बोन्स से लेकर हार्ट तके लिए जरूरी है फास्फोरस, जानिए आपके लिए क्या होनी चाहिए इसकी डेली डोज

प्रोटीन और विटामिन की आपूर्ति करते हुए हम यह भूल ही जाते हैं कि कुछ और पोषक तत्व भी हैं, जो समग्र स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। फास्फोरस भी इनमें से एक है।

Phosphorus foods benefits
बोन्स से लेकर हार्ट तके लिए जरूरी है फास्फोरस। चित्र शटरस्टॉक।
ईशा गुप्ता Published on: 29 August 2022, 19:32 pm IST
  • 135

हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए सभी आवश्यक पोषक तत्वों की जरूरत होती है। इनमें कैल्शियम, विटामिन्स और प्रोटीन के बारे में तो हम जानते हैं, पर फॉस्फोरस () को अकसर इग्नोर कर जाते हैं। पर शायद आप नहीं जानती कि ये जरूरी खनिज न केवल हमारे पाचन तंत्र को बूस्ट करता है, बल्कि हार्ट बीट को कंट्रोल कर हृदय स्वास्थ्य को भी बनाए रखता है। तो क्यों न इस जरूरी पोषक तत्व (Phosphorus in diet) के बारे में ठीक से जानें।

क्या है फास्फोरस

फास्फोरस हमारें शरीर के लिए बेहद आवश्यक मिनरल है, विशेषज्ञों के अनुसार फास्फोरस की पर्याप्त मात्रा के बिना शरीर का सामान्य रूप से काम करना असंभव होता है। क्योंकि मानव शरीर में फॉस्फोरस सबसे ज्यादा पाए जाने वाला मिनरल है। इसके अलावा फास्फोरस हड्डियों के लिए बेहद महत्वपूर्ण होता है, और हड्डियों के स्वस्थ रहने के लिए कैल्शियम के बाद फास्फोरस महत्वपूर्ण तत्व माना जाता है।

जानिए हमारे शरीर के लिए क्यों जरूरी है फास्फोरस

1 दांत और हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए है जरूरी

कैल्शियम के बाद फास्फोरस दूसरा ऐसा मिनरल है, जो हमारी हड्डियों और दांतों को मजबूत करने के लिए जरूरी होता है। नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉरमेशन की रिसर्च के अनुसार हमारे शरीर में मौजूद करीब 85 प्रतिशत फास्फोरस हमारी हड्डियों और दातों में ही पाया जाता है।

Phosphorus Benefits
दांत और हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए है जरूरी है फॉस्फोरस. चित्र शटरस्टॉक।

2 हार्टबीट को रखता है कंट्रोल

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन के अनुसार विटामिन बी की उपस्थिति में फास्फोरस हमारी हार्ट बीट को सामान्य बनाए रखने में मदद करता है। इसी कारण डाइट में फास्फोरस की सही मात्रा लेना जरूरी है। अगर हम अपनी डाइट में सही मात्रा में फास्फोरस लेते हैं, तो हम अपनी हर्टबीट को कंट्रोल कर सकते हैं।

3 पाचन क्रिया के लिए है जरूरी

न्यूट्रिशन जर्नल की रिसर्च के अनुसार फास्फोरस युक्त खाद्य पदार्थ आपकी पाचन क्रिया को बढ़ावा देते हैं। जबकि इसकी कमी पाचन संबंधी समस्याओं जैसे गैस और एसिडिटी का कारण बन सकती है। इसलिए अपने आहार में उचित मात्रा में फॉस्फोरस को शामिल करना जरूरी है, जिससे भोजन ठीक प्रकार से शरीर में इस्तेमाल होकर एनर्जी का निर्माण कर सके।

4 वजन घटाने में भी है मददगार

वजन घटाने के लिए एक बैलेंस डाइट लेना बेहद जरूरी है, जिसमें सभी प्रकार के मिनरल्स समान मात्रा में हो। न्यूट्रिशन एंड डायबिटीज की रिसर्च में पाया गया है कि फास्फोरस युक्त खाद्य पदार्थ का सेवन करने से भूख में कमी आने के साथ-साथ चर्बी कम करने में भी मदद मिलती है। इसी कारण फॉस्फोरस युक्त खाद्य पदार्थ का सेवन करना लाभदायक है।

weight loss
जानिए वजन कम करने में कैसे मददगार है फॉस्फोरस। चित्र शटरस्टॉक।

एक साधारण व्यक्ति के लिए क्या होनी चाहिए फॉस्फोरस की उचित खुराक

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन के अनुसार हर उम्र के अनुसार व्यक्ति को एक फिक्स मात्रा में फास्फोरस की आवश्यकता होती है। उम्र के अनुसार हमारे शरीर को प्रतिदिन इस प्रकार फास्फोरस की जरूरत होती है –

6 महीने तक के बच्चे को 100 mg तक प्रतिदिन फॉस्फोरस की जरूरत होती है।

7 महीने से एक साल तक के बच्चे को 275 mg तक फास्फोरस की जरूरत होती है।

1 से लेकर 3 साल तक के बच्चे को 470 mg फास्फोरस की जरूरत होती है।

4 से लेकर 8 साल तक के बच्चे को 500 mg तक फास्फोरस लेना जरूरी है।

वही 9 से 18 साल तक के लोगों को प्रतिदिन 1250 mg तक फास्फोरस लेना चाहिए।

इसके अलावा 19 साल से बड़ी उम्र के वयस्कों को प्रतिदिन 700 mg तक ही फास्फोरस लेना चाहिए।

 Phosphorous benefits
साबुत अनाज के साथ-साथ ड्राई फ्रूट में भरपूर मात्रा में फास्फोरस पाया जाता है।

अब जानिए उन फूड्स के बारे में, जो शरीर में फॉस्फोरस की पूर्ति करते हैं

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन के अनुसार इन चीजों का सेवन करने से आपको भरपूर मात्रा में फास्फोरस मिल सकता है।

साबुत अनाज के साथ-साथ ड्राई फ्रूट में भरपूर मात्रा में फास्फोरस पाया जाता है। इसके अलावा आलू, लहसुन, दूध, दही,मसूर की दाल, राजमा, चावल ओटमील, तिल, टमाटर, गोभी आदि में भी फास्फोरस मौजूद होता है।

अगर आप नॉनवेज का सेवन करना पसंद करती हैं तो आपको चिकन, सालमन फिश, मीट और अंडों से फास्फोरस मिल सकता है।

यह भी पढ़ें : Appendicitis : जानिए क्या है पेट में तेज दर्द के साथ होने वाली यह समस्या

  • 135
लेखक के बारे में
ईशा गुप्ता ईशा गुप्ता

यंग कंटेंट राइटर ईशा ब्यूटी, लाइफस्टाइल और फूड से जुड़े लेख लिखती हैं। ये काम करते हुए तनावमुक्त रहने का उनका अपना अंदाज है।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory