वैलनेस
स्टोर

व्रत हो या न हो, आपको हर रोज करना चाहिए गाजर का सेवन, यहां हैं इसके 6 फायदे 

Updated on: 21 December 2020, 20:52pm IST
हमें पता है कि अब आप ट्रेडिशनल फास्टिंग की बजाए नवरात्रि में व्रेट लॉस फास्टिंग करती हैं। अगर इसके लिए आप कुछ हेल्‍दी फलाहार ढूंढ रहीं हैं, तो गाजर हैं उनमें बेस्‍ट। कारण हम बताते हैं - 
प्रेरणा मिश्रा
  • 77 Likes
पोषक तत्वों से भरूपूर होती हैं गाजर। चित्र: शटरस्‍टॉक

व्रत का मतलब सिर्फ आलू की भरमार नहीं है। आप नवरात्रि व्रत (Navratri Fasting) में लौकी, गाजर आदि के हेल्‍दी विकल्‍प भी चुन सकती हैं। अगर आप वेट लॉस के साथ-साथ हेल्‍दी स्किन और हेल्‍दी हेयर पाना चाहती हैं तो अपने नवरात्रि फलाहार (Navratri diet) में गाजर को जरूर शामिल करें। 

क्‍यों गाजर को करना चाहिए फलाहार में शामिल 

आलू और शकरकंद की तरह गाजर भी कंद अर्थात रूट है। इसलिए आप इसे बेझिझक फलाहार में शामिल कर सकती हैं। गाजर स्वाद के साथ-साथ पौष्टिकता में भी समृद्ध है, इसमे मौजूद गुण आपके स्वास्थ,त्वचा और बालों सभी के लिए लाभकारी हैं।

फूड एंड न्यूट्रिशन साइन्स 2014 के अध्ययन के अनुसार गाजर (Carrot) एक रूट वेजीटेबल है, जिसमें कैरोटेनॉइड, फ्लेवोनोइड्स, पॉलीसैटेलेन, विटामिन और खनिज होते हैं। जिनमें से कई पोषण और स्वास्थ्य लाभों से भरे पड़े हैं।

गाजर में मौजूद पोषक तत्व

एक अध्ययन के अनुसार 39 फलों और सब्जियों के बीच गाजर को पोषण मूल्य में 10 वें स्थान पर रखा गया है। गाजर एक अच्छे फाइबर का स्रोत और ट्रेस खनिज मोलिब्डेनम से भरपूर है। जो बहुत कम सब्जियों में पाया जाता है। मोलिब्डेनम वसा और कार्बोहाइड्रेट के चयापचय में सहायता प्रदान करता है और आयरन के अवशोषण के लिए महत्वपूर्ण है। इसका एक अच्छा स्रोत मैग्नीशियम और मैंगनीज भी है। 

बोन हेल्थ के लिए मैग्नीशियम का होना आवश्यक है, जैसे प्रोटीन का नई कोशिकाओं को बनाने में, विटामिन बी को सक्रिय करने के लिए आवश्यकता होती है,नसों और मांसपेशियों को आराम देने के लिए तथा रक्त के थक्के बनाने की लिए आवश्यक है। इंसुलिन का स्राव और फंक्‍शन में भी मैग्नीशियम की आवश्यकता होती है। 

गाजर है पोषक तत्वों मे भरपूर। चित्र: शटरस्‍टॉक

एंजाइमों के समन्वय के साथ ही मैंगनीज कार्बोहाइड्रेट आपके शरीर के चयापचय में सहायक है। मैंगनीज का उपयोग शरीर द्वारा एंटीऑक्सिडेंट एंजाइम, सुपरऑक्साइड डिसम्यूटेस के लिए सह-कारक के रूप में किया जाता है। गाजर में पोटेशियम और मैग्नीशियम भी है जो मांसपेशियों के कामकाज में मदद करते हैं।

