अपने एजिंग पेरेंट्स के लिए बनाइए गोंद के लड्डू, नहीं होंगी सर्दियों में होने वाली स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं

Published on: 23 November 2021, 17:31 pm IST

हमारे पेरेंट्स बचपन में हर मौसम में हमारे खानपान और सेहत का ख्याल रखा करते थे। अब हमारी बारी है, क्योंकि बदलते मौसम में उन्हें कुछ स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का भी सामना करना पड़ रहा है।

gond ke ladoo recipe
सर्दियों में स्वस्थ रहने के लिए फायदेमंद हैं गोंद के लड्डू. चित्र : शटरस्टॉक

सर्दियों के मौसम में घरवालों से छुपकर डिब्बे से निकालकर स्वादिष्ट लड्डू नहीं खाए तो क्या किया? हम सभी ने बचपन में यह काम ज़रूर किया होगा, क्योंकि स्वादिष्ट लड्डू देखकर मन रुक नहीं पाता। अब वह बचपन नहीं रहा और हमारी मां और पापा भी अब पहले की तरह एनर्जेटिक नहीं रहे हैं। साथ ही मौसम बदलते ही उन्हें कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। तो इस बार अपने पेरेंट्स की सेहत का ध्यान रखने के लिए आप संभालिए रसोई और उनके लिए बनाइए हेल्दी और टेस्टी गोंद के लड्डू (Gond Ladoo Recipe)। ये लड्डू ठंड लगने से लेकर ज्वाइंट पेन तक कई समस्याओं से राहत दिला सकते हैं।

जानिए क्या है खाने वाला पौष्टिक गोंद

गोंद को एक प्राकृतिक गोंद (Edible Gum) के रूप में वर्णित किया जा सकता है, जो गंधहीन और बेस्वाद होता है, लेकिन यह पानी में घुलनशील है। यह फाइबर और कैल्शियम का उच्च स्रोत होता है। इसलिए जोड़ों में दर्द से बचाने के लिए भी गोंद के सेवन की सिफारिश की जाती है। गोंद के लड्डू बेहद स्वादिष्ट और पौष्टिक होते हैं। साथ ही, इन्हें बनाना भी आसान होता है, तो चलिये जानते हैं इसकी रेसिपी। पर उससे पहले इसके फायदे जान लेते हैं।

गोंद का नियमित सेवन से शरीर पर जमा एक्स्ट्रा फैट घटता है। चित्र : शटरस्टॉक

हम क्यों कर रहे हैं गोंद के लड्डू की सिफारिश

गोंद कैल्शियम का अच्छा स्रोत है और इस प्रकार हड्डियों और दांतों को मजबूत रखने में मदद करता है।

गर्म तासीर का होने के कारण यह सर्दी के मौसम में शरीर को गर्म रखने में मदद करता है।

यह ऊर्जा का भी एक उत्कृष्ट स्रोत है और इस प्रकार सर्दियों के दौरान इसका सेवन किया जा सकता है। खासतौर से बढ़ते बच्चों के लिए ये सुपरफूड है।

दूध पिलाने वाली माताओं को गोंद दिया जाता है, क्योंकि यह रीढ़ की हड्डी को मजबूत करने और दूध उत्पादन में सहायक होता है।

गोंद गर्भावस्था के बाद माताओं को ऊर्जा और शक्ति देने में भी मदद करता है। यह बच्चे के जन्म के बाद गर्भाशय को अपने आकार में वापस लाने में भी मदद करता है।

गोंद के लड्डू बनाने के लिए आपको चाहिए

घी 6 बड़े चम्मच
गोंद आधा कप (100 ग्राम)
काजू 2 टेबल स्पून (कटा हुआ)
बादाम 2 बड़े चम्मच (कटे हुए)
किशमिश 2 बड़े चम्मच
सूखा नारियल 1½ कप (100 ग्राम) कद्दूकस किया हुआ
सूखा खजूर कप (100 ग्राम) (बीजरहित)
इलायची पाउडर छोटा चम्मच
जायफल पाउडर छोटा चम्मच
गुड़ 1 कप (200 ग्राम)
पानी अवश्यकतानुसार

इन लड्डू को बनाना है बहुत ही आसान। चित्र – शटरस्टॉक

गोंद के लड्डू बनाने की विधि

सबसे पहले एक तवे में कप घी गरम करें और ½ कप गोंद के टुकड़ों को भून लें। गोंद को अपने हाथ से या बेलन की सहायता से कूट लीजिये।

सूखे मेवे और सूखा नारियल ​​भी भून लें। खजूर के पाउडर को 2 टेबल स्पून घी में धीमी आंच पर भूनें। भुने हुए खजूर के पाउडर को उसी प्याले में निकाल लीजिए।

इसके अलावा छोटा चम्मच इलायची पाउडर और छोटा चम्मच जायफल पाउडर डालें। सभी सूखे मेवे अच्छी तरह से मिक्स हो जाने के बाद अच्छी तरह मिला लें और एक तरफ रख दें।

सूखे मेवे के मिश्रण के ऊपर 1 तार की गुड़ की चाशनी डालें और अच्छी तरह मिलाएं। अब मिश्रण के गर्म होने पर लड्डू बनाना शुरू कर दीजिए।

गोंद के लड्डू का आनंद आप एक महीने तक ले सकती हैं। बस इसे किसी एयरटाइट कंटेनर में रखें।

यह भी पढ़ें : ट्राई करें मूली के पत्तों की ये सुपर इफेक्टिव ड्रिंक, जो देगी आपको ये 4 अद्भुत लाभ

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें