Ganesh Chaturthi 2022 : भगवान गणेश को प्रसन्न करने के लिए लगाएं इन 3 स्वादिष्ट व्यंजनों का भोग

गणपति बप्पा को चढ़ाने के लिए तैयार करें ये 5 स्पेशल रेसिपीज़। ये न सिर्फ स्वादिष्ट हैं बल्कि फायदेमंद भी हैं!

bhagwaan ganesh ko lagaen inka bhog
भगवान गणेश को प्रसन्न करने के लिए 3 भोग रेसिपी। चित्र : शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published on: 31 August 2022, 17:48 pm IST
  • 140

भारत में गणेश चतुर्थी का विशेष महत्व है। यह त्यौहार पूरे देश में बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है। 10 दिनों तक चलने वाले इस त्योहार के दौरान, भक्त विभिन्न प्रकार की मिठाइयां बनाते हैं और उन्हें भोग में चढ़ाते हैं। हालांकि मोदक को भगवान गणेश का पसंदीदा कहा जाता है, लेकिन आप मोदक के अलावा कुछ और भोग व्यंजनों को भी शामिल कर सकते हैं!

इसलिए, यदि आप गणपति बप्पा को भोग प्रसाद में चढ़ाने के लिए स्वादिष्ट व्यंजनों की तलाश कर रहे हैं। ऐसे में हेल्थशॉट्स के साथ पोषण विशेषज्ञ और वेलनेस कोच अवनि कौल साझा कर रही हैं ये खास रेसिपीज़।

कौल कहती हैं, “हर साल, यह 10-दिवसीय उत्सव पूरे महाराष्ट्र और भारत के कई अन्य हिस्सों में बड़े उत्साह और खुशी के साथ मनाया जाता है। राज्य भर में विशाल पंडाल स्थापित किए जाते हैं, और भक्त गणपति की मूर्तियों को घर लाते हैं, पूजा करते हैं और उन्हें को चढ़ाने के लिए मिठाई और अन्य व्यंजन तैयार करते हैं। यह त्योहार 10 वें दिन ‘गणेश विसर्जन’ के साथ समाप्त होता है।”

गणपति बप्पा को भोग लगाने के लिए जानिए 5 रेसिपीज़ :

1. ड्राई फ्रूट मोदक

ड्राई फ्रूट्स की खूबियों से भरपूर यह मोदक रेसिपी शुगर फ्री है। इसमें काजू और बादाम से बने सूखे भुने हुए मेवे होते हैं, जिन्हें घी से भुने हुये खजूर और किशमिश के साथ मिलाया जाता है, और स्वस्थ, पौष्टिक और स्वादिष्ट मोदक का आकार दिया जाता है।

इसे बनाने के लिए आपको चाहिए

एक कटोरी बिना बीज वाले खजूर

1/4 कप बादाम, काजू और किशमिश, आधा कटोरी कद्दूकस किया हुआ सूखा नारियल या एक सूखा नारियल लेकर काट लें, और 2 चम्मच घी

विधि

काजू और बादाम को सूखा भून लें। उन्हें एक तरफ रख दें, फिर नारियल पाउडर को रंग बदलने तक भून लें।

फिर 1 टीस्पून घी गर्म करें, कटा हुआ खजूर डालें और जलने से बचाने के लिए इसे लगातार चलाते रहें।

जब यह नरम हो जाए तो इसमें किशमिश डालें और 2 से 3 मिनट तक चलाते रहें।

फिर गैस बंद कर दें और इसे ठंडा होने दें। एक चॉपर लें, उसमें काजू और बादाम डालकर दरदरा काट लें। अगर आप नारियल के टुकड़ों का इस्तेमाल कर रहे हैं तो उन्हें भी काटते समय शामिल कर लें।

खजूर में सारी सामग्री डालकर अच्छी तरह मिला लें। इसे फिर से लगभग 1 मिनट के लिए आंच पर गर्म करें।

जब यह मिश्रण हल्का ठंडा हो जाए तो मोदक के सांचे को चिकना कर लें। आटे में बचा हुआ घी डालें।

सांचे से मोदक तैयार करें और यह भोग लगाने के लिए तैयार है।

ye recipe zaroor try karein
ये मोदक रेसिपी ज़रूर ट्राई करें। चित्र : शटरस्टॉक

2. साटोरी

यह एक महाराष्ट्रीयन मीठी रोटी है, और महाराष्ट्र में सबसे अधिक मांग वाले उत्सवों में से एक है। यह खोया या मावा, घी, बेसन और दूध से तैयार एक हेल्दी डिश है।

इसे बनाने के लिए आपको चाहिए

2 कप खोया
1 बड़ा चम्मच खसखस
1 बड़ा चम्मच सूखे खजूर का पाउडर
एक कप कैस्टर शुगर
आधा कप घी
मैदा या बेसन
दूध

विधि

साटोरी रेसिपी बनाने के लिए सबसे पहले मैदे या बेसन का गाढ़ा आटा गूंथ लें। इसे 30 मिनट के लिए अलग रख दें।

इस बीच आप स्टफिंग बना सकती हैं। एक पैन में घी डालें और खोया को तब तक तलें जब तक किनारों से घी न छूटने लगे। इसमें लगभग 5 से 8 मिनट लग सकते हैं।

इसे बार-बार हिलाएं, क्योंकि खोया बहुत आसानी से जल सकता है। इसे ठंडा होने के लिए एक तरफ रख दें।

थोडा़ सा घी डालें और एक के बाद एक खसखस और सूखे खजूर का पाउडर भून लें। खसखस और सूखे खजूर के पाउडर को अलग-अलग रख लें।

जब खसखस ​​ठंडा हो जाए तो उसे पीसकर पाउडर बना लें।

खोया, खजूर का पाउडर, खसखस ​​और पिसी चीनी को मिलाकर सतोरी बनाने के लिए भरावन तैयार कर लें। एक सजातीय मिश्रण बनाने के लिए मिश्रण को पीस लें। अगर फिलिंग ज्यादा सूखी है तो थोड़ा दूध डालें।

आटे से एक छोटी लोई तैयार करें, इसे एक छोटी पूरी बनाने के लिए रोल करें, और स्टफिंग को पूरी के अंदर डाल दें, जैसे कोई भरवां पराठा या पूरनपोली बनाता है।

बेलन का प्रयोग कर, साटोरी को 1″ मोटी और 5″ व्यास की मोटी चपाती में बेल लें।

मध्यम आंच पर घी का प्रयोग कर साटोरी को दोनों तरफ से तल लें। साटोरी को तलते समय फूलना चाहिए।

साटोरी को किचन टॉवल पर ठंडा होने के लिए रख दें, आप इन्हें लगभग 7 से 10 दिनों के लिए एक एयरटाइट कंटेनर में स्टोर कर सकते हैं।

आपकी साटोरी तैयार है।

try karein rice recipe
ट्राई करें ये राइस रेसिपी। चित्र : शटरस्टॉक

3. कोकोनट राइस

कोकोनट राइस दक्षिण भारत में देवता को आम प्रसाद में से एक है। कोकोनट राइस सफेद चावल को नारियल के दूध में भिगोकर या नारियल के गुच्छे का उपयोग करके पकाकर बनाया जाने वाला व्यंजन है।

विधि

एक कप चावल
1.5 कप नारियल का दूध
1/2 कप पानी
3 लौंग
1 दालचीनी
1 प्याज
4 मिर्च
1 टमाटर का तेल
नमक स्वादानुसार।

विधि

प्रेशर कुकर में तेल या घी रखें। लौंग, दालचीनी, काजू, कटा हुआ प्याज और कटी हुई मिर्च लें और प्याज के ट्रांसपेरेंट होने तक भूनें।

फिर टमाटर डाल कर 2 मिनिट तक भूनिये.अब चावल डाल कर सारी चीजों को अच्छे से मिला लीजिये। फिर नारियल का दूध, पानी और नमक डाल दीजिये।

जब पानी में उबाल आ जाए तो कुकर को बंद कर दें और धीमी आंच पर लगभग 15 मिनट तक पकाएं।

यह परोसने के लिए तैयार है।

यह भी पढ़ें : इस गणेश चतुर्थी भगवान को लगाएं केले से बने शीरे का भोग जानिए स्वादिष्ट रेसिपी

  • 140
लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory