वसंत पंचमी 2024 : सेहत, सौंदर्य और स्वाद में भी बहुत खास हैं ये 5 पीले व्यंजन, जानिए कैसे

वसंत पंचमी में कुछ खास और नए पीले डिश ट्राई करना एक अच्छा आइडिया है। आपको ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं है हम आपको बताएंगे कुछ खास येलो फूड्स के बारे में।
सभी चित्र देखे Yaha hain vasant panchami special peele rang ke kuchh khas foods.
यहां हैं वसंत पंचमी स्पेशल पीले रंग के कुछ खास फूड्स. चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 14 Feb 2024, 08:00 am IST
  • 125

वसंत पंचमी का तैयार बड़े धूम धाम से मनाया जाता है, इस दिन विधा की देवी मां सरस्वती की पूजा की जाती है। वसंत पंचमी तिथि के बाद से वसंत ऋतु की शुरुआत हो जाती है। वहीं इस दिन पीले रंग का महत्व होता है। लोग पीले कपड़े पहनकर इस त्यौहार को मानते हैं। तो हमने सोचा क्यों न इस बार पीले खाद्य पदार्थों के साथ बसंत पंचमी को सेलिब्रेट किया जाए। ऐसे कई पीले फल, सब्जी और व्यंजन हैं, जिनका सेवन सेहत के लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है। तो चलिए इन 5 पीले व्यंजनों के साथ इस वसंत पंचमी को बनाए और भी खास (yellow color foods for Basant Panchami)।

यहां हैं वसंत पंचमी स्पेशल पीले रंग के कुछ खास फूड्स (yellow color foods for Vasant Panchami)

1. केसरी भात

केसर और चावल का मीठा कंबीनेशन बेहद फायदेमंद और स्वादिष्ट होता है। पीले रंग की इस डिश को आप वसंत पंचमी के दिन इंजॉय कर सकती हैं। पानी में केसर के कुछ धागों को भिगोकर छोड़ दें, फिर एक कप पानी लें, उसमें गुड और केसर को डाल कर अच्छे से मिला लें।

अब चावल में मात्रा अनुसार पानी डालें, इसमें केसर और गुड़ से तैयार किए गए पानी को डाल दें और चावल को अच्छी तरह से पकाएं। अब आखिर में इलायची पाउडर, काजू और किशमिश से गार्निश करें और इसे सर्व करें।

kaise banaye halwa
पोटेशियम और मैग्नीशियम रक्तचाप को नियंत्रित करता है। चित्र : एडॉबीस्टॉक

2. केसर हलवा

केसर हलवा बेहद स्वादिष्ट एवं टेस्टी होता है और वसंत पंचमी में आप इसे खुलकर एंजॉय कर सकती हैं। इसे बनाने के लिए पैन को गर्म करें उसमें घी डालें, फिर रवा को अच्छी तरह से रोस्ट कर ले। रवा रोस्ट करने पर इसमें पानी डालें और इसे अच्छी तरह से पकाएं, आखिर में गुड़ और केसर से तैयार किया गया पानी डाल दें। साथ ही इलायची पाउडर डालकर सभी को एक साथ अच्छी तरह मिला लें। कुछ देर तक पकने के बाद आपका रवा हलवा तैयार हो जाएगा, अब इसे किशमिश और पिस्ता से गार्निश कर सर्व करें।

3. टर्मरिक लाटे

एंटी इन्फ्लेमेटरी, एंटीबैक्टीरियल और एंटी फंगल प्रॉपर्टीज से युक्त हल्दी बेहद फायदेमंद होती है। साथ ही हल्दी से अच्छा पीला रंग भला किस चीज का होगा। ऐसे में हल्दी से बनी इस ड्रिंक का सेवन सेहत के लिए कमाल कर सकता है। आलमंड या किसी अन्य दूध में हल्दी, शहद और इलायची का पाउडर डालें। सभी को एक साथ अच्छी तरह से मिला लें, अब इसे एंजॉय करें। ये आपकी स्किन के लिए भी काफी कारगर साबित हो सकता है।

यह भी पढ़ें: Sunflower Seeds : इन 5 तरह से आपकी स्किन को फायदा पहुंचाते हैं सूरजमुखी के बीज

4. येलो एप्पल

येलो एप्पल सेहत के लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है। इसमें कई महत्वपूर्ण पोषक तत्व पाए जाते हैं, जैसे कि विटामिन सी। यह इम्यूनिटी को बूस्ट करता है जिससे की आपका शरीर तमाम प्रकार की बीमारी एवं संक्रमण से लड़ने के लिए तैयार रहता है। इसके अलावा यह फाइबर का एक बेहतरीन स्रोत है, जिससे की पाचन क्रिया संतुलित रहती है और आप लंबे समय तक संतुष्ट रहती हैं। इस प्रकार यह वेट मैनेजमेंट में भी मदद करते है। इतना ही नहीं इसमें पोटेशियम पाए जाते हैं, जो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करते हुए आपके हार्ट हेल्थ को बढ़ावा देते हैं।

khichdi recipe
मोनो डाइट में शामिल करें ये रेसिपी। चित्र : शटरस्टॉक

5. मूंग दाल खिचड़ी

बसंत पंचमी के अवसर पर यदि हेल्दी पीले व्यंजन की बात हो रही है, तो मूंग दाल खिचड़ी को कैसे छोड़ सकते हैं। पीले रंग की ये सुपाच्य भोजन सेहत के लिए कई रूपों में फायदेमंद होती है। चावल, मूंग दाल, हल्दी पाउडर, जीरा पाउडर और स्वादानुसार नमक डालकर इसे प्रेशर कुक करें। आखिर में घी, हींग, जीरा और लाल मिर्च का तड़का लगाएं और इसे एंजॉय करें। इसमें फाइबर की गुणवत्ता पाई जाती है जो इसे पाचन क्रिया के लिए बेहद खास बनाती हैं। इसके अलावा यह कई महत्वपूर्ण विटामिन और मिनरल्स से भरपूर होता है, जो शरीर को आवश्यक पोषण प्रदान करती हैं। यदि आप वेट लॉस डाइट पर हैं तो इसे अपनी डाइट का हिस्सा जरूर बनाएं।

यह भी पढ़ें: क्या इलेक्ट्रिक राइस कुकर का इस्तेमाल बढ़ा सकता है कैंसर का जोखिम? एक विशेषज्ञ से जानते हैं

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
  • 125
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख