पोहा या पुलाव? आपके लिए क्या है हेल्दी ऑप्शन, चलिए पता करते हैं

Published on: 29 January 2022, 08:00 am IST

पोहा और पुलाव दोनों ही लोकप्रिय व्यंजनों में से एक है। स्वाद में दोनों ही लाजवाब हैं लेकिन इन दोनों में से आप के लिए हेल्दी ऑप्शन क्या है? चलिए पता करते हैं।

poha or pulao me kya accha
पोहा है पुलाव से ज़्यादा बेस्ट। चित्र : शटरस्टॉक

वन पॉट मील के रूप में पोहा और  पुलाव सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले फूड्स हैं। ये जल्दी बनते हैं, टिफिन में पैक करने में आसान हैं और टेस्टी भी हैं। दोनों ही व्यंजनों की मूल सामग्री चावल है। मगर प्रोसेस अलग है। ऐसे में यह सवाल जरूर उठता है कि पोहा और पुलाव में बेहतर ऑप्शन क्या है? आप भी कन्फ्यूज हैं? तो आइए आज इस टेस्टी सवाल का जवाब ढूंढते हैं।  

इन दोनों में बेस्ट ऑप्शन समझने के लिए हम इनकी कैलरी से लेकर इनसे मिलने वाले पोषक तत्व के बीच में अंतर चैक कर सकते हैं। उससे भी जरूरी है यह जानना कि यह दोनों आखिर किस प्रकार तैयार किए जाते हैं।

पोहा और पुलाव में इस्तेमाल होने वाला चावल कैसे तैयार होता है?

 चिड़वा और चूड़ा के नाम से भी पोहा को जाना जाता है। इसी से पोहा की डिश तैयार की जाती है। इसके लिए धान को पकाकर, घंटों धूप में सुखाया जाता है। इसे धूप में तब तक सुखाया जाता है जब तक यह सख्त ना हो जाए। उसके बाद इसे चपटा करने के लिए रखा जाता है। पोहा को तैयार होने के लिए ज्यादा प्रोसेस या फिर पॉलिशिंग से नहीं गुजरना पड़ता।

Poha ek perfect breakfast option hai
पोहा एक परफेक्ट ब्रेकफास्ट ऑप्शन है।चित्र -शटरस्टॉक

वहीं दूसरी और चावल काफी ज्यादा पॉलिश किया जाता है ताकि वह देखने में अच्छा लग सके। चावल को पॉलिश करते समय उसमें मौजूद पोषक तत्व और फाइबर की मात्रा काफी कम हो जाती है। 

इसकी तुलना में पोहा पकाने में भी आसान है और पाचन के मामले में भी हल्का है। चावल में भले ही एनर्जी सोर्स ज्यादा होता हो, लेकिन इसमें ग्लाइसेमिक इंडेक्स की मात्रा भी अधिक होती है, जो वास्तव में मधुमेह का कारण बनता है। 

एनसीबीआई के अनुसार कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले फूड टाइप 2 मधुमेह वाले लोगों के लिए बेहतर होते हैं, क्योंकि वे रक्त शर्करा में धीरे-धीरे वृद्धि का कारण बनते हैं।  

पोहा और पुलाव में मौजूद कैलोरी 

यदि पोहे को सब्जियों के साथ बनाया जाए, तो एक कटोरे पोहे में लगभग 250 कैलोरी पाई जाती हैं। पोहे में मूंगफली का भी इस्तेमाल किया जाता है। जो इसके हेल्थ बेनिफिट्स को बढ़ा देता है। वहीं दूसरी और चावल या पुलाव का एक कटोरा 333 कैलोरी रखता है। 

किसमें है ज्यादा स्वस्थ कार्बोहाइड्रेट ?

