Healthy Tea : चाय की शौकीन हैं, तो जानिए इसे हेल्दी बनाए रखने के 3 उपाय

चाय कई लोगों को सुबह-सुबह पीना पसंद होता है। वास्तव में कुछ लोगों की नींद भी चाय से ही खुलती है। तो अगर आप भी उन्हीं में से हैं, तो जानिए अपनी पसंदीदा चाय को हेल्दी बनाए रखने के तरीके।
chai ko kaise banaye healthy
चाय में कैफीन होता है, यह एक उत्तेजक है जिसके सकारात्मक और नकारात्मक दोनों प्रभाव हो सकते हैं। चित्र- अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Updated: 20 Jul 2023, 02:15 pm IST
  • 145

चाय के साथ कुछ लोगों का लव एंड हेड का रिश्ता होता है। चाय के बिना उनकी नींद भी नहीं खुलती और चाय पीने से उन्हें अपच, गैस और जलन जैसी समस्याएं भी होती हैं। चाय पर जब वैज्ञानिकों और आहार विशेषज्ञों से बात की जाए, ताे वे भी इस पर मिली-जुली राय देते हैं। यानी चाय मूड बूस्टर है, थकान दूर करती है, पर इसके कुछ साइड इफैक्ट भी हैं। आखिर क्यों होता है ऐसा कि एंटी स्ट्रेस प्रोपर्टी से भरपूर चाय सेहत को खराब करने लगती है। असल में इसकी वजह है हमें इसे बनाने और सेवन का तरीका। तो अगर आप भी चाहती हैं कि आपकी फेवरिट चाय हेल्दी (healthy Tea) भी रहे, तो इन 3 बातों ध्यान रखना बहुत जरूरी है।

फायदा और नुकसान दोनों दे सकती है चाय

चाय में कैफीन होता है, यह एक उत्तेजक है जिसके सकारात्मक और नकारात्मक दोनों प्रभाव हो सकते हैं। कैफीन का सेवन अगर हल्की मात्रा में किया जाए तो यह सर्कता और फोकस को बढ़ाने में मदद कर सकता है, अत्यधिक सेवन से अनिद्रा, घबराहट, बेचैनी, दिल का तेजी से धड़कना और रक्तचाप में वृद्धि जैसी समस्याएं हो सकती हैं। जो व्यक्ति विशेष रूप से कैफीन के प्रति संवेदनशील हैं, उन्हें चाय के सेवन को लेकर सावधान रहना चाहिए।

chai ko bhut jayada na ubale
चाय को बहुत ज्यादा पकाने से भी बचना चाहिए। चित्र शटरस्टॉक।

कई लोगों को चाय पीने के बाद पेट में गैस अपच जैसी समस्या होने लगती हैं जिसके लिए उन्हे चाय छोड़ने की सलाह दी जाती है। जो लोग चाय बहुत ज्यादा पसंद करते हैं, वे इसे छोड़ नही पाते है तो चलिए बताते है न्यूट्रिनिस्ट अंबिका दत्त की वो बातें तो चाय के दुष्प्रभावों को कम करने में मदद कर सकती हैं। अंबिका दत्त एक न्यूट्रीशनिस्ट हैं और इंस्टाग्राम पर डाइट संबंधी टिप्स देती हैं।

यहां वे 3 जरूरी बातें जो चाय को अनहेल्दी होने से बचाती हैं

1 चाय को बहुत ज्यादा न उबालें

न्यूट्रीशनिस्ट अंबिका दत्त के अनुसार जब भी आप चाय बनाएं, तो उसे बहुत देर तक या बहुत ज्यादा उबालने से बचें। चाय को बहुत ज्यादा पकाने से भी बचना चाहिए। चाय में एक कंपाउंड होता है जो ज्यादा उबालने पर सक्रिय हो जाता है और उससे शरीर में जिंक और आयरन का अवशोषण कम हो जाता है। जिससे शरीर, में आयरन की कमी हो सकती है।

जितनी देर तक चाय उबाली जाएगी, उतनी ही अधिक कैफीन वह पानी में छोड़ती है। यदि आप कैफीन के प्रति संवेदनशील हैं, तो अधिक पकी हुई चाय का सेवन करने से अधिक कैफीन का सेवन हो सकता है। इससे हृदय गति में वृद्धि, बेचैनी या अनिद्रा जैसे संभावित दुष्प्रभाव हो सकते हैं।

chai ke nuksaan
सुबह खाली पेट चाय पीने से आपको पेट में जलन पैदा हो सकती है। चित्र : शटरस्टॉक

2 खाने के तुरंत बाद चाय न पिएं

चाय को खाने के तुरंत बाद नहीं पीना चाहिए, क्योंकि इससे खाने में मौजूद पोषण शरीर में ठीक से अवशोषित नहीं हो पाते। चाय खाने के पोषण को शरीर में अवशोषित होने से बाधित करती है।

चाय खाने के तुरंत बाद पीने से पाचन तंत्र बाधित होता है। चाय आपके खाने के पचने को भी रोक सकती है। इससे आपको कब्ज या गैस की समस्या भी हो सकती है।

3 सुबह खाली पेट चाय न पिएं

सुबह खाली पेट चाय पीने से आपको पेट में जलन पैदा हो सकती है इससे गैस की समस्या भी हो सकती है। कुछ लोगों के लिए, खाली पेट चाय पीने से कैटेचिन और टैनिन की उपस्थिति के कारण पेट में जलन या असुविधा हो सकती है, जो खाली पेट के लिए खराब हो सकती है। यदि आप इन यौगिकों के प्रति संवेदनशील हैं तो यह आपके लिए समस्या पैदा कर सकता है।

चाय पेट में गैस्ट्रिक एसिड के उत्पादन को उत्तेजित कर सकती है। खाली पेट चाय पीने से एसिड उत्पादन में वृद्धि हो सकती है, जिससे संभावित रूप से कुछ व्यक्तियों में एसिड रिफ्लक्स या सीने में जलन हो सकती है।

ये भी पढ़े- Weight loss : नींबू का रस या एप्पल साइडर विनेगर, वेट लॉस के लिए जानिए दोनों में से क्या है बेहतर विकल्प

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

  • 145
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख