फॉलो
वैलनेस
स्टोर

आपकी उम्र 20 की है या 30 की, हमारे पास है आपके लिए एक एंटी एजिंग नुस्‍खा

Published on:2 September 2020, 20:30pm IST
कुकिंग ऑयल से लेकर ग्‍लोइंग स्किन तक आप नारियल तेल को एक नहीं कई तरह से इस्‍तेमाल कर सकती हैं। इसकी गुडनेस का भरपूर फायदा कैसे लेना है, हम आपको बता रहे हैं।
योगिता यादव
कूकिंग के लिए कोकोनट तेल है बेहद फायदेमंद। चित्र: शटरस्‍टॉक ।

दक्षिण भारत की सबसे फेमस चीजों में से एक है नारियल। उत्‍तर भारत को खास तौर से नारियल के लिए दक्षिण भारत का आभारी होना चाहिए। यह एक मात्र ऐसा फूड है जो सिर्फ दक्षिण भारत में ही होता है। नारियल का अधिकतम इस्‍तेमाल कैसे करना है, यह भी हम दक्षिण भारत से ही सीख सकते हैं।

पोषक तत्‍वों का खजाना है नारियल

नारियल पानी, नारियल गिरी और सूखा नारियल, आप नारियल को किसी भी फॉर्म में इस्‍तेमाल करें यह आपको ढेर सारे फायदे देता है। यह असल में पोषक तत्‍वों का खजाना है। इसमें विटामिन, मैग्‍नीशियम, फाइबर, खनिज, कैल्शियम आदि भरपूर मात्रा में होते हैं। पर क्‍या आप जानती हैं कि नारियल के साथ-साथ नारियल तेल भी आपके लिए बहुत फायदेमंद होता है।

गुड ओल्‍ड कोकोनट ऑयल

आप भले ही एक छोटी सी शीशी में नारियल तेल रखें पर दक्षिण भारत में कुकिंग के लिए भी नारियल तेल का इस्‍तेमाल होता है।

पोषण विशेषज्ञ भी अब नारियल तेलका समर्थन कर रहे हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

इसके गुणों को देखकर अब आहार एवं पोषण विशेषज्ञ भी खाने में कोकोनट ऑयल एड करने की सलाह देते हैं। इससे बैड कोलेस्‍ट्रॉल नहीं बढ़ता और पाचन तंत्र भी दुरुस्‍त रहता है। सिर्फ इतना ही नहीं नारियल तेल आपको और भी बहुत से फायदे देता है।

आपको नोट कर लेने चाहिए नारियल तेल के ये 5 फायदे 

1 इम्‍युनिटी होती है मजबूत

थैंक्‍स टू कोविड-19 महामारी, जिसने लोगों को अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता पर ध्‍यान देने का मौका दिया। असल में रोग प्रतिरोधक क्षमता आपका वह सुरक्षा कवच है जो बाहरी संक्रमणों से मुकाबला कर आपको बीमार होने से बचाती है। और इम्‍युनिटी को मजबूत बनाए रखने में कोकोनट ऑयल बहुत फायदेमंद है।

2 वेट लॉस में मददगार

अगर आप वजन कम करने की योजना बना रही हैं और इसमें वेटलॉस डाइट भी नए सिरे से प्‍लान कर रहीं हैं, तो हमारी आपको सलाह है कि आप अपने खाने में कोकोनट ऑयल शामिल करें। यह मेटाबॉलिज्‍म को दुरुस्‍त करता है। जिससे फैट बर्न होते हैं और आपकी वेट लॉस जर्नी ज्‍यादा आसान हो जाती है। खासतौर से पेट के निचले हिस्‍से में जमने वाले फैट से छुटकारा मिलता है।

वजन कम कर रहीं हैं, तो खाने में कोाकोनट ऑयल एड करें। चित्र: शटरस्‍टॉक

3 गट हेल्‍थ बेहतर होती है

अपच, गैस और कब्‍ज जैसी समसस्‍याएं तभी होती हैं, जब आपकी गट हेल्‍थ पुअर होती है। पेट के अंदर कुछ ऐसे बैक्‍टीरियाज होते हैं, जो पाचन को दुरुस्‍त रखते हैं। नारियल तेल का सेवन करने से इन गुड बैक्‍टीरियाज की एक्टिविटी सही बनी रहती हैं। जिससे आप अपच और कब्‍ज जैसी समस्‍याओं की शिकार नहीं होतीं।

4 बोन हेल्‍थ के लिए फायदेमंद

अगर आप 30s में शामिल हो रहीं हैं, तो आपको अपनी बोन हेल्‍थ के प्रति ज्‍यादा सजग हो जाना चाहिए। कई अध्‍ययनों में यह सामने आया है कि 30 वर्ष की उम्र तक आते महिलाओं की बोन हेल्‍थ प्रभावित होने लगती है।

बोन हेल्‍थ को बेहतर बनाए रखने के लिए कोकोनट ऑयल का सेवन जरूर करें। चित्र: शटरस्‍टॉक

इसलिए अब आपको अपनी डाइट में नारियल तेल शामिल कर ही लेना चाहिए। कोकोनट ऑयल में मौजूद कैल्शियम और मैग्‍नीशियम आपकी हड्डियां मजबूत रखने में मददगार होता है।

5 एंटी एजिंग है कोकोनट आयॅल

अगर आप ड्राई स्किन, फटे होंठों और रूखे बालों से परेशान हैं तो यह स्‍पष्‍ट संकेत है कि आपको खास पोषण की जरूरत है। नारियल तेल में मौजूद एंटी ऑक्‍सीडेंट फ्री रेडिकल्‍स से आपकी स्किन को बचाते हैं और उसे नर्म कोमल बनाए रखते हैं। इसमें मौजूद हेल्‍दी फैट स्‍किन और बालों को नेचुरल ग्‍लो और शाइन देता है। आप इसे अपनी डाइट के साथ-साथ अपनी ब्‍यूटी केयर किट में भी शामिल कर सकती हैं।

अब जान लें स्‍मोक पॉइंट

जब भी आप किसी ऑयल का इस्‍तेमाल खाने के तौर पर करती हैं तो आपको यह जान लेना चाहिए कि उसका स्‍मोक पॉइंट कितना है। इसी से तय होता है कि आपको उसे सलाद में एड करना ज्‍यादा फायदेमंद होगा या दाल-सब्‍जी में उसका छौंक लगाना। कोकोनट ऑयल का स्‍मोक पॉइंट लगभग 360 °F (180 °C) होता है। यानी इसे आप मध्‍यम हीट पर इस्‍तेमाल कर सकती हैं। हां, आपको इसमें किसी भी चीज को डीप फ्राई करने से बचना चाहिए।

1 Comment

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

योगिता यादव योगिता यादव

पानी की दीवानी हूं और खुद से प्‍यार है। प्‍यार और पानी ही जिंदगी के लिए सबसे ज्‍यादा जरूरी हैं।