अब जानते हैं कि क्‍यों आपकी डाइट में जरूरी है गाजर 

1.त्वचा की ड्राईनेस कम करती है गाजर 

यदि आप त्वचा संबंधी समस्‍याओं जैसे मुंहासे, डर्माटीस की सूजन, दाने, चकत्ते आदि को ठीक करना चाहती हैं तो अपनी डाइट में एंटी-ऑक्‍सीडेंट को शामिल करना जरूरी है। गाजर इस मामले में काफी रिच है। जिससे यह त्वचा पर होने वाले संक्रमणों को रोककर, त्‍वचा को हेल्‍दी बनाती है।

विटामिन सी
आपकी त्वचा ड्राई हो जाती है,तो अपनाए अपने आहार मे गाजर। चित्र : शटरस्‍टॉक

  

शरीर में पोटेशियम की कमी से आपकी त्वचा ड्राई होने लगती है। गाजर का सेवन आपको पोटेशियम की कमी नहीं होने देता। इसलिए, गाजर का रस पीएं और अपनी त्वचा को नम और कोमल रखें। त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं से बचने के लिए आप इसका उपयोग फेस पैक के रूप मे भी कर सकती हैं।

2.इम्यून सिस्टम को मजबूत करती है गाजर 

कोविड-19 महामारी के समय में हम बार-बार कह रहे हैं कि आपको अपनी इम्‍युनिटी मजबूत रखनी चाहिए। इसके लिए आप गाजर पर भरोसा कर सकती हैं। गाजर के कई लाभों में से एक यह है कि वे एंटीऑक्सिडेंट में रिच हैं, जो प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने में बहुत फायदेमंद है। यदि आप नियमित रूप से गाजर का सेवन करती हैं, तो यह आपको बेहतर और मजबूत इम्युनिटी देने में मदद करती है। 

3.आपकी आंखों की दोस्‍त है गाजर 

गाजर आपकी आंखों की बेस्‍ट फ्रेंड है। इसमें कैरोटिनॉयड और विटामिन ए होता है, जो न केवल आंखों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करता है, बल्कि रतौंधी, उम्र से संबंधित मांसपेशियों की विकृति जैसी स्थितियों को रोकने में भी मदद करता है।

4.कैंसर से बचाती है गाजर 

गाजर में फाल्सीरनॉल, एक पॉली-एसिटिलीन एंटीऑक्सिडेंट होता है, जो ट्यूमर में कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने में मदद करता है। गाजर के प्रमुख लाभों में से एक यह है कि वे एंटी-कार्सिनोजेनिक गुणों से भी भरे हुए हैं जो कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोकने में मदद करते हैं।

गाजर आपके कैंसर के जोखिम को भी कम करते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

अध्ययनों से साबित हुआ है कि गाजर विभिन्न प्रकार के कैंसर जैसे कोलन कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर आदि के जोखिम को कम कर सकती है।

5.बॉडी को डिटॉक्‍स करती है गाजर 

गाजर में पर्याप्त मात्रा में विटामिन ए होता है जो आपकी बॉडी को डिटॉक्‍स करने में मददगार है। यह लिवर में वसा और बायल के संचय को भी रोकता है, जिससे इनकी कार्यप्रणाली बेहतर होती है। वेस्ट उन्मूलन प्रक्रिया में भी गाजर की गुडनेस आपकी मददगार होती है। इसकी वजह है गाजर में मौजूद पानी में घुलनशील फाइबर।

6.बालों को उम्र से पहले सफेद होने से बचाती है गाजर 

गाजर में विटामिन ए और विटामिन ई होते हैं, जो स्कैल्प के रक्त परिसंचरण में सुधार करते हैं। स्कैल्प में बेहतर रक्त परिसंचरण न केवल बालों के विकास को बढ़ावा देने में मदद करता है, बल्कि आपके बालों को समय से पहले सफेद होने से भी रोकता है।

कैसे बालों को लंबे करने में मददगार है गाजर। चित्र- शटरस्टॉक।

यदि आप लंबे और अधिक मोटे बाल चाहती हैं तो आपको नियमित रूप से गाजर के रस का सेवन करना चाहिए।

 

प्रेरणा मिश्रा प्रेरणा मिश्रा

हेल्‍दी फूड, एक्‍सरसाइज और कविता - मेरे ये तीन दोस्‍त मुझे तनाव से बचाए रखते हैं।