फॉलो

आपके घर में ही मौजूद हैं इम्यूनिटी बढ़ाने वाली कुछ आयुर्वेदिक औषधियां

Updated on: 17 June 2020, 20:53pm IST
भारतीय मसाले और कुछ खास पौधे सिर्फ स्वाद या डेकोरेशन के लिए ही नहीं होते, बल्कि इनके औषधीय गुण भी होते हैं। तो आज हम आपको बता रहे हैं उन आयुर्वेदिक औषधियों के बारे में, जो असल में आपके घर में ही मौजूद हैं।
योगिता यादव
  • 91 Likes
आयुर्वेद में इम्‍यूनिटी बढ़ाने वाली कुछ ऐसी औषधियां हैं जो आपके घर में ही मौजूद हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

कोविड-19 के समय में आप खुद को और अपने परिवार को सुरक्षित रखना चाहती हैं। इसके लिए बार-बार आप यही कोशिश करती हैं कैसे इम्यूनिटी को बढ़ाया जाए। ताकि हर संभावित खतरे को रोका जा सके। हो सकता है कि आप कुछ महंगे फूड सप्लीमेंट खरीदने की योजना बना रही हों जो आपकी और आपके परिवार की इम्यूनिटी को बढ़ा सकें।

पर इसके लिए आपको न तो महंगे हर्बल प्रोडक्ट खरीदने की जरूरत है और न ही कहीं बाजार जाने की। आपके घर में ही कुछ खास मसाले और प्लांट ऐसे हैं जो आपकी इम्यूनिटी बढ़ाने में मददगार हो सकते हैं। आयुर्वेद में इन्हें औषधियों की संज्ञा दी गई है।

आइए जानते हैं कौन सी हैं वे आयुर्वेदिक औषधियां जो आपकी और आपके परिवार की इम्यूनिटी बूस्ट करने में हो सकती हैं मददगार।

तुलसी के पत्ते

भारत में ज्यादातर घरों में पाया जाने वाला यह खास पौधा आयुर्वेद में औषधीय पौधा कहा गया है। तुलसी के पत्तों में एंटी इंफ्लामेटरी गुण होते हैं, जो सर्दी-जुकाम और फ्लू में आराम दिलाते हैं। तुलसी के पत्तों को दूध में उबाल कर पीने से इम्यूनिटी बूस्ट होती है।

तुलसी के पत्‍तों की चाय सबसे आसानी से मिलने वाला इम्‍यूनिटी बूस्‍टर है। चित्र: शटरस्‍टॉक

इसके साथ ही इसमें एंटी ऑक्सीडेंट और एंटीबायोटिक गुण होते हैं। तो अगर आपको तुलसी की गुडनेस का फायदा लेना है तो इसे आप चाय में भी इस्तेमाल कर सकती हैं और दूध में भी।

अगर आप तुलसी के पत्तों को पानी में उबाल कर ग्रीन टी के रूप में सेवन करती हैं, तो यह आपको बाहरी संक्रमण से बचाने में काफी मददगार साबित हो सकती है।

मेथी

आपने कभी मम्मी को पंपकिन या कढ़ी में छौंक लगाते देखा है? तो वो जो खास तरह की भीनी-भीनी सुगंध आती है न, वह मेथी की ही होती है। मेथी असल में औषधीय गुणों का भंडार है। इसे ताजा पत्तेदार सब्जी के रूप में या सुखाकर एवं इसके दानों का मसालों के रूप में इस्तेमाल होता है। यह ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में कमाल की औषधि है। साथ ही यह इम्यूनिटी बढ़ाने में भी मददगार है।

इसके लिए जरूरी है कि एक चम्मच मेथी के दानों को रात भर पानी में भिगो कर रख दें। और सुबह इस पानी को पिएं। आप चाहें तो मेथी को पीसकर, गुड़ के साथ इसके लड्डू भी बना सकती हैं। हर फॉर्म में यह इम्यूनिटी बूस्ट करने में मददगार होगी। यह कब्ज से राहत दिलाने में भी मददगार है।

हल्दी

भोजन को एक खास रंगत और फ्लेवर देने वाली हल्दी हर घर में मौजूद आयुर्वेदिक औषधि है। आयुर्वेद के अनुसार हल्दी में ऐंटी बैक्टिरियल, ऐंटी वायरल, ऐंटी फंगल और ऐंटी इन्फ्लेमेट्री गुण पाए जाते हैं। जो वायरल संक्रमण, सूजन और पाचन संबंधी समस्याओं से बचाने में मददगार साबित होतेे हैं।

हल्‍दी वाला दूध पीने से आपकी स्‍लीप क्‍वालिटी बेहतर होती है, यह इम्‍यूनिटी के लिए बहुत जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक

अगर आपको अपनी इम्यूनिटी बूस्ट करनी है तो आपको हर रोज हल्दी वाला दूध पीना चाहिए। पर इसके लिए बाजार में मिलने वाले हल्दी पाउडर की बजाए कच्ची हल्दी का इस्तेमाल करें तो और भी बेहतर होगा। हल्दी वाला दूध आपको पीरियड क्रैम्‍प्‍स में भी आराम दिलाता है। इसके सेवन से स्लीप क्वालिटी भी बेहतर होती है।

तो जब आपकी नींद पूरी होगी तो आपका शरीर अगले दिन के लिए बेहतर तरीके से तैयार हो पाएगा। हल्दी में मौजूद करक्यूमिन नाम का तत्व आपके पूरे शरीर को तनावमुक्त करने में मददगार होता है।

पुदीना

पुदीने की ताजी हरी पत्तियां इस मौसम का लजवाब इंग्रीडिएंट है। आयुर्वेद में इसे पेट को आराम देने वाली हर्ब्‍स में शामिल किया गया है। गर्मियों में होने वाली हीट स्ट्रोक की समस्या से भी पुदीना निजात दिलाता है।

पुदीना को दर्द से परेशान पेट को आराम देने और अनहेल्दी डायट के कारण डायजेस्टिव मसल्स में आए संकुचन से राहत देने के लिए जाना जाता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

अगर आपको सांस संबंधी किसी भी तरह की समस्या है तो आपको पुदीने की चाय को अपने रूटीन में शामिल करना चाहिए। यह एलर्जी से बचाने में काफी मददगार साबित होती है।
पर इसके साथ ही आप अगर इसकी चटनी बनाकर खाती हैं तो यह पारंपरिक औषधि और भी कमाल करती है। पुदीने की पत्तियों को आप गार्निशिंग के लिए भी इस्तेमाल कर सकती हैं।

पुदीने का सेवन करने का एक और लाजवाब तरीका है इसे रायते में मिलाकर खाना। यह आपकी मम्मी का बरसों पुराना नुस्खा हो सकता है। जब गर्मियों में पुदीना पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध होता है तब वे इसे सुखाकर रख लेती हैं। और फि‍र इसे पाउडर फॉर्म में रायता आदि में इस्तेमाल करती हैं।

तो लेडीज देर किस बात की। बस अपने घर में मौजूद इन तीन खास औषधियों का सही से सेवन करना शुरू करें और अपने शरीर को बाहरी संक्रमण का सामना करने के लिए तैयार करें।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

योगिता यादव योगिता यादव

पानी की दीवानी हूं और खुद से प्‍यार है। प्‍यार और पानी ही जिंदगी के लिए सबसे ज्‍यादा जरूरी हैं।

संबंधि‍त सामग्री