और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

जानिए क्‍यों दी जाती है बादाम को भिगोकर, उसका छिलका उतार कर खाने की सलाह

Published on:2 January 2021, 09:30am IST
ये तो आप जानती ही हैं कि बादाम हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए कितने फायदेमंद होते हैं। पर इनका भरपूर लाभ पाने के लिए इन्‍हें भिगोकर और छीलकर खाने की सलाह दी जाती है। जानना चाहती हैं ऐसा क्‍यों है!
विनीत
  • 92 Likes
badam ka halwa recipe
आप घर पर भी बादाम का दूध तैयार कर सकती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

सर्दियों में बादाम का सेवन हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी माना जाता है। यह न सिर्फ आपके शरीर को गर्म रखने के लिए फायदेमंद है, बल्कि आपके शरीर को पोषण प्रदान करने और कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के जोखिम को करने में भी बादाम बेहद लाभकारी है।

पर अक्सर लोग इस बात को लेकर कंफ्यूज रहते हैं कि आखिर बादाम को भिगोकर और छीलकर खाने की सलाह क्यों दी जाती है। क्या सूखे बादाम या लाल छिलके सहित बादाम खाना हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है? अगर आप  भी इस दुविधा में हैं तो आगे पढ़ती रहिए, क्योंकि आज हम आपकी इस कंफ्यूजन को दूर करने वाले हैं।

क्यों जरूरी है बादाम का सेवन

प्राचीन काल से ही बादाम को उनके कई स्वास्थ्य लाभों के लिए जाना जाता है। इस बात से हम में से ज्यादातर लोग अच्छी तरह से परिचित हैं कि मुट्ठी भर बादाम का सेवन करने से हमारी मेमोरी को बूस्ट करने में मदद मिलती है।

यह भी पढ़ें: सर्दियों में ट्राय करें आंवला के ये 3 इम्‍युनिटी बूस्‍टर ड्रिंक, नोट कीजिए आसान रेसिपी

सिर्फ इतना ही नहीं बादाम पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं, इनमें प्रोटीन, फाइबर और विटामिन मौजूद होते हैं। जो कि ब्लड शुगर को कंट्रोल करने, कॉलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने के साथ ही वजन कम करने और हृदय संबंधी जोखिमों को कम करने में भी मदद करते हैं।

इसके अलावा बादाम हमारे शरीर को पर्याप्त पोषण प्रदान करते हैं जिससे न सिर्फ इम्युनिटी को बूस्ट करने में मदद मिलती है, साथ ही यह आपको सर्दियों में गर्म रखने का काम भी करता। जिससे सर्दियों की सामान्य समस्याओं से सुरक्षित रहने में मदद मिलती है।

सूखे बादाम का सेवन करने से पित्त की समस्या हो सकती है। चित्र- शटरस्टॉक।

क्यों सेहत के लिए अच्‍छा नहीं है सूखा बादाम

आयुर्वेद के अनुसार बादाम का भिगोगर और उसके अंदरूनी लाल छिलके को उतारकर खाना अधिक फायदेमंद होता है। क्योंकि जब आप बादाम को सूखा और इसका छिलका उतारे बिना खाती हैं, तो इससे आपके शरीर में पित्त की मात्रा बढ़ सकती है।

बादाम के इस अंदरूनी लाल छिलके में टैनिन होता है, जो बादाम में मौजूद सभी पोषक तत्वों को हमारे शरीर में अवशोषित होने से रोकता है। इसके अलावा हमारे पेट को त्वचा के साथ पचा पाने में काफी मुश्किल होती है।

इसलिए दी जाती है भिगोकर और छीलकर बादाम खाने की सलाह

शोध के अनुसार बादाम खाने का सबसे अच्छा तरीका है उसे भिगोकर खाना। बादाम विटामिन-ई, जिंक, कैल्शियम, मैग्नीशियम, ओमेगा-3 फैटी एसिड और एंटीऑक्सीडेंट का एक समृद्ध स्रोत है। लेकिन बादाम की त्वचा में मौजूद टैनिन हमारे शरीर में इन सभी पोषक तत्वों को अवशोषित होने में बाधा पैदा करता है। इसलिए जब त्वचा को उतारकर बादाम का सेवन करते हैं, तो हमें इसके पूर्ण लाभ प्राप्त करने में मदद मिलती है।

जब हम बादाम को रात भर के लिए भिगो देते हैं या इसे थोड़े समय के लिए गर्म पानी में छोड़ देते हैं, तो इससे बादाम की त्वचा को आसानी से हटाने में मदद मिलती है। जिससे कि इसके स्वास्थ्य लाभों को हमारे लिए प्राप्त कर पाना आसान हो जाता है।

यह भी पढ़ें: क्‍या वाकई हेल्‍दी ऑप्‍शन है चाय या कॉफी में घी मिलाकर पीना?

इसके अलावा बादाम को भिगोकर और उसका अंदरूनी लाल छिलका उतारकर सेवन करने से पचने में आसान होते हैं। साथ ही यह हमारे हृदय को सेहतमंद रखने के साथ ही वजन कम करने में भी मदद करते हैं।

विनीत विनीत

अपने प्यार में हूं। खाने-पीने,घूमने-फिरने का शौकीन। अगर टाइम है तो बस वर्कआउट के लिए।