वैलनेस
स्टोर

आयुर्वेद के अनुसार गुण धर्म विरोधी आहार हैं शरीर के लिए नुकसानदेह, जानें क्‍या हैं ये और इनसे कैसे बचना है

Published on:1 April 2021, 10:30am IST
हर खाद्य पदार्थ का अपना गुण, तासीर और प्रभाव होता है। इसलिए यह जरूरी है कि आप सही कॉम्बिनेशन में फूड्स का सेवन करें।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 82 Likes
भूलकर भी इन खाद्य पदार्थों को साथ में न खाएं. चित्र : शटरस्टॉक

स्वस्थ रहने के लिए पौष्टिक और संतुलित आहार लेना बेहद ज़रूरी है। हम जो भी खाते हैं उसका सीधा असर हमारे शरीर पर पड़ता है। इतना ही काफी नहीं है, खाने के पोषण मूल्य के अतिरिक्त हमारे लिए यह जानना भी बेहद ज़रूरी है कि किस चीज़ के साथ क्या खाना सही है। जी हां.. हमें आहार के सही कॉम्बिनेशन के बारे में जानना बेहद जरूरी है, क्योंकि गुण धर्म विरोधी आहार का सेवन कई बीमारियों का न्योता दे सकता है।

आहार और आयुर्वेद

आयुर्वेद के अनुसार एक सही आहार का मतलब है वात, पित्त और कफ रहित भोजन। यानि कई प्रकार के भोजन का ऐसा सही संतुलन, जिसे खाने के बाद शरीर में गैस, एसिडिटी और कफ न बने।

आयुर्वेद में ऐसा माना जाता है कि हर खाद्य पदार्थ का अपना रस यानि स्वाद, तासीर और पचने के बाद अपना अलग प्रभाव होता है। इसलिए जब दो अलग गुण-दोष वाले खाद्य पधार्थ एक साथ खाए जाते हैं, तो शरीर पर उनका प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। जिसकी वजह से शरीर में टॉक्सिंस या एलर्जी पैदा होती है।

गुण धर्म विरोधी आहार यानी बैड कॉम्‍बि‍नेशन

खाद्य पधार्थ के इन गलत कॉम्बिनेशन को गुण धर्म विरोधी आहार का नाम दिया गया है। इस तरह का गलत कॉम्बिनेशन फॉलो करने से चयापचय, सर्कुलेशन, पाचन, त्वचा रोग, एंडोक्राइन और नर्वस सिस्टम संबंधी बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है जैसे:

अलग गुण धर्म वाले खाद्य पदार्थ साथ में खाए जाने पर त्वचा रोग के जोखिम को बड़ा सकते हैं । चित्र: शटरस्‍टॉक
अलग गुण धर्म वाले खाद्य पदार्थ साथ में खाए जाने पर त्वचा रोग के जोखिम को बड़ा सकते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

जठरांत्र विकार
चर्म रोग
भ्रूण की असामान्यताएं
एलर्जी
इरिटेबल बाउल सिंड्रोम
बांझपन
मेटाबोलिक डिसऑर्डर
एनीमिया
एवं अन्य मानसिक विकार

तो जानिए कौन से हैं आपकी सेहत के लिए गलत फूड कॉम्बिनेशन और उनका प्रभाव

1. किसी भी तरह के मांस, मछली या अंडे के साथ दूध नहीं लेना चाहिए, क्योंकि इन दोनों की खाद्य शक्ति अलग होती है।

2. शहद को गर्म करके या बेहद गर्म पानी में मिलाकर नहीं लेना चाहिए। इसके अलावा देसी घी के साथ भी नहीं।

3. रात के वक़्त दही नहीं खाना चाहिए, क्योंकि इसकी तासीर ठंडी होती है और यह शरीर में जाकर कफ बनाता है।

4. किसी गर्म चीज़ को खाने के बाद अचानक से ठंडा नहीं खाना चाहिए। जैसे गर्म चाय या कॉफ़ी के बाद ठंडा पानी।

गर्म चाय या कॉफ़ी के बाद अचानक से कुछ ठंडा न खाएं । चित्र-शटरस्टॉक।
गर्म चाय या कॉफ़ी के बाद अचानक से कुछ ठंडा न खाएं । चित्र-शटरस्टॉक।

5. कसैले या खट्टे स्वाद वाले फल और सब्जियों के ठीक बाद दूध नहीं पीना चाहिए। जैसे मूली, टमाटर, नींबू आदि।

6. दही के साथ नींबू या दूध के साथ खटाई नहीं लेनी चाहिए। इन दोनों की प्रकृति विरुद्ध है।

7. चाय और लहसुन साथ में नहीं खाने चाहिए। चाय में एंटीकोगुलेंट यौगिक होते हैं, जिन्हें Coumarins कहा जाता है। जब ये लहसुन के साथ मिलते हैं, तो रक्तस्राव के जोखिम को बढ़ा सकते हैं।

8. टमाटर, आलू और शराब का एक साथ सेवन सेहत के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। टमाटर में भारी मात्रा में सोलनिन होता है, जो शराब के साथ मिलकर आपको बेहोशी महसूस करवा सकता है।

यह भी पढ़ें : फूड क्रेविंग को नियंत्रित कर भोजन के साथ स्वस्थ संबंध बनाने में मदद करेंगे एक्सपर्ट के सुझाए ये 8 टिप्स

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।