अगर आपकी हेल्दी डाइट का हिस्सा है किशमिश, तो जानिए इसके सेवन का सही तरीका

Published on: 3 December 2021, 12:39 pm IST

ड्राय फ्रूट्स की लंबी लिस्ट में किशमिश का महत्वपूर्ण स्थान है। लेकिन जानिए कि साबुत किशमिश या उसके पानी में से आपकी सेहत के लिए क्या फायदेमंद है।

Raisins vs raisin water
भारतीय घरों में किशमिश के पानी यानी किशमीश को भिगो कर सेवन किया जाता है। चित्र : शटरस्टॉक

किशमिश को आपने स्वादिष्ट कुकीज़, ब्रेड मफिन में बेक करके या खीर में ज़रूर खाया होगा। अपने छोटे आकार के बावजूद, किशमिश ऊर्जा से भरपूर होती है।  साथ ही इसमें फाइबर, विटामिन और खनिज भी होते हैं। इसके स्वाद और गुणों के कारण किशमिश को कुदरती कैंडी कहा जा सकता है। यह शुगर का एक ऐसा नेचुरल सोर्स है जिसमें कोई भी एडिटिव नहीं होता है। 

अगर स्वास्थ्य के लिहाज से बात करें तो यह काफी फायदेमंद होती है। यूएस डिपार्टमेंट ऑफ़  हेल्थ एंड ह्यूमन सर्विस के अनुसार 1 कप किश्मिश में 3.3 ग्राम फाइबर होते है। वहीं महर्षि आयुर्वेद चिकित्सकों की परिषद ने आयुर्वेद में किशमिश को अत्यधिक लाभकारी आहार माना है।  किशमिश में कई औषधीय गुण होते हैं, जो कुछ पहलुओं पर सबसे अच्छा काम करती है। इनमें  फेफड़े, मस्तिष्क, गला, आंत और पाचन संबंधी परेशानियां शामिल हैं। 

भारतीय घरों में किशमिश के पानी यानी किशमीश को भिगो कर सेवन किया जाता है। कई लोग इसे साबुत किशमिश खाने से ज्यादा फायदेमंद मानते हैं। तो क्या सच में साबुत किशमिश की तुलना में उसका पानी ज्यादा फायदेमंद है? 

भीगी हुई किशमिश पोषक तत्‍वों में डबल होती है। चित्र: शटरस्‍टॉक
भीगी हुई किशमिश पोषक तत्‍वों में डबल होती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

क्या होता है किशमिश का पानी ?

किशमिश का पानी रात भर किशमिश को भिगोकर, फिर तरल को छानकर और गर्म करके बनाया जाता है। यह पानी आपके पाचन को बढ़ाने, टॉक्सिंस को बाहर निकालने और विभिन्न प्रकार के महत्वपूर्ण पोषक तत्वों और एंटीऑक्सिडेंट की आपूर्ति करने के लिए जाना जाता है। इसके अलावा इसको तैयार करना काफी आसान होता है। 

किशमिश का पानी आपके शरीर में आयरन और एंटीऑक्सिडेंट के स्तर को बढ़ा सकता है।  ऐसा इसलिए है क्योंकि यह पानी किशमिश यानी सूखे अंगूर से बना होता है। आयुर्वेदा में यह वात दोष को शांत करने लिए काम करता है।   

विशेष रूप से, किशमिश के पानी से आपका वात दोष जो एसिडिटी और पेट के अन्य परेशानियों के कारण होता है, उसे ठीक किया जा सकता है। पित्त और उसके उप-दोषों को दूर करने के लिए  किशमिश लाभकारी होता है।  

जानिए किशमिश के पानी के फायदे 

1 पाचन को रखे स्वस्थ  

यदि किसी व्यक्ति को पेट से जुड़ी समस्या जैसे गैस और कब्ज की शिकायत हो तो वह सुबह खाली पेट किशमिश के पानी का सेवन कर अपने पाचन समस्या को दूर कर सकते हैं।  किशमिश के पानी से आपका पाचन तंत्र स्वस्थ रूप से काम करता है। यह मेटाबोलिस्म के स्तर को बढ़ावा देता है जिससे गैस और कब्ज की समस्या दूर होती है। 

2 इम्युनिटी को करे मजबूत 

इम्युनिटी कमज़ोर होने की वजह से आपको कई बीमारियां घेर लेती हैं। ऐसे में किशमिश आपके बेहद काम आ सकता है। दरअसल किशमिश में विटामिन सी और बी दोनों पाए जाते हैं। इसके अलावा किशमिश में एंटीऑक्सीडेंट गुण भी रहते हैं जो शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का काम करते हैं।

aayal masaaj aapake imyoonitee sistam ko badhaava dene ke lie bhee jaanee jaatee hai
किशमिश में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो इम्युनिटी बूस्ट करते हैं। चित्र : शटरस्टॉक

3 त्वचा को बनाए चमकदार 

आपकी त्वचा के लिए किशमिश का पानी फायदेमंद होता है क्योंकि यह आपके शरीर से सभी हानिकारक विषाक्त पदार्थ बाहर निकाल देता है। इससे आपका खून साफ होता है और त्वचा चमकदार और खूबसूरत रहती है। 

साबुत किशमिश या किशमिश का पानी, दोनो में क्या बेहतर है ?

जैसा की हमने बताया किशमिश कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करती है। लेकिन एक बार में किशमिश के सभी पोषण लाभों को  निकालना कठिन हो सकता है। इसलिए, जब आप उन्हें पानी में भिगोते हैं, तो आप पोषक तत्वों की जैव उपलब्धता को बढ़ाते हैं। पानी में भिगोई हुई किशमिश के फायदे साबुत किशमिश के फायदों से ज्यादा होती हैं।

यह भी पढ़े : सर्दियों में गुड़ और सोंठ के कॉन्बिनेशन से बनाएं फायदेमंद और स्वादिष्ट लड्डू

अक्षांश कुलश्रेष्ठ अक्षांश कुलश्रेष्ठ

सेहत, तंदुरुस्ती और सौंदर्य के लिए कुछ नई जानकारियों की खोज में

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें