फॉलो
वैलनेस
स्टोर

सिर्फ कैलोरी कम करने से कम नहीं कम होता वजन, एक पोषण विशेषज्ञ से समझिए इसका कारण

Updated on: 7 October 2020, 09:22am IST
वजन घटाने के लिए कैलोरी-डेफिसिट डाइट के बारे में सब ने सुना ही होगा। लेकिन क्या आप जानती हैं कि यह काफी नहीं है।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 78 Likes
जब आप खुद को भूखा रखती हैं तो शुगर क्रेविंग ज्‍यादा होती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

अगर आपको लगता है कि अपनी जरूरत से कम कैलोरी खाने से आप वजन घटा सकती हैं तो आप गलत हैं। पहले बात करते हैं कैलोरी के बारे में- कैलोरी भी मीटर और किलोग्राम की तरह ही माप का एक यूनिट है, जो ऊर्जा नापता है। अब क्या आप कभी एक किलो रुई और एक किलो लोहे की तुलना कर सकते हैं? दोनों का ही वजन एक किलो हैं, लेकिन एक किलो रुई में लोहे से बहुत अधिक मात्रा में रुई की आवश्यकता होगी। ऐसा ही कैलोरी के साथ भी है।

आप उतनी की कैलोरी कैंडी से भी पा सकते हैं, जितनी फल या मेवों से। लेकिन कम कैंडी में ही आपको अधिक कैलोरी मिल रही है। अब महत्वपूर्ण सवाल यह है कि क्या नट्स से मिलने वाली कैलोरी कैंडी से मिलने वाली कैलोरी के बराबर है? इसका जवाब है ‘नहीं’।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

जो कैलोरी आपको नट्स से मिली, उनमें पोषक तत्व हैं यानी वह हेल्दी कैलोरी हैं। जबकि कैंडी से मिली कैलोरी खाली हैं और अनहेल्दी हैं।

कैलोरी कम करने के बजाय खाली कैलोरी को कम करें

खाली कैलोरी वह कैलोरी है जो सैचुरेटेड फैट, चीनी और प्रोसेस्ड तेल से मिलती हैं, जिसमें कोई पोषक तत्व नहीं होता। कोल्ड ड्रिंक में भी खाली कैलोरी है, जिसे पीने से आप कैलोरी डेफिसिट भले ही बना लो लेकिन यह फिर भी अनहेल्दी ही रहेगा।

ये वक्त है कुछ नए तरीकों से कैलोरी बर्न करने का। चित्र: शटरस्टॉक

सिर्फ वजन कम करने का यह अर्थ नहीं है कि आप स्वस्थ या फिट हो रहे हैं। यही नहीं, खाली कैलोरी खाने से आपको ऊर्जा नहीं मिलेगी और अधिक भूख लगेगी।

अधिक शक्कर या तेल वाली डाइट लेने पर आप पौष्टिक कुछ नहीं खाते, जिससे शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। खाली कैलोरी से विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई और मैग्नीशियम जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्वों की शरीर में कमी हो जाती है।

चिंता की बात यह है कि खाली कैलोरी अगर नियमित रूप से खाई जाए तो वजन घटने के बजाय उल्टा बढ़ सकता है। केक, कुकीज, मिठाई, कोल्ड ड्रिंक्स और सोडा इत्यादि में चीनी की मात्रा बहुत होती है। मार्जरीन में शार्ट सैचुरेटेड फैट होता है। यह भोजन ऊर्जा तो देते हैं, लेकिन पोषण नहीं मिलता। विटामिन्स, मिनरल्स, प्रोटीन, फाइबर और ओमेगा फैटी एसिड की शरीर में गम्भीर रूप से कमी हो जाती है।

इसलिए यह सुझाव दिया जाता है कि कैलोरी डेफिसिट के लिये भी पोषक तत्व युक्त आहार लें। संतुलित आहार से बेहतर कुछ भी नहीं है। वजन कम करने के बजाय हमेशा फैट को बर्न करने पर फोकस करें।

आपको बहुत ज्‍यादा मीठा खाने से परहेज करना चाहिए। चित्र: शटरस्‍टॉक
आपको बहुत ज्‍यादा मीठा खाने से परहेज करना चाहिए। चित्र: शटरस्‍टॉक

यह हेल्दी होने का सुरक्षित तरीका है। जब आप फैट लॉस पर फोकस करती हैं, तो जल्दी परिणाम दिखते हैं और आप प्रेरित महसूस करती हैं।

कैलोरी डेफिसिट डाइट के लिए जरूरी है फिट जीवनशैली

हमारा वजन हर दिन बदलता है। आपका वजन अगर किसी भी दस दिन बराबर रहा है, तो समझ लें कि आप जरूरत के अनुसार ही कैलोरी ले रही हैं। अगर आपको दो हफ्ते में एक किलो वजन घटाना है तो आपको 500 कैलोरी का कैलोरी डेफिसिट हर दिन बनाना होगा।

तो सिर्फ कम खाना काफी नहीं है, कम और हेल्दी कैलोरी खाना जरूरी है। यह बहुत महत्वपूर्ण है कि आप शरीर की जरूरत के सभी पोषक तत्व खाएं। उसके साथ ही साथ फिट रहने के लिये व्यायाम और एक एक्टिव जीवनशैली बहुत जरूरी है।

यह भी पढ़ें – एक कार्डियोलॉजिस्‍ट से जानें कि आपके हृदय स्‍वास्‍थ्‍य के लिए कौन सा कुकिंग ऑयल है बेहतर

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।