लॉग इन

Chaitra Navratri 2023 : ये खास नवरात्रि डाइट प्लान 9 दिनों में कम कर सकता है आपका वजन, डायबिटिक रहें सतर्क

नवरात्रि में हमारा मन और शरीर दोनों स्वस्थ होता है। यदि इस दौरान सही डाइट ली जाए, तो वेट लॉस करना हो सकता है और भी आसान। पर डायबिटीज के मरीजों को कोई भी उपवास करने से पहले अपने स्वास्थ्य विशेषज्ञ से अवश्य परामर्श कर लेना चाहिए।
नवरात्रि में वजन घटाने का आसान घरेलू तरीका है समय पर संतुलित भोजन लेना चित्र : एडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Updated: 23 Oct 2023, 09:12 am IST
ऐप खोलें

आज से नवरात्रि शुरू हो रहे हैं। नवरात्रि मन और तन को शुद्ध (Detoxification) और स्वस्थ करने का महा अवसर है। मन को शांत और शरीर को विकार रहित करने के लिए हम उपवास करते हैं। नवरात्रि के 9 दिनों के दौरान हम ऐसा डाइट प्लान बनाते हैं, जो शरीर को स्वस्थ रखने के साथ-साथ वजन कम करने में भी कारगर हो। साथ ही, यदि कोई शुगर का मरीज हो, तो उसका ब्लड शुगर भी नियंत्रित रहे। आइये सबसे पहले हम जानते हैं कि नवरात्रि के अवसर पर कैसा हो हमारा आहार। यह जानने के लिए हेल्थ शॉट्स हिंदी ने विशेषज्ञों के सुझावों और आहार पर किये गये शोधों को भी खंगाला।

 वजन घटाने का आसान घरेलू तरीका है समय पर संतुलित भोजन लेना (Weight Loss tips in Navratri) 

अक्सर हम नवरात्रि के अवसर पर लंबे समय तक भूखे रहते हैं। हम सोचते हैं कि भूखे रहने से हमारा वजन घट जायेगा। पर यह घरेलू नुस्खा शरीर के लिए कारगर नहीं है। नोएडा इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज के डीन डॉ. आशुतोष निरंजन हेल्थशॉट्स से हुई बातचीत के दौरान बताया, ‘लंबे समय तक भूखे रहने या तेल-मसाले वाला भोजन लेने से गॉल ब्लैडर में स्टोन की समस्या हो जाती है।

साथ ही डेली कैलोरी बर्न (Calorie Burn) पर भी प्रभाव पड़ता है। आदत के अनुसार सुबह नाश्ता लेने पर लोडेड कैलोरी इंटेक से एपेटाइट सप्रेस होता है और कैलोरी भी बर्न होती है। इसलिए यदि वजन घटाना चाहती हैं, तो समय पर भोजन लेना जरूरी है।

वजन घटाने के लिए 9 दिनों में कैसा हो डाइट प्लान (Navratri Diet Plan) 

सीनियर डायटीशियन और एजुकेशनिस्ट डॉ. नीलम अली बताती हैं, ‘ भूखे रहने की बजाय समय पर भोजन और तरल पदार्थ लेना जरूरी है। इससे आसानी से नौ दिनों में वेट लॉस हो सकता है।

उपवास की शुरुआत नींबू पानी से (Lemon Water)

किसी भी व्रत-उपवास की शुरुआत नींबू पानी, शहद पानी और पानी में भिगोये ड्राई फ्रूट्स से करनी चाहिए। कुछ समय बाद या आधे घंटे बाद केला, सेब, पपीता, स्ट्रॉबेरी या एवोकेडो की स्मूदी लेनी चाहिए। दही के साथ अनार भी ले सकती हैं। सेंधा नमक का प्रयोग करने पर मेंटल हेल्थ स्ट्रोंग बना रहता है। इसमें मौजूद सोडियम कमजोरी नहीं आने देता है।

पानी में भिगोये ड्राई फ्रूट्स लें (Soaked Dry Fruits) 

जब आपको हल्की भूख लगने लगे, तो नारियल पानी का सेवन कर सकती हैं। साथ ही पानी में भिगोये अखरोट, काजू, मुनक्का, बादाम आदि लें। ध्यान रहे कि ड्राई फ्रूट्स की 2-3 गिरी से अधिक नहीं लें। इनके स्थान पर पानी में भिगोई मूंगफली (Peanuts Benefits) या कच्चे नारियल (Raw Coconut)  का भी सेवन कर सकती हैं। बिना तेल की भुनी हुई मूंगफली भी ट्राई की जा सकती है।

दोपहर का भोजन  (Lunch) 

इसमें आलू या शकरकंद का रायता, पनीर भुर्जी, कुटू की रोटी, कुटू की दलिया, टोफू की भुर्जी, साबूदाना खिचड़ी, सामक के चावल आदि ट्राई कर सकती हैं। इनके साथ एक बाउल टमाटर, मूली, खीरा, शलजम, गाजर का सलाद भी ले सकती हैं।

उपवास के दौरान टमाटर, मूली, खीरा, शलजम, गाजर का सलाद भी ले सकती हैं। चित्र : शटर स्टॉक

शाम में बिना तेल के भुने मखाने और ग्रीन टी या नींबू की चाय ले सकती हैं।

रात के खाने में मिक्स सब्जी (Mix Veg) 

रात के खाने में बिना चीनी की लौकी की खीर, मिक्स सब्जी ले सकती हैं। सब्जी का सूप भी लिया जा सकता है। ध्यान रहे कि केला, अंगूर, आम या दूसरे साइट्रिक फ्रूट्स एसिडिटी की समस्या बढ़ा सकते हैं। इसलिए उपवास के दौरान इन फलों के ज्यादा सेवन से बचें (Avoid Citrus Fruit in Navratri) ।

यहां हैं नवरात्रि आहार या किसी भी प्रकार के उपवास के दौरान लिए गये आहार के फायदे (Navratri Diet Health Benefits) 

यदि आप नवरात्रि के 9 दिन सही तरीके से खानपान करें, तो यह वजन घटाने में मदद कर सकता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

1 इम्यून सिस्टम को मजबूती : हार्वर्ड हेल्थ जर्नल में प्रकाशित शोध आलेख के अनुसार, अगर उपवास के दौरान सही तरीके से खानपान किया जाए, तो इससे इम्यून सिस्टम को मजबूती मिल सकती है। दरअसल, उपवास के दौरान शरीर में सफेद रक्त कोशिकाओं की संख्या कम हो जाती है, जो इम्यून सिस्टम को और अधिक प्रोडूस करने के लिए ट्रिगर करती है।

2 स्किन की ड्राईनेस होती है खत्म : उपवास के दौरान खाए जाने वाले फल से शरीर को मिलने वाले पानी से स्किन भी अच्छी तरह मोइस्चराइज हो जाती है। इससे ड्राईनेस खत्म हो जाती है।

3 टॉक्सिंस होते हैं शरीर से बाहर : उपवास के दौरान खाए जाने वाले भोजन से पाचन तंत्र से टॉक्सिंस बाहर निकालने में मदद मिलती है। इससे गट हेल्थ मजबूत होता है।

अगर उपवास के दौरान सही तरीके से खानपान किया जाए, तो इससे इम्यून सिस्टम को मजबूती मिल सकती है। चित्र : शटरस्टॉक

4 मेंटल हेल्थ के लिए फायदेमंद : न्यूट्रीएंट जर्नल के अनुसार, कई स्टडी में यह बात सामने आई है कि उपवास से तनाव, एंग्जाइटी और अवसाद के लक्षणों को कम करने में मदद मिल सकती है

प्री डायबिटिक या डायबिटिक रखें ख़ास ख्याल (Pre Diabetic or Diabetic) 

डॉ. नीलम अली चेतावनी देते हुए कहती हैं, ‘यदि आप प्री डायबिटिक या डायबिटिक हैं, तो फास्ट रखने से पहले अपने एंडोक्रिनोलॉजिस्ट से जरूर संपर्क कर लें। उपवास के दौरान आपका कई बार या कहें कि रोज ब्लड शुगर लेवल टेस्ट कराना जरूरी हो सकता है। क्योंकि उपवास के दौरान आपका ब्लड शुगर लेवल बहुत कम हो सकता है (Hypoglycaemia) या ब्लड शुगर लेवल बहुत अधिक (Hyperglycaemia) भी हो सकता है। साथ ही शुगर की गोली या इंसुलिन इंजेक्शन नहीं लेना जोखिमकारक भी हो सकता है।’

यह भी पढ़ें :- Navratri 2023 : उपवास के साथ वेट लॉस भी करना चाहती हैं, तो इन 5 चीजों को करें फास्टिंग में शामिल

स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है। ...और पढ़ें

अगला लेख