लॉग इन

फायदा ही नहीं नुकसान भी पहुंचा सकता है लहसुन का ज्यादा सेवन, यहां जानें कैसे?

लहसुन बंद नाक में आपकी मदद कर सकता है। चित्र: शटरस्टॉक
ज्योति सोही Updated: 3 Mar 2023, 01:45 pm IST
ऐप खोलें

इसमें कोई दोराय नहीं कि लहसुन एक ऐसा पावरफुल इंग्रीडिएंट है, जो खाने में स्वाद और खुशबू दोनों को मिला देता है। इससे हार्ट और ब्लड फ्लो नियमित बना रहता है। मगर फायदों के साथ साथ लहसुन का रोज़ाना के खानपान में बहुत ज्यादा इस्तेमाल परेशानी का सबब भी बन सकता है। सूप, पिज्जा, सॉस, वेज, नॉनवेज रेसिपीज़ और परांठें, इन सब में इस्तेमाल होने वाला लहसुन कई बीमारियों का कारण साबित हो सकता है। आइए जानते हैं नूट्रिशनिस्ट मुग्धा प्रधान, सीईओ एंड फाउंडर, आइ थ्राइव से कि किस तरह लहसुन का अधिक सेवन नुकसानदायक (Harmful effects of Garlic) साबित हो सकता है।

इस बारे में नूट्रिशनिस्ट मुग्धा प्रधान का कहना है कि लहसुन एक ऐसा खाद्य पदार्थ है, जो कई तरह के स्वास्थ्य लाभों से परिपूर्ण है। रोगाणुरोधी और एंटी.फंगल गुणों से युक्त लहसुन कैंसर, हाई ब्लड प्रेशर, हार्ट हेल्थ समेत कई समस्याओं में लाभकारी है। लहसुन के सेवन से ब्लड थिन होने लगता है। इसकी तारीस गर्म होती है। ऐसे में अत्यधिक सेवन नुकसानदायक हो सकता है।

1. एसिडिटी का कारण

ज्याद लहसुन इनटेक से गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स रोग यानि जीईआरडी है की संभावना बढ़ रही है। इस रोग में आपके पेट में बनने वाला एसिड एसोफेगस से वापिस पेट में लौट जाता है। ऐसी स्थिति में आपको जलन और मन घबराने की शिकायत हो सकती है

जुलाई 2005 में अमेरिकन फैमिली फिजिशियन में पब्लिश हुए एक आर्टिक्ल के हिसाब से खाली पेट कच्चा लहसुन खाने से विशेष रूप से पाचन तंत्र में जलन होने की संभावना को बढ़ा देता है। इसके अलावा कच्चा लहसुन खाने से उल्टी और पेट दर्द की शिकायत रहती है।

सुखी खांसी से रहत दिलाने में फायदेमंद है लहसुन। चित्र:शटरस्टॉक

2. सीधा मुंह से लेने पर

अगर आप कच्चा लहसुन खाते हैं, तो बैड ब्रेथ, सीने में जलन, एसिडिटी और डायरिया जैसी समस्याएं आपको अपनी चपेट में ले सकती हैं। इसके अलावा अगर आप किसी भी खाद्य पदार्थ में सभी इंग्रीडिएंटस के मुकाबले ज्यादा मात्रा में लहसमन प्रयोग कर रही है, तो इससे ब्लीडिंग और एलर्जी का खतरा बना रहता है।

3. चेहरे पर लगाने से बचें

वेब मेड के मुताबिक अगर आप लहसुन को चेहरे पर सीधा अप्लाई करती हैं, तो इससे आपके फेस पर इंरीटेशन का खतरा बना रहता है। इसे चेहरे पर लगाने से रैशेज की समस्या बनी रहती है।

4. रैशेज का कारण

लहसुन का लंबे समय तक सेवन करने से त्वचा में जलन और खुजली की समस्या होने लगती है। लहसुन में मौजूद कुछ एंजाइम इस जलन का कारण बन सकते हैं।

लहसुन के साथ इन चीजों को खाने से बचें

लहसुन के साथ अदरक, लौंग, हल्दी, शिमलामिर्च, चिनार और विलो समेत कई मेडिकल प्लांटस का सेवन करने से बचें।

लहसुन का लंबे समय तक सेवन करने से त्वचा में जलन और खुजली की समस्या होने लगती है। चित्र: शटरस्टॉक

5. लहसुन में पाए जाने वाले पोषक तत्व

लीब्रेट के मुताबिक लहसुन में विटामिन सी, विटामिन बी 6, फॉस्फोरस, मैंगनीज, जस्ता, कैल्शियम और आयरन जैसे पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। इसके अलावा इसमें कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन के अलावा थियामिन और पैंटोथेनिक एसिड भी होता है। इसके अलावा इसमें आयोडीन, क्लोरीन, सल्फर और एलिसिन जैसे मिनरल्स भी पाए जाते है।

लहसुन का इस्तेमाल खाने में बहुत कम करना चाहिए। हालांकि इसकी हर कली में लो कैलोरी, फैट, प्रोटीन या कार्बोहाइड्रेट होते हैं। इसमें मौजूद एंजाइम्स और युनीक कम्पाउंड स्वास्थ्य पर असर डालते हैं। लहसुन की हर कली में पाए जाने वाले तत्व

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

कैलोरी: 4
प्रोटीन: 0 ग्राम
वसा: 0 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट: 1 ग्राम
फाइबर: 0 ग्राम

लहसुन का कितना सेवन करें

रोज़ाना कुछ लोग स्वास्थ्य लाभों के हिसाब से सुबह खाली पेट लहसुन खाना पसंद करते हैं। ऐसे में आप सिर्फ 1 से 2 कलियां ही खाएं। इससे ज्यादा गार्लिक इनटेक आपकी सेहत को खराब करने का काम कर सकता है। अगर आपको किसी प्रकार की सूजन या जलन महसूस होने लगी हैं। ऐसे में तुरंत प्रभाव से लहसुन का सेवन बंद कर दें और डॉक्टरी सलाह ज़रूर लें।

ये भी पढ़ें-  मेयोनीज का एक हेल्दी विकल्प है हंग कर्ड, एक्सपर्ट बता रहीं हैं इसके फायदे और इसे बनाने का तरीका

ज्योति सोही

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख