Chocolate Day 2022: क्या चॉकलेट आपकी वेट लाॅस जर्नी को नुकसान पहुंचा सकती है? आइए चैक करते हैं

Published on: 8 February 2022, 13:04 pm IST

चॉकलेट या उनसे बने व्यंजनों की थोड़ी सी अधिकता के बाद ही लोग कुछ अवांछित सलाह देने लगते हैं। आपका वजन बढ़ जाएगा! आप अपने दांत खराब कर लेंगे! आप खाली कैलोरी खा रहे हैं!तो क्या सच में चॉकलेट वेट लॉस जर्नी को नुकसान पहुंचाती है?

Sahi samay par chocolate khana hai jaroori
सही समय पर चॉकलेट खाना है जरूरी। चित्र:शटरस्टॉक

भले ही आप स्वीट टूथ हो या नहीं, चॉकलेट एक ऐसी चीज है जिसकी क्रेविंग हो ही जाती है। एक बार इसका स्वाद मुंह को लग गया, तो इसे कंट्रोल करना असंभव है। लेकिन क्या यह आपके डाइट और एक्सरसाइज की मेहनत पर पानी फेर देता है? अक्सर चॉकलेट खाने पर आपको वेट गेन का गिल्ट (weight gain guilt) महसूस होता है। इतना ही नहीं, आपके फिटनेस ट्रेनर भी आपको मीठा खाने से रोकते होंगे।

लेकिन स्वस्थ भोजन के साथ चॉकलेट का एक छोटा टुकड़ा निश्चित रूप से एक उपचार के रूप में कार्य करता है। हालांकि, बहुत से लोग इसे खाने से परहेज करते हैं, क्योंकि वे मोटे होने की चिंता करते हैं। वे अपने इस गिल्टी प्लेजर के कारण कुछ अतिरिक्त किलो वजन बढ़ाते हैं। परंतु क्या चॉकलेट वास्तव में आपकी वेट लॉस जर्नी को प्रभावित करती है?

इसका संक्षिप्त उत्तर है हां! चॉकलेट आपको वैसे ही मोटा कर देगी, जैसे किसी अन्य भोजन की कैलोरी। यही कारण है कि आपको पोर्शन कंट्रोल का अभ्यास करने और सही चॉकलेट चुनने की आवश्यकता है।

Weight loss journey mein madad karta hai chocolate
आपके वेट लॉस जर्नी में मदद करता है चॉकलेट। चित्र:शटरस्टॉक

क्या आपको चॉकलेट खाने से बचना चाहिए?

भले ही चॉकलेट कैलोरी (calorie in chocolate) से भरी हुई हो, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आपको इसे पूरी तरह से त्याग देना चाहिए। चॉकलेट के एक या दो टुकड़े वास्तव में कई तरह से मदद कर सकते हैं। चॉकलेट किसी भी तनाव-प्रेरित वजन को कम करने में मदद कर सकती है। कुछ मामलों में यह आपको अधिक व्यायाम करने के लिए प्रेरित भी कर सकती है।

अध्ययनों से पता चला है कि डार्क चॉकलेट (dark chocolate for weight loss) का सेवन पूरे बॉडी मास इंडेक्स को कम करने में मदद कर सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि डार्क चॉकलेट में अन्य प्रकार की चॉकलेट की तुलना में कम मात्रा में चीनी होती है। कुछ मामलों में, यह आपको क्रेविंग को दूर रखने में भी मदद कर सकती है।

फैट बर्न करना है तो दिन में खाएं चॉकलेट (Best time to eat chocolate for weight loss)

दिन के अलग-अलग समय पर मिल्क चॉकलेट खाने के प्रभावों के बारे में पता लगाने के लिए, शोधकर्ताओं ने 19 पोस्टमेनोपॉज़ल महिलाओं का परीक्षण किया। उन्होंने सुबह या रात में 100 ग्राम चॉकलेट का सेवन किया था। हर दिन मिल्क चॉकलेट खाना बढ़ते वजन का एक कारण लग सकता है। मगर पोस्टमेनोपॉज़ल महिलाओं के एक अध्ययन में पाया गया है कि सुबह थोड़े समय के दौरान एक सीमित मात्रा में चॉकलेट खाने से बॉडी फैट जलाने और रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद मिल सकती है।

दिन के अलग-अलग समय में मिल्क चॉकलेट खाने के प्रभावों (effects of eating milk chocolate) के बारे में पता लगाने के लिए, ब्रिघम के शोधकर्ताओं ने मर्सिया विश्वविद्यालय, स्पेन के साथ मिलकर शोध किया।

इसमें महिलाओं ने 100 gm चॉकलेट सुबह जागने के एक घंटे के भीतर या रात में सोने से पहले एक घंटे के भीतर सेवन किया। यह अध्ययन FASEB जर्नल में प्रकाशित हुआ था। शोधकर्ताओं की रिपोर्ट है कि अध्ययन में शामिल महिलाओं में इस समय चॉकलेट खाने से वजन नहीं बढ़ता। सुबह या शाम चॉकलेट खाने से भूख, माइक्रोबायोटा कंपोजिशन,नींद और बहुत कुछ प्रभावित होता है। इस वक्त चॉकलेट का सेवन अधिक वसा जलाने और ब्लड शुगर के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है।

Subah jaagne ke ek ghante ke bheetar ya raat mein sone ke ek ghante ke bheetar chocolate khaye
सुबह जागने के एक घंटे के भीतर या रात में सोने से पहले एक घंटे के भीतर चॉकलेट खाएं। चित्र: शटरस्‍टॉक

डार्क चॉकलेट है वेट लॉस का राज़ (Dark chocolate for weight loss)

1. सूजन को कम करती है डार्क चॉकलेट (Reduces inflammation)

डार्क चॉकलेट में पॉलीफेनोल्स, फ्लेवनॉल्स और कैटेचिन जैसे लाभकारी तत्वों को धन्यवाद कहना चाहिए! इनकी बदौलत इसे अक्सर स्वस्थ भोजन के रूप में जाना जाता है। वास्तव में, इसे कई स्वास्थ्य लाभों से जोड़ा गया है, जिसमें हृदय स्वास्थ्य में सुधार, सूजन में कमी और मस्तिष्क के कार्य में वृद्धि शामिल हैं।

2. ब्लड शुगर करती है कंट्रोल (Controls blood sugar)

हालिया शोध में सुपरफूड माने जाने के कारण, बहुत से लोग यह भी सोचते हैं कि डार्क चॉकलेट वजन घटाने में मदद कर सकती है। कुछ शोधों से यह भी पता चलता है कि डार्क चॉकलेट आपके शरीर की इंसुलिन के प्रति संवेदनशीलता में सुधार करने में मदद कर सकती है। यह आपके ब्लड से चीनी को बंद करने और आपकी कोशिकाओं में ऊर्जा के उपयोग के लिए जिम्मेदार है।

3. कंट्रोल करती है क्रेविंग (Stops unhealthy craving) 

डार्क चॉकलेट रक्त में इंसुलिन के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है। यह वजन घटाने और कम फैट गेन से जुड़ा हो सकता है। अध्ययनों से पता चलता है कि डार्क चॉकलेट क्रेविंग को कम कर सकती है और तृप्ति की भावनाओं को बढ़ावा दे सकती है। इससे वजन घटाने में मदद मिल सकती है।

Aapka go to snack ho sakta hai dark chocolate
आपका अच्छा गो टू स्नैक बन सकता है डार्क चॉकलेट। चित्र : शटरस्टॉक

12 महिलाओं के एक अध्ययन में, डार्क चॉकलेट को सूंघने और खाने से भूख कम हो गई और घ्रेलिन (ghrelin) का स्तर कम हो गया। यह वह हार्मोन है, जो भूख को उत्तेजित करता है।

4. तनाव को भी करती है कम (Reduces stress) 

कई अध्ययनों में पाया गया है कि डार्क चॉकलेट मानसिक स्वास्थ्य और मनोदशा को सकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती है। इससे यह सुनिश्चित हो सकता है कि आप वजन घटाने को बढ़ावा दे सकते हैं। 72 वयस्कों में किए गए एक अध्ययन से पता चला है कि 30 दिनों तक डार्क चॉकलेट पीने से शांति और संतोष की भावना बढ़ी है।

तो लेडीज, चॉकलेट आपके वेट लॉस जर्नी को नकारात्मक रूप से प्रभावित नहीं करता है। यदि आप सही समय और मात्रा में इसका सेवन करती हैं, तो यह आपके वेट लॉस गोल को जल्दी प्राप्त करने में मदद करेगा।

यह भी पढ़ें: अगर आपको भी कैंटीन का जंक फूड खाने की आदत है, तो सावधान ! बढ़ सकता है कई बीमारियों का जोखिम

अदिति तिवारी अदिति तिवारी

फिटनेस, फूड्स, किताबें, घुमक्कड़ी, पॉज़िटिविटी...  और जीने को क्या चाहिए !

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें