वैलनेस
स्टोर

कोविड – 19 की दूसरी लहर : घबराएं नहीं , गिलोय से बने काढ़े से अपनी रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाएं

Published on:21 April 2021, 12:25pm IST
गिलोय काढ़े ने हाल ही में अपनी इम्युनिटी बूस्टिंग प्रॉपर्टीज की वजह से काफी लोकप्रियता प्राप्त की है, जो कोरोरना वायरस से लड़ने में आपकी मदद कर सकती है।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 95 Likes
घर पर बनाएं गिलोय काढ़ा और अपनी इम्युनिटी बूस्ट करें . चित्र : शटरस्टॉक

उपचार से परहेज अच्‍छा (Prevention is better than cure!) हम सभी ने अपने जीवन में यह कहावत ज़रूर सुनी होगी और इसी ने हमें एक मज़बूत इम्युनिटी बनाने में मदद की है। कोरोना वायरस महामारी के शुरू होने के बाद से, हर कोई अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए अलग-अलग नुस्खे अपना रहा है। ज्यादातर लोग आयुर्वेद की और चले गये हैं और काढ़े को अपनी दिनचर्या का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बना लिया है।

प्राचीन काल से काढ़ा भारत में पिया जा रहा है और अब अपने अद्भुत स्वास्थ्य लाभों के कारण दुनिया भर में प्रसिद्ध हो रहा है। विशेष रूप से इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए। यह मूल रूप से जड़ी बूटियों और मसालों का मिश्रण है। वास्तव में, कई स्वास्थ्य समस्याओं को ठीक करने के लिए विभिन्न सामग्रियों का उपयोग करके इसे तैयार किया जा सकता है।

गिलोय एक ऐसी जड़ी-बूटी है जो आपको काढ़ा तैयार करने के लिए उपयोग करनी चाहिए! यह एक चमत्कारी जड़ी बूटी है जो विशेष रूप से शरीर के प्राकृतिक रक्षा तंत्र के निर्माण के लिए उपयोग की जाती है।

इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए गिलोय का काढ़ा क्यों फायदेमंद है?

गिलोय को वैज्ञानिक रूप से टिनोस्पोरा कॉर्डिफोलिया (Tinospora cordifolia) के रूप में जाना जाता है और इसका संस्कृत नाम अमृता है। यह जड़ी-बूटी औषधीय गुणों से भरपूर है। यह न केवल प्रतिरक्षा को बढ़ावा देती है, बल्कि इसमें एंटी-टॉक्सिक, एंटीपयरेटिक और एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव भी है।

गिलोय आपकी इम्युनिटी के लिए बेहद फायदेमंद है। चित्र: शटरस्‍टॉक
गिलोय आपकी इम्युनिटी के लिए बेहद फायदेमंद है। चित्र: शटरस्‍टॉक

अक्सर इसे अमर जड़ी-बूटी के रूप में जाना जाता है, गिलोय वास्तव में आपके शरीर को स्वस्थ करने और वायरल संक्रमणों से मुक्त करने में मदद कर सकती है। इसका नियमित रूप से सेवन करने से आपको सर्दी, खांसी, जोड़ों में दर्द, एसिडिटी, त्वचा की एलर्जी और मधुमेह जैसी स्वास्थ्य समस्याओं से निपटने में मदद मिल सकती है।

काढ़ा तैयार करने के लिए गिलोय के तने का उपयोग किया जाता है।

तो, आइये जानते हैं गिलोय का काढ़ा बनाने की विधि:

सामग्री:

2 कप पानी

गिलोय की 2 छोटी शाखाएं

2 दालचीनी

4-5 तुलसी के पत्ते

8-10 पुदीने के पत्ते

आधा बड़ा चम्मच हल्दी

1 बड़ा चम्मच काली मिर्च पाउडर

1 इंच अदरक

2 बड़े चम्मच शहद

काढ़ा तैयार करने का तरीका:

गिलोय के पौधे को छीलकर इसका पाउडर बनाने के लिए इसे ब्लेंड करें।
एक पैन में पानी उबालें।

इसमें हल्दी और काली मिर्च मिलाएं।

मिश्रण को मध्यम आंच पर एक मिनट के लिए उबलने दें।

इसके बाद इसमें गिलोय पाउडर, दालचीनी की छड़ें, और कसा हुआ अदरक मिलाएं।

कोविड - 19 से बचाव कर सकता है गिलोय। चित्र- शटरस्टॉक।
कोविड – 19 से बचाव कर सकता है गिलोय। चित्र- शटरस्टॉक।

मिश्रण को फिर से उबालने के लिए छोड़ दें लेकिन पैन को इस बार ढक्कन से ढक दें।

मिश्रण में तुलसी के पत्ते, पुदीने के पत्ते और शहद मिलाएं।

अब, मिश्रण को उबाल आने दें। फिर, इसे ठंडा होने के लिए एक तरफ छोड़ दें।

मिश्रण को छलनी से छानकर पिएं।

हमने इसमें दालचीनी को जोड़ दिया है क्योंकि इसमें एंटीऑक्सीडेंट, जीवाणुरोधी और एंटीफंगल गुण होने के साथ-साथ एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रभाव भी हैं। इसमें अदरक भी है जिसमें शक्तिशाली औषधीय गुण होते हैं और कई स्वास्थ्य समस्याओं का इलाज कर सकते हैं।

यह पावर-पैक गिलोय काढ़ा आपकी इम्युनिटी को बढ़ाने वाला सुपरड्रिंक है!

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।