और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

कुकिंग के लिए किसी भी तेल से बेहतर है देसी घी, जानिए इससे मिलने वाले 5 स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

Published on:14 April 2021, 09:00am IST
आपने अकसर अपनी दादी और नानी को कुछ खास अवसरों पर देसी घी में ही कुकिंग करते देखा होगा। पर क्‍या आप जानती हैं कि वे ऐसा क्‍यों करती थीं? नहीं, तो आगे पढ़ती रहिए।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 82 Likes
घी खाना आपके लिए बेहद फायदेमंद है। चित्र: शटरस्‍टॉक
घी खाना आपके लिए बेहद फायदेमंद है। चित्र: शटरस्‍टॉक

बचपन से ही हम सभी की मम्मी खाने के साथ घी ज़रूर खिलाती थी। कभी दाल में एक चम्मच तड़के की तरह तो कभी रोटी में लगाकर। घी खाना अच्छा तो सबको लगता है, लेकिन जैसे-जैसे हम बड़े होते हैं, तो अपने लुक्स और वज़न के प्रति कॉन्शियस होने लगते हैं। ऐसे में हम घी खाना छोड़ देते हैं। मगर आपकी जानकारी के लिए बता दें कि घी बेहद स्वास्थ्यवर्धक होता है। इसे मॉडरेशन में ज़रूर खाना चाहिए, क्योंकि ये कई बीमारियों के जोखिम को कम कर सकता है।

क्‍यों खास है देसी घी (Pure Ghee)

घी एक ऐसा फैटी एसिड है जो 250 डिग्री सेल्सियस तापमान पर गर्म होने के बाद भी अपना पोषण मूल्य नहीं खोता। इसलिए, ये खाना बनाने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। घी का उपयोग नवरात्रि (Navratri) के दौरान उपवास (Fasting) रखने में किया जा सकता है, क्योंकि इससे आपको पर्याप्त ऊर्जा तो मिलने के साथ ही सेहत भी अच्छी रहती है।

अगर आप फि‍टनेस कॉन्शियस हैं तब भी आप अपने आहार में घी शामिल कर सकती हैं। इससे स्वाद भी बढ़ेगा और सेहत भी! सिर्फ एक बड़ा चम्मच घी में

कैलोरीज – 112
शुगर – 0
फैट – 13 ग्राम
कार्ब्स – 0
विटामिन A – 12%
विटामिन E – 2%
विटामिन K – 1%

एक चम्मच देशी घी खाना आपकी सेहत के लिए फायदेमंद होता है। चित्र: शटरस्टॉक

घी विटामिन E का एक उत्कृष्ट स्रोत है। अध्ययनों से पता चला है कि विटामिन E में महत्वपूर्ण एंटीऑक्सीडेंट गुण हैं। इन्हें कैंसर, गठिया और मोतियाबिंद के खतरे को कम करने से जोड़ा गया है। ये हृदय रोग के जोखिम को कम करने में भी मदद कर सकता है।

आहार में घी शामिल करने के कई स्वास्थ्य लाभ भी हैं

1. मोटापा कम करने में मदद करे

ये लिनोलिक एसिड या सीएलए का एक महत्वपूर्ण स्रोत है। सीएलए मोटापे से निपटने में मदद कर सकता है। घी में पाया जाने वाला सीएलए वजन घटाने में मदद कर सकता है। यह कुछ लोगों में शरीर में वसा के द्रव्यमान को कम करने में भी मदद कर सकता है।

2. हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखे

हालांकि घी वसा में समृद्ध है, इसमें मोनोअनसैचुरेटेड ओमेगा -3 एस की उच्च सांद्रता है। ये स्वस्थ फैटी एसिड एक स्वस्थ हृदय और हृदय प्रणाली का समर्थन करते हैं। संतुलित आहार के साथ एक चम्मच घी का उपयोग करने से कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम किया जा सकता है।

3. लैक्टोज इन्टॉलरेंस के लिए स्वस्थ विकल्प

दूध के ठोस पदार्थों को निकालकर घी बनाया जाता है। इस वजह से, इसमें केवल लैक्टोज और कैसिइन की मात्रा होती है। जो दूध शर्करा और प्रोटीन होते हैं। जो लोग लैक्टोज इन्टॉलरेंस हैं या जिन्हें डेयरी एलर्जी है, उनके लिए घी वसा का एक अच्छा स्रोत बन सकता है।

पाचन तंत्र को दुरुस्त रखता है घी । चित्र: शटरस्‍टाॅॅक
पाचन तंत्र को दुरुस्त रखता है घी । चित्र: शटरस्‍टाॅॅक

4. पाचन तंत्र को दुरुस्‍त रखता है

घी का सेवन गट हेल्थ के लिए फायदेमंद है। पुराने समय में, हमारे पूर्वज हर भोजन से पहले एक चम्मच घी खाते थे। इसे खाने से भोजन आसानी से पचता है और कब्ज़ की समस्या भी नहीं होती है।

5. इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है

ये ब्यूटिरिक एसिड में समृद्ध है, जो रोगों से लड़ने वाली टी कोशिकाओं के उत्पादन में शरीर की मदद करता है। रोज़ सुबह घी खाने से दिमाग तेज़ होता है और रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ावा मिलता है।

यह भी पढ़ें : अपनी डाइट से जंक फूड को बाहर करना है तो याद कर लें ये 6 आसान टिप्‍स, मन-मस्तिष्‍क दोनों रहेंगे खुश

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।