वेट लॉस के साथ शुगर भी कंट्रोल कर सकता है काला चना, जानिए इसके अद्भुत लाभ

भारतीय भोजन में चने को कई तरह से शामिल किया जा सकता है। अगर आप इसे हेल्दी तरीके से पकाती हैं, तो ये आपको कई स्वास्थ्य लाभ दे सकता है।
Kala-chana-benefits
काले चने में शामिल हैं सेहत के कई राज। चित्र शटरस्टॉक
निशा कपूर Published: 8 Sep 2022, 11:00 pm IST
  • 150

चने भारतीय भोजन का अनिवार्य हिस्सा हैं। चने कई रंगों में जैसे :- हरे, भूरे, लाल और काले हो सकते हैं। चने के रंगों में ये अंतर चने की किस्म और प्रकार के कारण होता है। चना किसी भी किस्म का हो लाभकारी ही होता है। लेकिन, सेहत और स्वास्थ्य के नजरिए से काले चने को अधिक गुणकारी माना जाता है। ये न केवल वेट लॉस में आपकी मदद कर सकता है, बल्कि डायबिटी भी कंट्रोल कर सकता है।

जानिए आपके समग्र स्वास्थ्य के लिए काले चने के लाभ

1. ब्लड शुगर को करे नियंत्रित

डायबिटीज के मरीजों के लिए सबसे जरूरी होता है अपने ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखना। ऐसे में काले चने का सेवन काफी मददगार हो सकता है। इस बात को आईसीआरआईएसटी (International Crops Research Institute for the Semi-Arid Tropics) द्वारा काले चने पर की गयी रिसर्च में स्पष्ट रूप से स्वीकार किया गया है।

moong dal
काले चने ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखते हैं। चित्र शटरस्टॉक

रिसर्च में जिक्र मिलता है कि काले चने में स्टार्च के साथ-साथ ऐमिलोज नाम का एक खास तत्व पाया जाता है, जो लिए गए खाद्य से ब्लड में शुगर के मिलने की प्रक्रिया को धीमा कर सकता है। साथ ही यह कुछ हद तक इंसुलिन की सक्रियता को बढ़ाने का भी कार्य भी करता है। इस वजह से यह टाइप-2 डायबिटीज से ग्रस्त रोगियों के ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद कर सकता है।

2 पाचन को रखता है दुरूस्त

काले चने का सेवन पाचन स्वास्थ्य को बनाए रखने में भी मददगार है। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इनफार्मेशन) पर प्रकाशित PubMed Central द्वारा की गयी रिसर्च में इस बात का जिक्र मिलता है कि चने में फाइबर मौजूद होता है, जो पाचन स्वास्थ्य को बढ़ावा देने का काम कर सकता है। साथ ही यह मलत्याग की प्रक्रिया को भी आसान बनाता है।

3. कैंसर से करता है बचाव

काला चना कैंसर जैसे गंभीर रोग से बचाव करने में भी काफी लाभकारी है। इसके लिए काले चने में मौजूद बायोकनिन-ए, लायकोपिन, सैपोनिंस और ब्यूरेट जैसे तत्व अहम माने जाते हैं। इसमें से ब्यूरेट मुख्य रूप से कोलोरेक्टल कैंसर (आंतों का कैंसर) से बचाव में सहायता कर सकता है। काले चने में मौजूद लाइकोपेन प्रोस्टेट कैंसर (पुरुष स्पर्म ग्रंथि का कैंसर) और बायोकनिन-ए पेट के कैंसर से बचाव का कार्य कर सकता है।

4. हृदय को बनाए स्वस्थ और कोलेस्ट्रोल करे कम

कोलेस्ट्रोल की अधिकता हृदय स्वास्थ्य के लिए घातक मानी जाती है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित चने से संबंधित शोध के अनुसार, बढ़े हुए कोलेस्ट्रोल को कम कर हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए भी काला चना फायदेमंद साबित हो सकता है।

1
हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए काला चना है फायदेमंद। चित्र शटरस्टॉक

5. एनीमिया को करे दूर

एनीमिया (खून की कमी) की परेशानी का कारण आयरन की कमी को माना जाता है। वहीं काला चना आयरन का अच्छा स्रोत माना जाता है। ऐसे में आयरन की कमी को पूरा कर एनीमिया की परेशानी से कुछ हद तक राहत पायी जा सकती है।

अब जानिए काले चने के सेवन का हेल्दी तरीका

भारत में चाट सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला स्नैक्स है। तो क्यों न एक हेल्दी और टेस्टी चाट आप अपने घर में भी बनाकर इसका आनंद लें। आज हम बनाएंगे काले चने की स्वादिष्ट चाट जिसे आलू, मसाले और नींबू का रस छिड़क कर तैयार किया जाता है।

काले चने की स्वादिष्ट चाट

सामग्री: 1 कप काला चना (4-5 घंटे भीगा हुआ), 1/4 कप धनिया , बारीक कटी हुई हरी मिर्च 1, बारीक कटा हुआ प्याज 1 कप, उबला-कटा हुआ आलू 1 कप, नमक स्वादानुसार, चाट मसाला 2 टी स्पून, भूना पिसा जीरा 1 टी स्पून, नींबू का रस आवश्यकतानुसार

काले चने महिलाओं की सेहत के लिए बहुत जरूरी हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

चाट बनाने की वि​धि

  • चनों को धोकर ताजे पानी में उबाल लें।
  • पानी निकालकर ठंडा कर लें।
  • चने ठंडे होने के बाद सभी सामग्री (धनिया, प्याज, आलू, मिर्च) को उसमें मिलाए।
  • फिर इस मिश्रण में सभी मसालें (अपने स्वादानुसार) डालें।
  • अंत में नींबू का रस मिलाकर अच्छे से मिक्स करें और मजेदार चाट का आंनद लें।

इस तरह भी कर सकती हैं काले चने का सेवन

1. काले चने को रातभर भोगोकर सुबह नाश्ते के लिए प्रयोग किया जा सकता है।
2. सुबह या शाम के नाश्ते में अंकुरित या भीगे चने की चाट को शामिल किया जा सकता है।
3. भीगे हुए चने को हल्के तेल में फ्राई करके भी इसे नाश्ते के रूप में उपयोग में लाया जा सकता है।
4. शाम के स्नैक्स के तौर पर भुने हुए काले चने को इस्तेमाल कर सकते हैं।
5. काले चने की रसेदार सब्जी भी बनाकर इसे दोपहर या रात के आहार में खाया जा सकता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

यह भी पढ़े- अगर प्रीडायबिटिक हैं तो ये 3 एक्सरसाइज़ कम कर सकती हैं आपका डायबिटीज़ का जोखिम

  • 150
लेखक के बारे में

देसी फूड, देसी स्टाइल, प्रोग्रेसिव सोच, खूब घूमना और सफर में कुछ अच्छी किताबें पढ़ना, यही है निशा का स्वैग। ...और पढ़ें

अगला लेख