Post workout meal : हैवी वर्कआउट के बाद जरूरी है एक हेल्दी मील, यहां हैं आपकी मदद के लिए 7 सुझाव

वर्कआउट के बाद और वर्कआउट से पहले दोनो समय मील बहुत जरूरी है। वर्कआउट के बाद आप क्या खाते है ये आपके वर्कआउट पर बहुत असर डालता है।
khane ke baad na karein ye kaam
पोषण से भरपूर और बनाने में आसान, ओटमील वर्कआउट के बाद खाए जाने वाले सबसे अच्छे कार्ब-आधारित नाश्ते में से एक है। चित्र: शटरस्टॉक
संध्या सिंह Published: 24 Jun 2023, 08:00 am IST
  • 145

वर्कआउट करने से सिर्फ आपकी बॉडी नही बनती है बल्कि आपको अपने वर्कआउट मील पर भी ध्यान देना होता है क्योंकि इससे ही आपके शरीर में वर्कआउट का कोई असर होता है। हैवी वर्कआउट के बाद अपने शरीर को फिर से ताकत देने के लिए मी लेना बहुत जरूरी है। वर्कआउट के बाद मील आपके मांसपेशियों की मरम्मत करने में मदद करता है। अब आपको इस बात को लेकर बिल्कुल परेशान होने की जरूरत नहीं है कि आपको वर्कआउट के बाग क्या खाना है क्योंकि आज हम आपको बताने जा रहें है पोस्ट वर्कआउट मील में आपको क्या लेना चाहिए।

वर्कआउट के बाद का भोजन वर्कआउट या व्यायाम सत्र पूरा करने के बाद खाए जाने वाले भोजन होता है। इसका उद्देश्य पोषक तत्वों की पूर्ति करना, मांसपेशियों की रिकवरी को बढ़ावा देना और शरीर की पूरीरिकवरी प्रक्रिया का समर्थन करना है। कसरत के बाद के भोजन की संरचना में आम तौर पर प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और कुछ स्वस्थ वसा का संतुलन शामिल होता है।

मसूर और मसूर की दाल शारीरिक कमजोरी को दूर करने में मदद करती है। चित्र: शटरस्टॉक

न्यूट्रिशनिस्ट और वेलनेस एक्सपर्ट करिश्मा शाह ने बताया कि “जिम में हैवी वर्कआउट के बाद, मांसपेशियों की रिकवरी में सहायता करने और ऊर्जा भंडार को फिर से भरने के लिए अपने शरीर को सही पोषक तत्व प्रदान कराना बहुत जरूरी है।

पोस्ट वर्कआउट मील में क्या खाएं

1 लीन प्रोटीन जैसी चीजें– पोस्ट वर्कआउट मील भोजन में लीन प्रोटीन स्रोतों को शामिल करें, जैसे कि ग्रिल्ड चिकन या टर्की, बीफ या पोर्क, मछली (जैसे सैल्मन या ट्यूना), टोफू, टेम्पेह, फलियां (बीन्स, दाल), या कम वसा वाले डेयरी उत्पाद (दही, पनीर)। ये सभी प्रोटीन के अच्छे स्रोत है। इन सभी को पोस्ट वर्कआउट मील में प्रोटीन लेने से मांसपेशियों के मरम्मत में मदद मिलती है।

2 साबुत अनाज– अपने कार्बोहाइड्रेट सेवन के लिए साबुत अनाज चुनें, जो निरंतर ऊर्जा और महत्वपूर्ण पोषक तत्व प्रदान करते हैं। उदाहरणों में ब्राउन चावल, क्विनोआ, साबुत गेहूं की ब्रेड, जई, साबुत अनाज पास्ता, या जौ का सेवन कर सकते है।

3 फल और सब्जियां– अपने भोजन और नाश्ते में विभिन्न प्रकार के फल और सब्जियां शामिल करें। वे विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर हैं जो रिकवरी और समग्र स्वास्थ्य का समर्थन करते हैं। जामुन, पत्तेदार सब्जियां, बेल मिर्च, खट्टे फल, ब्रोकोली, या शकरकंद जैसे विकल्प चुनें।

4 स्वस्थ वसा– पोषक तत्वों के अवशोषण में सहायता करने और तृप्ति प्रदान करने के लिए अपने भोजन में स्वस्थ वसा जोड़ें। स्रोतों में एवोकाडो, मेवे और बीज (बादाम, अखरोट, चिया बीज, अलसी), जैतून का तेल, नारियल तेल और वसायुक्त मछली (सैल्मन, मैकेरल) शामिल हैं।

5 हाइड्रेशन– नियमित रूप से पानी पीकर पूरे दिन हाइड्रेटेड रहना याद रखें। आप अतिरिक्त स्वाद के लिए हर्बल चाय या इन्फ्यूज्ड पानी का सेवन भी कर सकते है। इससे आपके शरीर को पर्याप्त मात्रा में ऊर्जा मिल सकती है।

paani swasth jeewan ka aadhar hai
नियमित रूप से पानी पीकर पूरे दिन हाइड्रेटेड रहना याद रखें।चित्र:शटरस्टॉक

6 स्नैक्स के तौर पर– यदि आपको भोजन के बीच भूख लगती है, तो पौष्टिक स्नैक्स चुनें जैसे कि फलों के साथ ग्रीक दही, मुट्ठी भर मेवे, प्रोटीन शेक, सब्जी और ह्यूमस डिप, या प्रोटीन बार। आपको किसी भी तरह का अनहेल्दी स्नैक्स खाने से बचना चाहिए, जिसमें अधिक ट्रांसफैट हो।

7 अपने शरीर की सुनें– अपनी भूख और पेट भरने के संकेतों पर ध्यान दें और तब तक खाएं जब तक आप संतुष्ट न हो जाएं। हर किसी की पोषण संबंधी ज़रूरतें और भूख अलग-अलग होती है, इसलिए अपने पोर्शन की मात्रा को उसी के हिसाब से निर्धारित करें।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

आपके वर्कआउट के बाद के भोजन का समय भी महत्वपूर्ण है। पोषक तत्वों के सेवन और मांसपेशियों की रिकवरी प्रक्रिया को अनुकूलित करने के लिए व्यायाम के बाद 30 मिनट से 1 घंटे के भीतर संतुलित भोजन या नाश्ता करने से आपको काफी लाभ मिल सकता है।

  • 145
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख