वैलनेस
स्टोर

गाय का दूध बनाम भैंस का दूध : क्‍या पोषण के मामले में दोनो में कोई अंतर है? आइए पता करते हैं

Published on:12 May 2021, 10:29am IST
भैंस का दूध हो या गाय का दूध, दोनों के अपने स्वास्थ्य लाभ, स्वाद और टेक्सचर हैं। पर ये सवाल अकसर लोग जानना चाहते हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 92 Likes
दूध पीना आपकी बोने हेल्थ के लिए बेहद ज़रूरी है. चित्र-शटरस्टॉक.

जब किसी उत्पाद की अलग-अलग चीजों में इस्तेमाल की बात आती है, तो दूध संभवतः खाद्य और पेय उत्पादों के सबसे ऊपर होता है। दही, पनीर या मक्खन में, इन स्वादिष्ट और पौष्टिक उत्पादों को तैयार करने के लिए दूध मुख्य घटक है। इसके अलावा, दूध शिशुओं, बच्चों और वयस्कों की वृद्धि और कल्याण के लिए भी एक आवश्यक भोजन है। इसकी वजह है इसका कैल्शियम, विटामिन और प्रोटीन का एक समृद्ध स्रोत होना।

जैसे-जैसे लोग अपने लिए उपलब्ध विकल्पों के बारे में अधिक जागरूक होते हैं, एक महत्वपूर्ण सवाल पैदा होता है कि गाय के दूध और भैंस के दूध में क्या अंतर है। आखिरकार, दोनों एक ही पदार्थ की किस्में हैं, लेकिन क्या स्वास्थ्य लाभ में दोनों के बीच कोई अंतर है?

हमने इस मामले में खोजबीन की तो पाया कि वास्तव में गाय और भैंस दोनों के ही दूध का अपना अनोखा स्‍वाद और स्‍वास्‍थ्‍य लाभ है।

सबसे पहले जानते हैं गाय के दूध और भैंस के दूध में अंतर

1. टेक्सचर और पोषण संबंधी सामग्री

गाय के दूध में वसा की मात्रा कम होती है और इसका टेक्सचर हल्का होता है। जबकि भैंस का दूध क्रीमयुक्त और गाढ़ा होता है। इसलिए, गाय के दूध को पचाने में आसान माना जाता है। प्रोटीन के संबंध में, भैंस के दूध में प्रोटीन गाय के दूध की तुलना में अधिक होता है। जबकि गाय के दूध में भैंस के दूध की तुलना में पानी की मात्रा अधिक होती है।

यहां तक ​​कि भैंस के दूध में कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम और पोटेशियम की मात्रा अधिक होती है, और गाय के दूध में तुलनात्मक रूप से विटामिन की मात्रा अधिक होती है। गाय के दूध का रंग पीला-सफेद होता है, जबकि भैंस का दूध मलाईदार सफेद होता है। क्योंकि बीटा कैरोटीन वर्णक रंगहीन विटामिन–ए में परिवर्तित हो जाता है, जो भैंस के दूध को गाय के दूध से थोड़ा कम पीला बनाता है।

भैंस के दूध में कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम और पोटेशियम की मात्रा अधिक होती है,चित्र-शटरस्टॉक।

2. उपयोग और संरक्षण

गाय के दूध की तुलना में भैंस के दूध के मोटे टेक्सचर के कारण ये बेहतर पनीर और डेसर्ट बनाने के लिए जाना जाता है। जबकि गाय के दूध का टेक्सचर हल्का और पानी जैसा होता है। परिरक्षण के संबंध में, भैंस के दूध को अधिक समय तक संग्रहीत किया जा सकता है, क्योंकि इसमें उच्च पेरोक्सीडेज गतिविधि होती है। जबकि गाय के दूध का 1-2 दिनों के भीतर सेवन करना होता है।

3. स्वास्थ्य लाभ

भैंस के दूध में बीटा-लैक्टो ग्लोबुलिन और पोटेशियम सामग्री उच्च रक्तचाप को कम करने में मदद करने के लिए जानी जाती है। कोलेस्ट्रॉल के स्तर के संबंध में, भैंस के दूध में गाय के दूध की तुलना में कम मात्रा में कोलेस्ट्रॉल होता है, इसलिए, यह पीसीओडी, उच्च रक्तचाप, गुर्दे की बीमारियों और मोटापे जैसी बीमारियों से पीड़ित लोगों के लिए एक पसंदीदा विकल्प है।

गाय के दूध और एंटीऑक्सीडेंट संरक्षण की तुलना में भैंस के दूध का उच्च पोषण मूल्य होता है, इसमें प्रोटीन, विटामिन और खनिज होता है, जो हड्डी और हृदय के स्वास्थ्य को बेहतर बनाता है। हालांकि, इसमें गाय के दूध की तुलना में वसा, लैक्टोज और कैलोरी जैसी सामग्री ज्यादा होती है।

तो, यह स्पष्ट है कि दोनों प्रकार के दूध स्वास्थ्य के लिए अच्छे हैं और उनका अपना अनूठा टेक्सचर और लाभ हैं। यह महत्वपूर्ण है कि आप अपने दैनिक आहार में दूध को शामिल करें अपने स्वास्थ्य की स्थिति और प्रिफरेंस के आधार पर।

इसे भी पढ़ें-सेलिब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट पूजा मखीजा कोविड रिकवरी के लिए कर रहीं हैं दो सप्लीमेंट की सिफारिश

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।