वैलनेस
स्टोर

हमारे पास हैं आपकी नियमित चाय में स्‍वाद और सेहत घोलने के 8 नायाब तरीके

Updated on: 21 May 2021, 20:01pm IST
चाय का हर घूंट अपना एक अलग स्‍वाद, अलग अहसास लेकर आता है। अपने लिए चाय खुद बनाने की आदत डालिए, बाकी सेहत का फॉर्मूला हम आपको दे रहे हैं।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 82 Likes
अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस 2021 : अपनी चाय में सेहत भी घोलिये. चित्र : शटरस्टॉक

विश्व भर में चाय एक लोकप्रिय पेय है, किंतु भारतीयों की सुबह बिना चाय के नहीं होती। यह हमारे लिए जीवन का एक अभिन्न अंग है। चाय एक ऐसा पेय है जो गरीब से लेकर अमीर तक सबको पसंद है और सबकी पहुंच में भी है।

पिछले कुछ सालों में चाय की लोकप्रियता भारत में काफी बढ़ी है। 2007 में टी बोर्ड ऑफ इंडिया द्वारा किए गए अध्ययन के अनुसार, भारत में उत्पादित कुल चाय का लगभग 80% घरेलू आबादी द्वारा उपभोग किया जाता है। साथ ही, चाय, पानी के बाद दुनिया में दूसरा सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला पेय है।

अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस 2021

चाय के व्यापार से श्रमिकों और किसानों पर कितना प्रभाव पड़ा है, इस पर प्रकाश डालने के लिए पूरे विश्व में अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस यानी इंटरनेशनल टी डे (International Tea Day) के रूप में मनाया जाता है। विश्व चाय उद्योग में एशियाई देशों की प्रगति को देखते हुए, संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 21 मई को अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस के रूप में घोषित किया था।

वर्ष 2019 में, संयुक्त राष्ट्र महासभा ने प्रतिवर्ष 21 मई को अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस मनाने का निर्णय लिया।

अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस का महत्व

अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस का लक्ष्य दुनिया भर में चाय के लंबे इतिहास, सांस्कृतिक और आर्थिक महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। दिन का उद्देश्य स्थायी चाय उत्पादन और खपत के समर्थन में पहल करने के लिए सामुहिक कार्यों को बढ़ावा देना और पोषण करना है। साथ ही भूख और गरीबी के खिलाफ लड़ाई में चाय की प्रासंगिकता के बारे में जागरूकता बढ़ाना है।

हम आपके लिए लाएं हैं कुछ स्वास्थ्यप्रद चाय, जो आपको स्वाद और सेहत दोनों प्रदान करेंगी। चित्र : शटरस्टॉक

बीस हजार तरह की चाय

आपको जानकार हैरानी होगी कि दुनिया भर में चाय के लगभग 20 हज़ार से ज्यादा प्रकार है। मगर भारत में ज़्यादातर लोग दूध वाली चाय पीना पसंद करते हैं परंतु ये उतनी स्वास्थ्यवर्धक नहीं होती है। तो क्या करें? चाय पीना तो हम नहीं छोड़ सकते हैं, मगर आप चिंता न करें क्योंकि हम आपके लिए लाएं हैं कुछ स्वास्थ्यप्रद चाय, जो आपको स्वाद और सेहत दोनों प्रदान करेंगी।

1. ग्रीन टी

ये चाय की पत्तियां सबसे कम ऑक्सीकृत होती हैं और इसीलिए इनसे बनने वाली चाय का रंग हल्का होता है। सभी चायों में, इसमें एंटीऑक्सिडेंट की उच्चतम सांद्रता होती है। यह चाय आपके पाचन तंत्र से लेकर फेफड़ों तक सभी के लिए अच्छी है।

2. अदरक की चाय

सुबह की शुरुआत करने का सबसे अच्छा तरीका है अदरक की चाय पीना! यह एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है, जो सूजन को कम कर सकता है और आपके दिल को स्वस्थ रख सकता है। इसके कई अन्य लाभ हैं-

दर्द को प्राकृतिक रूप से कम करना
घबराहट को शांत करता है
कब्ज दूर करना

3. नींबू की चाय

नींबू की चाय बनाने में आसान और स्वादिष्ट होती है। यह आपकी रक्त वाहिकाओं से पट्टिका को हटाती है। साथ ही, दिल को स्वस्थ रखने में मदद करती है। यदि आप अवसाद या एंग्जायटी से पीड़ित हैं या आपका दिन अच्छा नहीं जा रहा है, तो यह मूड में भी सुधार करती है।

चाय में स्‍वाद और सेहत घोलने के कुछ नायाब तरीके । चित्र : शटरस्‍टॉक

चाय में स्‍वाद और सेहत घोलने के कुछ नायाब तरीके

  1. पानी में चाय की पत्‍ती डालने के बाद ज्‍यादा न उबालें। इससे फूड पाइप का कैंसर हो सकता है।
  2. दूध वाली भूरी चाय की बजाए, कभी-कभी काली चाय को अपनी सुबह में जगह दें। यह आपको पाचन संबंधी समस्याओं से बचाएगी।
  3. उबलते हुए पानी में चाय डालने से पहले तुलसी, अदरक, इलायची और दालचीनी जैसी औषधीय जड़ी-बूटियां मिलाएं। ये आपको मौसमी संक्रमण से बचाएंगी।
  4. पीरियड्स होने पर चाय में एक टुकड़ा अदरक डालें। यह आपको पेट में ऐंठन से छुटकारा दिलाएगी।
  5. डायबिटीज और शुष्‍क त्‍वचा से बचना चाहती हैं, तो चाय में चीनी मिलाने की आदत छोड़ दें। एक महीने में ही आपको इसका असर नजर आने लगेगा।
  6. मीठे की शौकीन हैं, तो चाय में शहद या गुड़ मिलाएं। मगर चाय पकने के बाद। ये आपका शुगर लेवल नहीं बढ़ने देगा और त्‍वचा में भी निखार लाएगा।
  7. पेट में दर्द या गैस की समस्‍या हो तो चाय में थोड़ी सी अजवाइन मिलाएं। ये एक अलग तरह के स्‍वाद के साथ आपको पेट दर्द से राहत भी देगी।
  8. और सबसे जरूरी बात, चाय के लिए छोटे कप खरीदें। चाय को इत्‍मीनान से पिएं। हर घूंट में इसका अलग स्‍वाद होगा।

 

यह भी पढ़ें :एंटीऑक्‍सीटेंड के सेवन का सबसे आसान तरीका है चटनियां, जानिए कुछ खास चटनियां और उनके फायदे

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।