भारत के कई हिस्सों में पोहे को नाश्ते में पसंद किया जाता है और यह एक बेहतरीन नाश्ते का विकल्प है। पोहे में लगभग 70% स्वस्थ कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं, वहीं अगर फैट की बात की जाए तो फैट की मात्रा, मात्र 30% होती है। 

जबकि चावल में फैट ज्यादा होता है और चावल खाने से आपको नींद आती है। इसके बाद आप की दिनभर की गतिविधियां प्रभावित होने लगती हैं। सुबह के नाश्ते में पुलाव बिल्कुल भी अच्छा ऑप्शन नहीं है।

यदि आप अपनी वेट लॉस जर्नी पर हैं तो पोहा आपके लिए बेस्ट ऑप्शन हो सकता है। आपको बस यह ध्यान रखने की जरूरत है कि इससे आपका कैलोरी काउंट न बढ़े।

और भी हैं पोहा खाने के फायदे 

  1. डायबिटीज के रोगियों के लिए पोहा एक हेल्दी ऑप्शन है। यह अचानक ब्लड शुगर लेवल को नहीं बढ़ाता। पोहा में फाइबर अच्छी मात्रा में होता है, जो सेहत के लिए लाभदायक है।
  2. पोहा का सेवन अच्छे बैक्टीरिया को बरकरार रखता है, जो प्रोटीन और कार्ब्स के चयापचय के परिणामस्वरूप होते हैं। 
  3. इसमें आयरन भरपूर मात्रा में होता है। गर्भवती महिलाओं को आमतौर पर पोहा खाने की सलाह डॉक्टरों द्वारा दी जाती है। क्योंकि यह एनीमिया के खतरे को दूर कर सकता है। पोहा में लोग नींबू भी निचोड़ते हैं, जो विटामिन सी को पोहे में शामिल कर उसे और स्वस्थ बना देता है।

सब्जियों वाला पुलाव भी कम सेहतमंद नहीं है 

pulao ke fayade
पुलाव भी है कुछ मायनों में फायदेमंद। चित्र : शटरस्टॉक
  1. एक कार्ब युक्त भोजन के रूप में चावल जाना जाता है, इसलिए यह बहुत जल्दी ऊर्जा प्रदान करता है। 
  2. इसमें भी फाइबर अच्छी मात्रा में होता है, हालांकि पॉलिश होने के बाद फाइबर ज्यादा बचता नहीं। उसके बावजूद चावल पाचन में अच्छा होता है, लेकिन पोहा की तुलना में नहीं।
  3. चावल में एक प्रकार का स्टार्च होता है जिसे Butyrate के नाम से जानते हैं। यह किसी भी सूजन को कम करके आपके पेट के स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकता है।

इन दोनों के नुकसान जानना भी है जरूरी 

चावल या पुलाव के सेवन से आपको, उच्च रक्त चाप, उच्च उपवास रक्त शर्करा, उच्च ट्राइग्लिसराइड का स्तर, बढ़ता वजन और “अच्छे” एचडीएल कोलेस्ट्रॉल के निम्न स्तर का कम होना जैसी कई समस्याएं हो सकती हैं। 

वहीं दूसरी ओर पोहा के कोई भी बड़े नुकसान नहीं हैं। हालांकि यह आपके कैलोरी काउंट को बढ़ा सकता है।

तो डियर लेडीज, हमने पाया कि पुलाव की तुलना में पोहा ज्यादा हेल्दी ऑप्शन है। अब ये आप पर है कि आप इसमें नींबू, मूंगफली और सब्जियां डालकर कितना टेस्टी बना सकती हैं। 

यह भी पढ़े :क्या आप भी चाय के साथ नमकीन या ड्राईफ्रूट लेते हैं , आपकी सेहत के लिए जहर हो सकता है ये गलत फूड कॉम्बिनेशन

अक्षांश कुलश्रेष्ठ अक्षांश कुलश्रेष्ठ

सेहत, तंदुरुस्ती और सौंदर्य के लिए कुछ नई जानकारियों की खोज में

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें