अपने आहार में शामिल करें ये 5 तरह का बाजरा और सेहत को दें ढेर सारे स्वास्थ्य लाभ

Published on: 8 August 2021, 12:00 pm IST

क्या आप जानती हैं कि बहुत सारे फैंसी ब्रेकफास्ट असल में बाजारा से ही बनाए जाते हैं। आज जानते हैं बाजरा की कुछ खास किस्मों के बारे में।

Bajra high fibre source hai
लूटून नहीं होने और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होने के कारण बाजरा स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है। चित्र: शटरस्टॉक

बाजरा खाने के बहुत फायदे हैं। आज तक आपने बाजरे के बारे में तो बहुत सुना होगा लेकिन बाजरे भी कई प्रकार होते है जिनका सेवन हेल्दी है। यह एक अनाज है, जो काफी मात्रा में भारत में उगाया जाता है। इसको खाने के बहुत से हेल्थ बेनिफिट्स भी हैं।

पोषक तत्वों की खान है बाजरा

बाजरे में पोषण और डाइटरी फाइबर की काफी मात्रा होती है। इसमें प्रोटीन व फाइटोकेमिकल्स भी होते हैं। बाजरे में 7-12% प्रोटीन, 2-5% वसा, 65-75% कार्बोहाइड्रेट और 15-20% आहार फाइबर होते हैं। अन्य अनाजों के मुकाबले इसमें अमीनो एसिड की भी अच्छी मात्रा होती है।

शोध के मुताबिक

एनसीबीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार बाजरे के फेनोलिक गुण, एंटीऑक्सीडेंट एक्टिव होते हैं। बाजरे के दानों में फाइटोकेमिकल्स की मौजूदगी शरीर में कोलेस्ट्रॉल और फाइटेट्स को कम करके हमारी हेल्थ पर पॉजिटिव प्रभाव डालती है।

यहां हैं बाजरे की कुछ खास किस्में जिन्हें आहार में शामिल करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है

ragi me calcium achcha hota hai

इस बाजरे में कैल्शियम की अच्छी मात्रा मिलती है।चित्र : शटरस्टॉक

1 फिंगर बाजरा (Ragi )

ये एक स्पेशल टाइप का बाजरा होता है, जिसको रागी के नाम से जाना जाता है। हम इसको गेहूं, चावल के स्थान पर उपयोग कर सकते हैं। इसमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन और अमीनो एसिड उपलब्ध होता है।

ये बाजरा बच्चों के मानसिक विकास के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होता है। वैज्ञानिकों के अनुसार बताया गया है, कि इस बाजरे में कैल्शियम और अन्य खनिज पदार्थों की भरपूर मात्रा उपलब्ध होती है। जो कि हमारे शरीर में एंटी ऑक्सीडेंट की गतिविधियों को बनाए रखी है।

यह भी पढ़ें-एक चीज जो आपको इस मौसम में बिल्कुल नहीं खानी चाहिए, जानिए क्या है वह

2 ज्वार या सोर्घुम बाजरा (Sorghum vulgare)

यह बाजरा रोटी बनाने के लिए काफी ज्यादा प्रचलित है। भारत के अलग-अलग राज्यों में काफी ज्यादा मात्रा में उपयोग किया जाता है। इस बाजरे में सभी तरह के प्रोटीन पदार्थ ,आयरन और फाइबर मौजूद होते हैं। जो  कि हमारे कोलेस्ट्रोल को कम करने में मदद करता है।

आपको बता दें, कि ब्लूबेरी और अनार की तुलना में ज्वार में कई ज्यादा एंटीऑक्सीडेंट होता है। यह कैलोरी का एक भरपूर स्रोत है। अगर आप इस द्वारका नियमित रूप से सेवन करते हैं तो यह आपके मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में भी मदद करता है।

3 पर्ल बाजरा 

यह भी एक स्पेशल किस्म का बाजरा है, जिसको नियमित रूप से हर एक क्षेत्र में खाया जाता है। इसका मुख्य रूप से इस्तेमाल रोटी बनाने के लिए किया जाता है। इसमें इसमें अच्छी मात्रा में आयरन, फाइबर, प्रोटीन और मैग्नीशियम के साथ-साथ कैल्शियम भी मौजूद होता है,जो कि हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है।

4 अमरनाथ बाजरा 

लेडीज़ क्या आपको पता है, जितने भी अमरनाथ ओट्स आते हैं वह बाजरे के माध्यम से तैयार किए जाते हैं। ये एक विशेष प्रकार का बाजरा होता है, जिसमें मौजूद प्रोटीन और फाइबर सेहत के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। यह हमारे शरीर में लगने वाली चोटों के घाव भरने में काफी ज्यादा कार्य करते हैं। साथ ही हमारे कोलेस्ट्रॉल लेवल को भी बनाए रखते हैं। हमारे हृदय में रक्त संचार के माध्यम को भी आसान करते हैं।

यह भी पढ़ें-कॉफी और चॉकलेट में से आपकी सेहत के लिए कौन सी चीज है ज्यादा बेहतर, आइए पता करते हैं

little bajra is good for weight loss
छोटा बाजरा वजन को कंट्रोल करने में भी काफी मददगार होता है।चित्र-शटरस्टॉक

5 छोटा बाजरा

जैसा कि आपके नाम से ही समझ सकते हैं, इसका नाम है छोटा बाजरा। जिसको हम कुटकी, मोरैया के के नाम से भी जानते हैं। यह विटामिन बी, कैल्शियम आयरन, जिंक और पोटेशियम का एक अच्छा स्रोत है। जो कि अपने भारत में एक बड़े पैमाने पर उपयोग किया जाता है। यह वजन को कंट्रोल करने में भी काफी मददगार होता है।

इस तरीके से आप जान चुकी हैं, कि वह बाजरे की कौन से प्रकार है जिसका सेवन करके आप अपनी स्वास्थ्य संबंधी बीमारियों को कम कर सकती हैं और एक स्वस्थ जीवन व्यतीत कर सकती हैं।

मोनिका अग्रवाल मोनिका अग्रवाल

स्वतंत्र लेखिका-पत्रकार मोनिका अग्रवाल ब्यूटी, फिटनेस और स्वास्थ्य संबंधी विषयों पर लगातार काम कर रहीं हैं। अपने खाली समय में बैडमिंटन खेलना और साहित्य पढ़ना पसंद करती हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें