वैलनेस
स्टोर

ब्रेस्टफीडिंग मॉम्स के लिए फायदेमंद हो सकता है नारियल का दूध! नेहा धूपिया शेयर कर रही हैं अपना सीक्रेट

Published on:8 August 2021, 18:00pm IST
विश्व स्तनपान सप्ताह पर, अभिनेत्री नेहा धूपिया ने अपना अनुभव साझा किया और बताया कि कैसे नारियल के दूध ने ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने में उनकी मदद की।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 111 Likes
breastfeedind moms ke liye coconut milk
जानिए नेहा धूपिया से उनकी गर्भावस्था और स्तनपान कराने का सफर. चित्र : Neha Dhupia

मातृत्व हर महिला के लिए अलग होता है। अगर एक चीज एक मां के लिए काम करती है, तो वह दूसरी के लिए काम नहीं कर सकती। अभिनेत्री नेहा धूपिया के लिए, नारियल के दूध में पकाई गई कोई भी चीज़ उनकी स्तनपान यात्रा में अमृत बन गई!

नेहा, और उनके पति अंगद बेदी की एक दो साल की बेटी है मेहर, और आजकल वे अपने दूसरे बच्चे की उम्मीद कर रहे हैं। विश्व स्तनपान सप्ताह के अवसर पर नेहा से हेल्थशॉट्स की एक्सक्लूसिव बातचीत में उन्होंने अपने स्तनपान कराने का अनुभव साझा किया।

स्तनपान और नारियल का दूध

केरल में शूटिंग के दौरान एक वाक्या याद करते हुए नेहा कहती हैं “कभी-कभी आप कुछ खाती हैं और फिर आपको लगता है कि ‘वाह! मैंने 3 औंस के बजाय 6 औंस दूध बनाया है’। और कभी-कभी औसतन यदि आप 10 औंस बनाते हैं, तो आप कहती हैं कि ‘यह मेरे लिए काम करता है।”

नेहा कहती हैं – “नारियल के दूध में पकाई गई किसी भी चीज़ ने मेरे लिए जादूई तरह से काम किया। मगर, फिर एक समय ऐसा आया कि मैंने इसे खाना बिल्कुल छोड़ दिया क्योकि मेरा इससे मन भर गया था। अब तक, मुझे यह नहीं चाहिए क्योंकि उस एक महीने में मैंने इसका खूब सेवन किया।”

यह मां की पसंद है!

नेहा ने पहले छह महीनों के लिए मेहर को विशेष रूप से स्तनपान कराया, और फिर धीरे-धीरे थोड़ा लिक्विड भोजन खिलाना शुरू किया। नेहा कहती हैं, ”मैं अभी भी उसे स्तनपान करा रही हूं, क्योंकि मेरा मानना ​​है कि किसी भी मां को अपने बच्चे को स्तनपान कराने की अवधि के बारे में निर्णय लेने की जरूरत नहीं है।

दरअसल, स्तनपान से जुड़ी हर चीज के लिए मां के पास विकल्प होना चाहिए!

coconut milk aur breastfeeding
स्तनपान में नारियल का दूध फायदेमंद है. चित्र-शटरस्टॉक

जबकि वह स्वीकार करती है कि स्तनपान कराने से स्तनों में जकड़न या गले में खराश, रातों की नींद न आना और थकावट महसूस करना, यह सब स्तनपान का एक हिस्सा है।

“जितनी देर तक आप इसे कर सकती हैं… अच्छा है! यदि आप ऐसा नहीं कर सकती हैं, तो ठीक है, क्योंकि यदि आप अपने बच्चे को स्तनपान नहीं कराने का निर्णय लेती हैं, तो इसका मतलब यह नहीं है कि आप एक अच्छी माँ नहीं हैं। कोई भी आपके बच्चे को आपके जैसा प्यार नहीं कर सकता है। यदि आप इसे नहीं करने का निर्णय लेती हैं, तो मैं महिलाओं और विशेष रूप से नई माताओं का समर्थन करती हूं। आप अभी भी एक सुपरमॉम हैं!

क्या ऐसी कोई चीज़ है, जिसने स्तनपान आसान बनाने में आपकी मदद की?

नेहा कहती हैं – “वाकई में, बस गर्म पानी के बैग, क्योंकि आप बच्चे को हमेशा पकड़े रहती हैं। इसके अलावा, आपको वास्तव में खुद पर लगाने के लिए बहुत अधिक क्रीम की आवश्यकता नहीं है क्योंकि स्तन का दूध लिक्विड गोल्ड होता है और यह सब कुछ ठीक कर देता है!

इसके अलावा, मैंने सिर्फ एक पंप और एक स्टरलाइज़र का इस्तेमाल किया, क्योंकि मैं दूध भी स्टोर कर रही थी … और उफ़, वही यात्रा अब फिर से शुरू होने जा रही है, और मुझे पता है कि दुनिया में कोई भी आपको इसके लिए तैयार नहीं कर सकता है। यह थकाऊ है।”

Neha Dhupia aur unki beti mehr
नेहा धूपिया और उनकी बेटी मेहर. चित्र : Neha Dhupia

नेहा यह भी कहती हैं कि वह अपने दूसरे बच्चे को भी यथासंभव लंबे समय तक स्तनपान कराना चाहेगी।

”मैं अपने बच्चे को स्तनपान कराने का हर तरह से प्रयास करुंगी, भले ही मुझे सेट पर लौटना पड़ रहा है। मैं पहले की तरह दूध स्टोर करके इसे घर भेज सकती हूँ, जैसे मैं पहले किया करती थी। नेहा का मानना है कि दूसरी बार मां बनने की सबसे अच्छी बात यह है कि, आपके साथ आपका अनिभव होता है और यह सबसे अच्छा टीचर है”।

एक जिम्मेदारी

नेहा वर्ल्ड ब्रेस्टफीडिंग 2021 की थीम ‘प्रोटेक्ट ब्रेस्टफीडिंग: ए शेयर्ड रिस्पॉन्सिबिलिटी’ (Protect Breastfeeding: A Shared Responsibility) के लिए भी काम कर रही हैं।

उन्हें लगता है कि स्तनपान कराने से गर्भावस्था के बाद के चरण में समान पालन-पोषण का पहला भाग शुरू हो जाता है। वह अपने पति को आपना सबसे बड़ा सपोर्ट मानती हैं।

नेहा बताती हैं – “चाहे वह ब्रेस्ट पंप को स्टरलाइज़ कर रहा हो या मेहर को उसके स्तनपान, के बाद डकार दिलाना, या अगर मैं दूध निकाल कर घर भेज दूं, अगर मुझे देर हो गई, तो वह सुनिश्चित करते हैं कि उसे दूध किस समय देना है। वह बहुत हैंडसम हैं, ” एक माँ और बच्चे के लिए स्तनपान के अनुभव को आसान बनाने में परिवार के लोगों का बहुत बड़ा योगदान होता है।

ब्रैस्टफीडिंग को नॉर्मलाइज करें

हमें ब्रेस्टफीडिंग को नॉर्मलाइज करना चाहिए, न कि सेक्सुअलाइज! और मुझे लगता है इस मामले में शहरों में रहने वाली महिलाएं बेहतर स्थिति में हैं। लोगों को हमें बच्चे को फीड कराने के लिए समय और जगह दोनों देनी चाहिए, वो भी बिना घूरे!

उनके लिए सबसे अच्छा समय तब था जब वे, वेकेशन पर थीं! वो याद करते हुए कहती हैं कि, मैं बीच पर थी, मेहर को खिला रही थी और मौसम काफी खुशनुमा था। क्या मैं, यहां ये सब कर सकती हूँ? मुझे नहीं लगता!

यह भी पढ़ें : क्या आपको लैक्टोज इनटोलरेंट हैं? तो इन फूड्स से लें कैल्शियम की खुराक

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।