथ मिलाएं। इसे अच्छी तरह मिक्स करें, देखें की इसमें कोई गांठ न रह जाए। इसका पतला डो तैयार करें।

मिश्रण को तैयार पाई पैन में फैलाएं और ओवन में लगभग 12 मिनट या जमने तक बेक करें। फिर इसे एक तरफ रख दें।

इस बीच, एक बड़े कड़ाही में ओट्स डालें। ओट्स को मध्यम आंच पर टोस्ट करें, इसे लगातार हिलाते रहें क्योंकि ये आसानी से जल जाते हैं। लगभग 3-5 मिनट तक सुनहरा होने तक। ओट्स को एक बड़े मिक्सिंग बाउल में डालें और एक तरफ रख दें।

अब उसी कड़ाही में नारियल डालें। नारियल को मध्यम आंच पर टोस्ट करें, इसे लगातार चलाएं क्योंकि यह ओट्स से भी अधिक आसानी से जल जाता है, लगभग 3 मिनट तक सुनहरा होने तक भूनें। नारियल को ओट्स वाले बाउल में डाल दें।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

कढ़ाई में ऑर्गेनिक शहद या खजूर की प्यूरी डालें और इसे लगातार मध्यम आंच पर चलाते हुए पकाएं, इसे 1 मिनट चलाएं फिर मिश्रण को ओट्स और नारियल वाले मिक्सिंग बाउल में डाल दें।

मिक्सिंग बाउल में मसला हुआ केला, अंडा, वेनिला एसेंस और नमक डालें और अच्छी तरह से मिला लें।

अगर मिश्रण बहुत सूखा लगे तो आप इसकी कंसिस्टेंसी को अपना कोई भी पसंदीदा दूध मिलकर सेट कर सकती हैं।

मिश्रण को पके हुए पाई क्रस्ट पर फैलाएं और ऊपर से चम्मच से चिकना करें। इसे ओवन में डालें लगभग 45 मिनट तक या सख्त और हल्का सुनहरा होने तक बेक करें।

फिर इसे बाहर निकलें और कुछ देर रख दें। स्लाइस में काटने से पहले थोड़ा ठंडा होने दें। अब इसे अपने अनुसार काट लें और इस टेस्टी और हेल्दी ओटमील पाई को एंजॉय करें।

oatmeal pie
डायबिटीज के मरीज गिल्ट फ्री होकर इसे खा सकते हैं. चित्र : अडॉबीस्टॉक

गिल्ट फ्री रेसिपी है ओटमील पाई

ओट्स में भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है, साथ ही साथ इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स काफी कम होता है। ये फैक्टर हेल्दी ब्लड शुगर रेगुलेशन में मदद करते हैं, साथ ही साथ ब्लड शुगर स्पाइक को भी कंट्रोल करते हैं। इतना ही नहीं ओट्स सेटिस्फाइंग होता है, यानी कि इसे खाने के बाद आपको फ्रिक्वेंटली क्रेविंग्स नहीं होती, जिसकी वजह से आप अनहेल्दी स्नैकिंग नहीं करती हैं।

यह भी पढ़ें: Barley Benefits : इन 6 कारणों से इस मौसम में आपके लिए फायदेमंद है जौ का सेवन

वहीं ब्लड शुगर स्पाइक ही नहीं, बल्कि वेट भी मैनेज रहता है। वेट मैनेजमेंट हेल्दी ब्लड शुगर रेगुलेशन के लिए बहुत जरूरी है। ओट्स खाने से इन्सुलिन सेंसटिविटी बढ़ती है, इस प्रकार ग्लूकोज और इंसुलिन का रिस्पांस भी बढ़ जाता है, जिसकी वजह से ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल रहता है।

मॉडरेशन में ही करें इसका सेवन

ओटमील पाई को बनाने में इस्तेमाल हुई सभी सामग्री हल्दी है, परंतु फिर भी यह एक प्रॉपर मिल नहीं है, इसे डेजर्ट के तौर पर मॉडरेशन में ही लें। इसे केवल अपने टेस्ट बड्स को संतुष्टि देने के लिए खाएं, न की इन्हे डिनर या लंच में खाने की सलाह दी जाती है। किसी भी बीमारी को कंट्रोल करने के लिए पोर्शन पर कंट्रोल होना बहुत जरूरी है।

यह भी पढ़ें: कई समस्याओं का जांचा-परखा नुस्खा है ईसबगोल, जानिए ये कैसे काम करता है

  • 113
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख