डायबिटीज में होती है मीठे की क्रेविंग, तो हेल्दी ऑप्शन हो सकती हैं रागी कुकीज, जानिए कैसे बनानी हैं

डायबिटीज की स्थिति में भी डाइटिशियन रागी का सेवन करने की सलाह देते हैं। साथ ही इसके पोषक तत्व आपकी समग्र सेहत के लिए फायदेमंद रहेंगे। तो जरूर ट्राई करें रागी कूकीज की स्वादिष्ट रेसिपी।

recipe of ragi cookies
यहां है रागी कुकीज़ की हेल्दी रेसिपी। चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Published on: 21 Feb 2023, 08:00 am IST
  • 124

रागी एक प्रकार का अनाज है जिसे आमतौर पर साउथ इंडियन लोग काफी ज्यादा पसंद करते हैं। वहीं कई अफ्रीकन कंट्री में भी लोग इसे खाते हैं। पोषक तत्वों से भरपूर रागी अपने गुणों के लिए काफी ज्यादा प्रचलित होता जा रहा है। खासकर वेट लॉस करने वाले लोग डाइट प्लान कर रहे लोग इस अनाज को बेहद पसंद करते हैं। वहीं डायबिटीज की स्थिति में भी डाइटिशियन रागी का सेवन करने की सलाह देते हैं। रागी से अलग-अलग तरह के व्यंजन बनाकर उन्हें अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं। ऐसे में आज हेल्थशॉट्स लाया है आपके लिए रागी से बने हेल्दी स्नैक (healthy snacks) की रेसिपी।

रागी कुकीज (ragi cookies) स्वाद में लाजवाब होने के साथ ही आपकी सेहत के लिए भी फायदेमंद रहेगी। इसे स्नैक्स में इंजॉय कर सकती हैं, साथ ही ये बच्चों की सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद होती है। तो चलिए जानते हैं रागी कुकीज की स्वादिष्ट एवं हेल्दी रेसिपी (ragi cookies recipe)।

यह भी पढ़ें :  टेस्ट के साथ हेल्थ भी देंगी पिज्जा की ये 2 हेल्दी रेसिपीज, जानिए कैसे बनाना है बीटरूट और ब्रोकली का स्पेशल पिज्जा

जाने क्यों खास है रागी (benefits of ragi)

फूड डेटा सेंट्रल द्वारा रागी को लेकर प्रकाशित एक डेटा के अनुसार रागी प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, सोडियम, फाइबर और विभिन्न प्रकार के मिनरल्स का एक बेहतरीन स्रोत है। इसके साथ ही इसमें कैल्शियम और पोटेशियम की भरपूर मात्रा पाई जाती है। वहीं रागी एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है और ग्लूटेन फ्री होता है। इसका नियमित सेवन डायबिटीज की स्थिति में फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि इसमें मैग्नीशियम की मात्रा मौजूद होती है, जो इन्सुलिन रेजिस्टेंस को नियंत्रित रखती है और ब्लड शुगर लेवल को भी मेंटेन रखने में मदद करती है।

पोषक तत्वों से भरपूर है रागी। चित्र : शटरस्टॉक।

रागी में मौजूद कैल्शियम हड्डियों एवं दांतों की सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं। इसके साथ ही फाइबर आपके पाचन क्रिया को संतुलित रखता है। साथ ही यह कब्ज, अपच, इत्यादि जैसी पेट से जुड़ी समस्याओं में भी फायदेमंद होता है। इसका सेवन आपको लंबे समय तक संतुष्ट रखता है, जिसकी वजह से आप ओवरईटिंग नहीं करती और आपका वजन नियंत्रित रहता है।

यह भी पढ़ें : नाक के पास बन रही फाइन लाइंस दिखा रही हैं ओवरएज, तो करें ये फेशियल मसाज

रागी कुकीज बनाने के लिए आपको चाहिए

रागी का आटा – 1 कप
खांड (चीनी का हेल्दी विकल्प) – 1/4 कप
शहद – 4 से 5 चम्मच
बादाम (छोटे छोटे टुकड़ों में कटे हुए) – 1/4 कप
छोटी इलायची (पाउडर) – 1/2 चम्मच
बेकिंग पाउडर – 1 चम्मच
अंडा (वैकल्पिक) – 1 (अच्छी तरह से फैटा हुआ)
नमक – 1/2 चम्मच
ऑलिव ऑयल – 4 चम्मच

इस तरह तैयार करें

एक पैन को मध्यम आंच पर चढ़ाएं, उसमे रागी का आटा, बादाम और इलायची पाउडर डालें और सभी को अच्छी तरह से ड्राई रोस्ट करें।

इधर एक बाउल में अंडा लें और उसे अच्छे से फेंट लें। यदि आप अंडा नहीं खाती तो अंडे को स्किप कर सकती हैं।

अब उस बाउल में रोस्ट क्या हुआ रागी का आटा और बादाम डालें ऊपर से खांड और शहद डाल दें।

सभी को एक साथ अच्छी तरह मिला लें। फिर हल्का सा नमक और बेकिंग पाउडर डाल कर मिलाएं।

अब ऊपर से दो चम्मच ऑलिव ऑयल डालें और यदि कंसिस्टेंसी ज्यादा गाढ़ी है, तो इसमें हल्का सा पानी मिला लें। फिर सभी को 3 से 4 मिनट तक अच्छी तरह से फेटें।

आपके कुकीज का डो बनकर तैयार है, इसे ढककर छोड़ दें।

कुछ देर बाद तैयार किये गए डो से छोटे छोटे गोल आकर की लोई बनाएं।

अब एक ट्रे लें उसमे ऑलिव ऑइल लगा दें। और इन लोई को उसपर रखें और हल्के हाथ से उसे दबा कर चपटा कर दें।

घर पर बनी कुकीज सिर्फ आपके लिए ही नहीं, बल्कि आपकी बच्चों के लिए भी फायदेमंद है। चित्र-शटरस्टॉक।

बेक करने की विधि

यदि आपके पास ऑवन है तो उसे 5 से 7 मिनट तक प्री हिट कर लें। फिर कुकीज के ट्रे को अंदर रखकर 8 से 10 मिनट तक अच्छी तरह से बेक होने दें।

यदि नहीं है तो कुकर के नीचे नमक डाल दें और उसे माध्यम आंच पर गर्म होने दें।

फिर कुकर में नमक के ऊपर बर्तन रखने वाला स्टैंड रखें और उसके ऊपर कुकीज वाले ट्रे या प्लेट को रख दें।

कुकर के ढक्कन को बंद नहीं करना है, केवल कुकर को ऊपर से ढक दें और 15 मिनट तक कुकीज को बेक होने दें।

15 मिनट बाद इसे निकालें और सर्व करें। इसे आप एयर टाइट कंटेनर में बंद करके रख सकती हैं।

इस हेल्दी रागी कुकीज को स्नैक्स में इंजॉय करें।

यह भी पढ़ें : इस बार व्रत में साबुदाना नहीं बनाएं कुट्टू के दानों की खिचड़ी, नोट कीजिए रेसिपी

  • 124
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें