ब्रोकली से भी ज्यादा हेल्दी है अपनी देसी लौकी, यूटीआई से लेकर वेट मैनेजमेंट में भी है कारगर

कई बार बाहर से आनेवाली या नई चीज़ की चकाचौंध में हम अपने देशी चीज़ों को भूल जाते हैं। ऐसी ही एक देशी सब्जी है घिया या लौकी जिसमें कैलोरी और फैट जहां ब्रोकली से कम है तो वहीं फाइबर ब्रोकली से कहीं ज़्यादा।

bottle gourd sabji
लौकी स्वादिष्ट होने के साथ-साथ किसी भी अन्य सब्जी से पौष्टिक होती है। चित्र : शटरस्टॉक
शालिनी पाण्डेय Published on: 18 September 2022, 16:17 pm IST
  • 111

बात वेट लॉस की हो या फिट रहने की फैट में ज़ीरो, वॉटर कॉन्टेंट से भरपूर ब्रोकोली अपनी एंटी ऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज़ कारण हर फिटनेस प्रेमी की पहली चॉइस रहा है पर क्या आप जानती हैं कि ब्रोकली का भारत से परिचय1990 में जितेंद्र लडकट ने कराया था, जिन्होंने पुणे में पहली बार इसकी खेती शुरू की। इससे पहले, इंडिया में इसका नाम तक कोई नहीं जानता था।

कई बार बाहर से आनेवाली या नई चीज़ की चकाचौंध में हम अपने देशी चीज़ों को भूल जाते हैं। ऐसी ही एक देशी सब्जी है घिया या लौकी जिसमें कैलोरी और फैट जहां ब्रोकली से कम है तो वहीं फाइबर ब्रोकली से कहीं ज़्यादा। यहां तक ​​कि ब्रोकली में मौजूद  कार्ब्स भी घिया से दोगुने होते हैं।

जानें क्या है प्रोटीन?

ब्रोकली में घिया से ज़्यादा प्रोटीन होता है। पर चूंकि आमतौर पर लौकी को चने की दाल के साथ ही बनाया जाता है तो इसका प्रोटीन कॉन्टेंट ब्रोकली के बराबर हो जाता है।

डायटीशियन मैक अपनी इंस्टा पोस्ट में घिया के कुछ बेहतरीन लाभ बताते हैं।

1) पाचन में सुधार करता है घिया

घिया में घुलनशील और अघुलनशील दोनों तरह के फाइबर भरपूर होते हैं। यह भोजन को पचाने में आसान बनाता है।

2) फैट लॉस में भी कारगर है घिया

लौकी एक बेहद कम कैलोरी वाली सब्जी है और इसलिए यह वजन कम करने वाली अचूक सब्जी है!

पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद है लौकी, चित्र: शटरस्टॉक

3) बॉडी में मौजूद वॉटर वेट को कम करता है 

 100 ग्राम लौकी में 92-96% पानी होता है। इसके अलावा, लौकी में पोटेशियम 150-170 मिलीग्राम होता है जो एक अच्छी मात्रा है। इसलिए लौकी का सेवन करने से शरीर से वॉटर वेट बाहर निकल जाता है।

4) यूटीआई का इलाज करता है

घिया एक मूत्रवर्धक के रूप में कार्य करता है और इस प्रकार पेशाब की मात्रा को बढ़ाता है जिससे यूटीआई की दिक्कत काम होती है

5) मधुमेह के लिए उपयुक्त

लौकी या घिया का ग्लाइसेमिक इंडेक्स सिर्फ 15 है, तो इसका सेवन करने के बाद बहुत ही धीमी गति से शुगर ब्लड में रिलीज होगी।

और अंत में

ब्रोकली की न्यूट्रीशन वैल्यू को न्यूट्रीशनिस्ट मैकबुरा नहीं बताते। अपनी पोस्ट में वह कहते हैं कि यह बहुत सारे विटामिन के साथ एक सुपरफूड है, लेकिन अगर आप केवल ब्रोकोली पर  इन सब हेल्थ बेनिफिट्स के लिए डिपेंड हो रहे हैं, तो यह गलत हो सकता है। यह मिथ है कि आप फैंसी खाने से ही पूरा पोषण पा सकते हैं। सच तो यह है कि आप उन खाद्य पदार्थों के कॉम्बिनेशन से आसानी से समान पोषण प्राप्त कर सकते हैं, जिनका हम दैनिक उपभोग करते हैं वह भी अपनी पॉकेट के अनुसार।

यह भी पढ़ें: शैंपू बदलने से बाल झड़ना बंद हो जाते हैं! आइए जानते हैं शैंपू के बारे में किए जा रहे हैं ऐसे ही 5 दावों की सच्चाई

  • 111
लेखक के बारे में
शालिनी पाण्डेय शालिनी पाण्डेय

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory