भिंडी से लेकर पिपली तक, सुबह उठकर पिएं ये 5 तरह का पानी, आपकी सेहत को मिलेंगे अनगिनत लाभ

एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन से भरपूर, ओकरा (भिंडी) का पानी एक पौष्टिक ड्रिंक है जिसके कई स्वास्थ्य लाभ हैं। यह रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है, जिससे यह डायबिटीज वाले लोगों के लिए फायदेमंद है।
Body detoxification ke liye herbal water
एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन से भरपूर, ओकरा (भिंडी) का पानी एक पौष्टिक ड्रिंक है चित्र- शटरस्टॉक
संध्या सिंह Updated: 12 Jun 2024, 11:05 am IST
  • 134
इनपुट फ्राॅम

सादा पानी तो हम सभी पीते है लेकिन क्या आपको पता है अगर आप अपने पानी में कुछ जड़ी बूटियां मिला लें तो ये आपके लिए जादुई पानी बन जाता है। कई लोग सुबह नींबू का गर्म पानी या मेथी का पानी पीते है इससे पेच की चर्बी कम होती है। लेकिन ऐसे कई और हर्ब भी है जिन्हें आप अपने पानी में मिक्स करके अगर पीते है तो आप बहुत बिमारियों से बच सकते है। इससे आपके पानी का स्वाद भी बढ़ जाता है और आपका पानी हेल्दी भी हो जाता है। चलिए जाने है ऐसे ही कुछ औषधीय गुणों से भरपूर पानी के बारे में।

इस बारे में ज्यादा जानकारी के लिए हेल्थ कोच उर्वशी अग्रवाल ने अपने सोशल मीडिया पर ज्यादा जानकारी दी। उन्होंने बताया कि ये हर्ब मिलाकर बनाया गया पानी आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा साबित हो सकता है और आपको फ्रेश रखने में मदद कर सकता है।

adrak ke ras ke fayde
अदरक का रस जड़ों कें बीच में लगाएं। इससे बालों की ग्रोथ बढ़ती है । चित्र : शटरस्टॉक

डाइट में शामिल करें ये 5 औषधीय पानी

1 भिंडी का पानी (Okara Water)

एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन से भरपूर, ओकरा (भिंडी) का पानी एक पौष्टिक ड्रिंक है जिसके कई स्वास्थ्य लाभ हैं। यह रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है, जिससे यह डायबिटीज वाले लोगों के लिए फायदेमंद है। इसमें मौजूद उच्च फाइबर पाचन में सुधार करती है और गट हेल्थ को बनाए रखने में सहायता करती है। इसके अतिरिक्त, ओकरा पानी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट सूजन को कम करके त्वचा को हेल्दी रखते है।

2 अदरक का पानी (Ginger Water)

अदरक का पानी, जो अपने सूजनरोधी और पाचन गुणों के लिए जाना जाता है। यह नॉजिया से राहत दे सकता है और सुबह की बीमारी और मोशन सिकनेस के लिए विशेष रूप से प्रभावी है। इसके अतिरिक्त, अदरक का पानी अपनी उच्च एंटीऑक्सीडेंट होता है जो प्रतिरक्षा को बढ़ाता है, जिससे बीमारियों को दूर रखने में मदद मिलती है।

यह पेट भरा होने की भावना को बढ़ावा देकर और चयापचय को बढ़ाकर वजन प्रबंधन में भी सहायता करता है। अदरक के पानी को अपने रूटीन में शामिल करने से पाचन स्वास्थ्य अच्छा हो सकता है और स्वस्थ वजन बनाए रखने में सहायता मिल सकती है।

3 दालचीनी का पानी (Cinnamon Water)

सुगंधित मसाले से भरपूर दालचीनी का पानी एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है और कई तरह के स्वास्थ्य लाभ देता है। यह रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में कारगर साबित हुआ है, डायबिटीज में ये काफी अच्छा है। दालचीनी के सूजनरोधी गुण कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर को कम करके हृदय स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में योगदान करते हैं।

दालचीनी का पानी मेटाबालिज्म को बढ़ाकर और क्रेविंग को कम करके वजन घटाने में मदद करता है। इसका नियमित सेवन से संतुलित ब्लड शूगर को बनाए रखने, हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देने और वजन प्रबंधन में सहायता करता है।

cinnamon ka paani kis prakaar se hai faydemand
दालचीनी के पानी में चिया सीड्स मिलाने से पोषण और स्वाद को बढ़ाया जा सकता है। चित्र- अडोबी स्टॉक

4 पुदीने का पानी (MInt Water)

पुदीने का पानी, अपने ताज़गी देने वाले और सुखदायक गुणों के कारण, आपके डाइट में एक बेहतरीन चीज़ है। यह पाचन एंजाइमों को उत्तेजित करके पाचन में सहायता करता है और अपने प्राकृतिक एनाल्जेसिक गुणों के कारण सिरदर्द से राहत दिला सकता है। इसके अतिरिक्त, पुदीने का पानी सांसों को ताज़ा करता है, जिससे खराब सांसों के लिए ये एक अच्छा इलाज है।

यह ड्रिंक गर्मियों के दिनों के लिए एकदम सही है, यह एक ठंडा प्रभाव प्रदान करता है जो आपको हाइड्रेटेड और तरोताजा रहने में मदद करता है।

5 पिपली का पानी (Pipli Water)

पिपली काले रंग की लंबी सी मिर्च के आकार की होती है। कई लोग इसे लंबी मिर्च भी बोलते है। इसका पीना भी आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा है। यह कंजेशन को कम करके और अस्थमा के लक्षणों को शांत करके श्वसन स्वास्थ्य को महत्वपूर्ण रूप से बढ़ाता है। पिपली का पानी पाचन एंजाइमों को उत्तेजित करके पाचन में सुधार करता है और पेट फूलने और अपच जैसी गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याओं से राहत देता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

यह मेटाबॉलिज्म को भी बढ़ाता है, वजन कम और ऊर्जा स्तरों में सहायता करता है। पिपली के पानी को डाइट में शामिल करने से श्वसन क्रिया में सहायता मिल सकती है, पाचन स्वास्थ्य को बढ़ावा मिल सकता है और चयापचय दर में वृद्धि हो सकती है।

ये भी पढ़े– जलती-तपती गर्मियों में इन 5 तरह के DIY हाइड्रेटिंग मिस्ट से दें अपनी त्वचा को ताजगी

  • 134
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख