इन 3 ड्रिंक्स के साथ हर बीमारी के लिए कीजिए अपने बच्चे को इम्यूनिटी रेडी

आपके बच्चे को सर्दी -जुकाम है , तो विटामिन सी की खुराक के परिणामस्वरूप लक्षण कम गंभीर हो सकते हैं और जल्दी ठीक हो सकते हैं।

cucumber kiwi green smoothie ke fayde
जानिए फलों से बनें तीन ऐसे इम्यूनिटी बूस्टर ड्रिंक्स जो आपके बच्चों की इम्यूनिटी बूस्ट कर सकते हैं। चित्र: शटरस्टॉक
शालिनी पाण्डेय Updated on: 30 August 2022, 21:13 pm IST
  • 111

विटामिन सी में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले पदार्थों से आपकी कोशिकाओं की रक्षा करते हैं। अगर आपके बच्चे को सर्दी-जुकाम है, तो विटामिन सी की खुराक के परिणामस्वरूप लक्षण कम गंभीर हो सकते हैं और जल्दी ठीक हो सकते हैं। चलिए न्यूट्रीशनिस्ट अनिता जेना से जानें किन फलों से आपके बच्चे को रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद मिल सकती है किन ड्रिंक्स के रसों को साथ मिलाकर आप ये 3 इम्यूनिटी बूस्टर ड्रिंक (3 immunity booster drinks) बना सकती हैं। 

1 हरा सेब, गाजर और संतरा

गाजर, सेब और संतरे आपके शरीर को खुद को बचाने और संक्रमण से लड़ने में मदद करने के लिए एक शानदार कॉम्बिनेशन हैं। सेब और संतरे आपको विटामिन सी देते हैं। विटामिन ए, स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए महत्वपूर्ण है। गाजर में एंटीऑक्सीडेंट बीटा कैरोटीन के रूप में मौजूद होता है। गाजर में विटामिन बी -6 भी होता है, जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने और एंटीबॉडी उत्पादन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इस जूस में गाजर से पोटेशियम, विटामिन ए, विटामिन बी-6, संतरे से विटामिन बी-9 (फोलेट), संतरे और सेब से विटामिन सी मिलता है

2 चुकंदर, गाजर, अदरक, और सेब

इस जूस में तीन जड़ वाली सब्जियां हैं जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनने में मदद करेंगी और सूजन के लक्षणों को कम करेंगी। इन्फ्लेमेशन अक्सर वायरस या बैक्टीरिया से होने वाले संक्रमणों के लिए एक इम्यून है। सर्दी या फ्लू के लक्षणों में बहती नाक, खांसी और शरीर में दर्द शामिल हैं।

गाजर, चुकंदर, और सेब से पोटेशियम, गाजर और चुकंदर से विटामिन ए, गाजर से विटामिन बी-6, चुकंदर से विटामिन बी-9 (फोलेट), सेब से विटामिन सी एक चुकंदर का रस, एक इंच अदरक का रस दो मध्यमाकार की गाजर का रस, और एक सेब का रस मिला कर यह ड्रिंक बनाया जा सकता है।

 3 स्ट्रॉबेरी और कीवी

विटामिन सी से भरपूर पेय में शामिल करने के लिए स्ट्रॉबेरी और कीवी एक हेल्दी ऑप्शन हैं।  1 कप जूस बनाने में लगभग 4 कप स्ट्रॉबेरी लगते हैं।आप इन फलों को जूस के बजाय स्मूदी में मिला सकती हैं। स्मूदी में मिलाने से दूध प्रोटीन और विटामिन डी का एक अच्छा स्रोत है, विटामिन डी केवल फलों या सब्जियों का उपयोग करने वाले रसों में मिलना मुश्किल है।

फलों में मौजूद विटामिन सी रोग प्रर्तिरोधक क्षमता को बढ़ाता है । चित्र-शटरस्टॉक।

बहुत से लोगों में विटामिन डी की कमी होती है, जो मुख्य रूप से सूर्य की रोशनी और पशु उत्पादों में कम मात्रा में पाया जाता है। स्वस्थ स्तर, सूर्य के प्रकाश, आहार, या पूरक के माध्यम से प्राप्त, निमोनिया या फ्लू जैसे श्वसन संक्रमण के आपके जोखिम को कम करते हैं।

कुछ हालिया शोध विटामिन डी की कमी और संक्रमण दर और गंभीरता के बीच संबंध का सुझाव देते हैं। यह निर्धारित करने के लिए नैदानिक ​​परीक्षणों की आवश्यकता है। प्रोबायोटिक्स लेने से आपकी कोशिकाओं को एक रोगाणुरोधी प्रणाली बनाए रखने में मदद मिल सकती है। प्रोबायोटिक्स आमतौर पर पूरक और किण्वित खाद्य पदार्थों (supplements and fermented food) में पाए जाते हैं ।

यह भी पढ़ें : Osteomyelitis : एक ऐसी समस्या जो हड्डियों में इंफेक्शन या दर्द के साथ शुरू होती है, जानिए इसके बारे में सब कुछ

  • 111
लेखक के बारे में
शालिनी पाण्डेय शालिनी पाण्डेय

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory