फॉलो

डायबिटीज को करना है कंट्रोल, तो आलू की जगह ट्राय करें यह वेजिटेरियन नो-स्टार्च डाइट

Published on:28 July 2020, 15:00pm IST
जब भी बात आती है मधुमेह को कंट्रोल करने की तो पहला नियम होता है आलू छोड़ दीजिए, और इसके जवाब में दूसरा सवाल, तो फि‍र खाएं क्‍या? हम दे रहे हैं आपको इस एक सवाल के 5 जवाब।
विदुषी शुक्‍ला
  • 83 Likes
शुगर लाइफस्‍टाइल जनित बीमारी है, इसे कंट्रोल किया जा सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

डायबि‍टीज से बचने के लिए जरूरी है अपने आहार में बदलाव करना। पर अगर आप आलू प्रेमी हैं और यह समझते हैं कि उसके बिना खाने में स्‍वाद ही कहां बचेगा, तो हम आपको बता रहे हैं, ऐसे 5 फूड जो आलू की ही तरह टेस्‍टी हैं। पर इनमें स्‍टार्च बिल्‍कुल भी नहीं।

डायबिटीज कंट्रोल करने के लिए बिना स्टार्च वाले फल और सब्जियों का सहारा लें।

पहले समझें डायबिटीज को

डायबिटीज ऐसी गम्भीर बीमारी है जिसमें ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है। इंसुलिन, जिसका काम होता है ब्लड में मौजूद शुगर को सेल्स तक पंहुचाना, वह शरीर में बननी ही बन्द हो जाती है। अगर इंसुलिन बनती भी है, तो शरीर उसका प्रयोग नहीं कर पाता। ऐसे में सारी शुगर ब्लड में रह जाती है जो किडनी, आंखों और बाकी महत्वपूर्ण ऑर्गन्स को खराब कर देती है।

क्या हैं डायबिटीज के लक्षण?

· अनचाहा वेट लॉस या वेट गेन
· धुंधला दिखाई देना
· बहुत भूख लगना या ज्यादा प्यास लगना
· थकान
· जल्दी जल्दी पेशाब आना

आपको डायबिटीज के ये संकेत पहचानने चाहिए।

कैसे मदद करती है यह प्लांट-बेस्ड डाइट

डायबिटीज कंट्रोल करने के लिए नियमित व्यायाम और लो शुगर डाइट ली जाती है। लो शुगर का अर्थ हुआ कार्बोहाइड्रेट मुक्त। ऐसे में सही डाइट चुनना ज़रूरी है। आप कार्बोहाइड्रेट पूरी तरह नहीं छोड़ सकते, इसलिए यह समझना ज़रूरी है कि क्या खाना चाहिए और क्या नहीं।

ग्लाइसेमिक इंडेक्स- जब हम बात करते हैं कम कार्बोहाइड्रेट युक्त भोजन की तो ग्लाइसेमिक इंडेक्स(GI) क्या होता है यह समझना भी ज़रूरी है। यह एक सिस्टम है सभी खाद्य पदार्थों को उनमें मौजूद कार्बोहाइड्रेट या शुगर के अनुसार बांटने का। जिन फल सब्जियों का GI 55 से कम है, वे डायबिटिक मरीज़ों के लिए हेल्दी है, उससे ऊपर हेल्दी नहीं है।

इन लो-शुगर, हाई फाइबर सब्जियों को अपनी डाइट में करें शामिल-

1. टमाटर-

टमाटर डायाबिटिक मरीजों के लिए बहुत फ़ायदेमंद है। टमाटर में सिंपल कार्बोहाइड्रेट की मात्रा न के बराबर होती है, साथ ही उसमें लायकोपीन होता है जो कैंसर के रिस्क को कम करता है। इतना ही नहीं टमाटर कार्डिओवैस्क्युलर बीमारियों को भी दूर रखने में मदद करता है।

मधुमेह के मरीज़ों को रोज़ टमाटर का सलाद खाना चाहिए । चित्र- शटर स्टॉक।

2. ब्रोकोली-

वेट लॉस डाइट्स में ब्रोकोली के इस्तेमाल के बारे में तो आप जानती होंगी, लेकिन ब्रोकोली डायाबिटिक पेशेंट्स के लिए भी बहुत फायदेमंद है। यह मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट का भंडार है, और इसमें कार्बोहाइड्रेट बहुत कम होता है। इसलिए यह हेल्दी सब्जी आपकी डाइट के लिए परफेक्ट है।

ब्रोकोली में इतने सारे पोषक तत्‍व हैं कि आप इसे वेजिटेरियन पावर पंच कह सकती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

3. सन्तरा-

एक संतरे की GI रैंक 40 होती है, जो डायबिटीज के लिए बिल्कुल ठीक है। सन्तरा शुगर में लो होता है और इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन सी होता है।

4. एस्पेरेगस-

एस्पेरेगस में फाइबर, फोलेट और विटामिन ए, सी और विटामिन के होता है, और यह कार्बोहाइड्रेट में भी लो होता है। एस्पेरेगस पाचन को इम्प्रूव करता है, वजन नियंत्रित करता है और ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल रखता है।

5. फूलगोभी-

फूलगोभी में ढेर सारा फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट होता है, यह वजन घटाने में सहायक होती है और कैंसर और हृदय रोग को भी दूर रखती है। लेकिन ध्यान रहे गोभी गैस की समस्या कर सकती है इसलिए ढेर सारा पानी पीना न भूलें।

लो-शुगर, हाई फाइबर सब्जियां डायबिटीज को कंट्रोल करती है। चित्र: शटरस्‍टाॅक

इन 5 सब्जियों को अपने आहार में आलू की जगह शामिल करें, यह न केवल आपकी डायबिटीज नियंत्रण रखेगी, बल्कि आपको हेल्दी भी बनाएंगी।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

विदुषी शुक्‍ला विदुषी शुक्‍ला

पहला प्‍यार प्रकृति और दूसरा मिठास। संबंधों में मिठास हो तो वे और सुंदर होते हैं। डायबिटीज और तनाव दोनों पास नहीं आते।

संबंधि‍त सामग्री