ऐप में पढ़ें

सांभर वड़ा या इडली सांभर, दोनों में से किसी एक को चुनना हो तो क्या है ज्यादा हेल्दी नाश्ता

Updated on: 30 November 2021, 13:54pm IST
दक्षिण भारतीय व्यंजनों की खुशबू भूख बढ़ा देती है। इनके साथ परोसी जाने वाली सांभर और चटनियां स्वाद ही नहीं सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद हैं। पर अगर इडली और वड़ा में से आपको एक को चुनना हो, तो जानिए कौन है ज्यादा बेहतर।
Idli vs vada
आप की सेहत के लिए इडली और सांभर वडा में बेहतर कौन सा है ? चित्र : शटरस्टॉक

अन्य देशों के मुकाबले भारतीय खानपान काफी अलग है। यहां हर 500 किलोमीटर में लोगों के खानपान की आदतें बदल जाती हैं, स्वाद बदल जाता है। लेकिन जब बात साउथ इंडियन फूड की आती है, तो यह भारत के लगभग हर राज्य में पसंद किया जाता है। इसके पीछे का मुख्य कारण इसका स्वाद तो है ही, इसके अलावा स्वास्थ्य से जुड़े अनेक फायदे भी हैं। ज्यादातर साउथ इंडियन फूड में सांभर या साबंर सबसे कॉमन करी है। जो पौष्टिकता और स्वाद से भरपूर होता है। उसमें कई प्रकार की सब्जियों व दालों का इस्तेमाल किया जाता है।

लेकिन जब बात सांभर वड़ा और इडली सांभर की आती है, तो लोगों को स्वास्थ्य के लिहाज से चयन करने में दुविधा उत्पन्न होती है, कि आखिर इनमें से स्वस्थ कौन सा है? अगर आपको भी यह दुविधा है तो आज हम आपकी यह दुविधा दूर करने वाले हैं, इसलिए हमारे साथ अंत तक बने रहे।

चाहिए पहले सांभर से मिलने वाले लाभों पर नज़र डालते हैं 

प्रोटीन

सांभर बनाते समय दाल का अच्छी मात्रा में उपयोग किया जाता है, जिससे यह प्रोटीन रिच हो जाता है। प्रोटीन मानव शरीर की टिशूज को बनाने और उन्हें रिपेयर करने का काम करता है। इसके अलावा एंजाइम्स, हॉर्मोन्स को बनाने और हड्डियों, मसल्स, कार्टिलेज व स्किन को हेल्दी बनाए रखने में भी मदद करता है। 

एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज

स्वादिष्ट सांभर में एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज के कई तत्व मौजूद होते हैं। इसमें इस्तेमाल किया गया कड़ी पत्ता, अमचूर पाउडर,लाल मिर्च, राई, हल्दी जैसी चीजें ऐंटी ऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज के लिए जानी जाती हैं। यह प्रॉपर्टी शरीर के फ्री रैडिकल्स को बाहर फेंकने में मदद करती है।

पाचन तंत्र में मददगार

हमारे पाचन तंत्र को दुरुस्त करने के लिए सांभर अहम भूमिका निभा सकता है। इसमें सहजन (Drumstick)  का इस्तेमाल होता है। अगर आप पेट से जुड़ी किसी समस्या से जूझ रहे हैं, तो सांभर आपके लिए फायदेमंद है। इसके सेवन से कब्ज जैसी समस्याएं दूर हो जाती है।

gut health ke liye drumstick
सांभर में सहजन का इस्तेमाल होता है, जो पेट के लिए अच्छा है । चित्र ; शटरस्टॉक

कैंसर 

सांभर में इस्तेमाल किए जाने वाले मसाले कैंसर को रोक सकते हैं। टाटा मेमोरियल इंस्टीट्यूट मुंबई के कैंसर रिसर्च इंस्टीट्यूट ने भारतीय फूड में हल्दी की मौजूदगी पर पर अध्ययन किया। शोध के अनुसार यदि सांभर को समग्र रूप से लेने के बजाय, अगर हम इसे घटकों में विभाजित करते हैं, तो हमें इसमें इस्‍तेमाल की जाने वाली सभी सामग्रियों के कई लाभ मिलते है।

अब बड़ा सवाल कि सांभर वडा और इडली सांभर दोनो में से क्या बेहतर है ?

सांभर इडली 

इडली आम तौर पर चावल और उड़द दाल से बनाई जाती। यह दोनो ही प्रोटीन का अच्छा स्रोत है। इसे भाप यानी स्टीम पर पकाया जाता है। इसलिए यह बढ़ते कोलेस्ट्रॉल लेवल को नियंत्रित कर सकती है। 

इडली प्रोटीन का अच्छा स्रोत है।चित्र- शटरस्टॉक।

इसके अलावा इडली में कार्बोहाइड्रेट भी पाया जाता है, जो आपके शरीर के लिए कुछ मामलों में फायदेमंद है। एक इडली में 33 कैलरी होती हैं, जिसमें कार्बोहाइड्रेट 28, प्रोटीन में 4 और बाकी 1 हिस्सा फैट का होता है।

सांभर वड़ा 

अगर वडा की बात करें, तो बड़ा भी उड़द की दाल से बनाया जाता है। हालांकि इसको बनाने के लिए डीप फ्राई किया जाता है। एक वड़ा में अनुमानत: 97 कैलोरी होती हैं। जिसमें से कार्बोहाइड्रेट में 36 कैलोरी होती है, प्रोटीन में 14 कैलोरी होती है और शेष कैलोरी फैट से होती है, जो 47 कैलोरी होती हैं। कोई भी फूड जो डीप फ्राई किया गया हो वह स्वास्थ के लिए कम लाभदायक होता है।

इसलिए अगर परफेक्ट हेल्दी नाश्ते की बात आती है, तो इडली, वड़ा से बेहतर है। अब आप तय कीजिए कि आज आप अपने लिए क्या बनाने वाली हैं! 

यह भी पढ़े : क्या वेट लॉस करने पर हेयर लॉस भी होने लगता है? चलिए पता करते हैं

अक्षांश कुलश्रेष्ठ अक्षांश कुलश्रेष्ठ

सेहत, तंदुरुस्ती और सौंदर्य के लिए कुछ नई जानकारियों की खोज में