वैलनेस
स्टोर

संतुलित आहार और बेहतर पोषण चाहिए तो पत्‍ता गोभी को न करें नजरंदाज, यहां हैं इसके 5 फायदे

Published on:4 February 2021, 16:10pm IST
इसकी प्रभावशाली पोषक तत्व सामग्री के बावजूद, बंद गोभी या पत्‍ता गोभी को अक्सर नजरंदाज कर दिया जाता है।
विनीत
  • 89 Likes
पत्ता गोभी शरीर में पोषण की कमी को दूर करने के लिए लाभकारी है। चित्र-शटरस्टॉक

पत्तागोभी न सिर्फ हमारे शरीर में पोषण की कमी को दूर करती है, बल्कि यह इम्युनिटी को बूस्ट करने के साथ ही कई गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं के जोखिम को भी कम कर सकती है। हालांकि यह लेट्यूस की तरह लग सकता है, लेकिन यह वास्तव में सब्जियों के ब्रैसिका जीनस परिवार से है, जिसमें ब्रोकोली, फूलगोभी और केल शामिल हैं। यह बाजार में लाल, बैंगनी, सफेद और हरे रंग सहित कई प्रकार के आकार और रंगों में उपलब्ध है।

हम यहां आपको पत्तागोभी के पोषण मूल्य और इसके 5 स्वास्थ्य लाभों के बारे में बता रहे हैं।

पोषक तत्वों से भरपूर होती है पत्ता गोभी

भले ही गोभी कैलोरी में बहुत कम है, लेकिन यह पोषक तत्वों का भंडार है। पत्ता गोभी में प्रोटीन, फाइबर, विटामिन-के, सी, बी6, फोलेट, मैंग्नीज, कैल्शियम, पोटेशियम और मैग्नीशियम जैसे सभी जरूरी विटामिन और मिनरल मौजूद होते हैं।

पत्तागोभी में विटामिन-ए, आयरन और राइबोफ्लेविन सहित अन्य सूक्ष्म पोषक तत्व भी होते हैं। जो कि आपके शरीर में कई महत्वपूर्ण प्रक्रियाओं के लिए आवश्यक है। जिसमें ऊर्जा, चयापचय और तंत्रिका तंत्र के सामान्य काम काज शामिल है। इसके अलावा, गोभी में फाइबर अधिक मात्रा में होता है, इसमें पॉलीफेनोल और सल्फर यौगिक सहित कई शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट होते हैं।

यहां हैं पत्तागोभी के 5 स्वास्थ्य लाभ

  1. विटामिन-सी का समृद्ध स्रोत है

विटामिन-सी, जिसे एस्कॉर्बिक एसिड के रूप में भी जाना जाता है, पानी में घुलनशील विटामिन है। यह शरीर के कई कार्यों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। उदाहरण के लिए, शरीर में सबसे प्रचुर मात्रा में प्रोटीन कोलेजन बनाने की जरूरत है। कोलेजन त्वचा को संरचना और लचीलापन देता है और हड्डियों, मांसपेशियों और रक्त वाहिकाओं के समुचित कार्य के लिए महत्वपूर्ण है। साथ ही यह आपकी इम्युनिटी को बूस्ट करने के साथ ही कैंसर के जोखिम को कम करने में भी मदद करता है।

पत्ता गोभी विटामिन सी का एक बेहतरीन स्रोत है। चित्र- शटरस्टॉक।

शोध बताते हैं कि विटामिन-सी से भरपूर खाद्य पदार्थों में उच्च आहार कुछ तरह के कैंसर के जोखिम को कम कर सकता है। 21 अध्ययनों के एक हालिया विश्लेषण में पाया गया कि विटामिन-सी के सेवन में प्रत्येक 100 मिलीग्राम की वृद्धि से फेफड़ों के कैंसर का जोखिम 7% तक कम हो जाता है।

  1. पाचन में सुधार करती है

अगर आप अपने पाचन स्वास्थ्य में सुधार करना चाहती हैं, तो फाइबर से भरपूर पत्ता गोभी का सेवन करना इसका एक बेहतरीन तरीका है। यह कुरकुरी सब्जी आंत के अनुकूल अघुलनशील फाइबर से भरपूर है। यह एक प्रकार का कार्बोहाइड्रेट है, जो आंतों में टूट नहीं सकता। अघुलनशील फाइबर नियमित मल त्याग को बढ़ावा देकर पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

इसके अलावा, यह घुलनशील फाइबर में समृद्ध है, जिसे आंत में लाभकारी बैक्टीरिया की संख्या में वृद्धि करने के लिए दिखाया गया है। इसका कारण यह है कि फाइबर बिफीडोबैक्टीरिया और लैक्टोबैसिली जैसी अनुकूल प्रजातियों के लिए एक मुख्य ईंधन स्रोत है।

  1. दिल को स्वस्थ रखने के लिए मददगार साबित हो सकती है

पत्ता गोभी में एंथोसायनिन नामक शक्तिशाली यौगिक होते हैं। एंथोसायनिन एक प्लांट पिग्मेंट (plant pigments) हैं जो फ्लेवोनोइड परिवार से संबंधित हैं। कई अध्ययनों में इस पिगमेंट में समृद्ध खाद्य पदार्थ खाने और हृदय रोग के कम जोखिम के बीच एक संबंध पाया गया है।

93,600 महिलाओं के एक अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने पाया कि एंथोसाइनिन युक्त खाद्य पदार्थों के अधिक सेवन से हार्ट अटैक का जोखिम बहुत कम हो जाता है।

दिल के स्वास्थ्य के लिए भी यह अच्छा व्‍यायाम है। चित्र-शटरस्टॉक
दिल के स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है पत्ता गोभी। चित्र-शटरस्टॉक

13 अवलोकन अध्ययनों का एक और विश्लेषण जिसमें 344,488 लोग शामिल थे, में भी समान निष्कर्ष थे। इसमें पाया गया कि प्रतिदिन 10 मिलीग्राम तक फ्लेवोनॉयड का सेवन हृदय रोग के 5% कम जोखिम से जुड़ा था।

यह भी पढ़ें: विटामिन डी डेफि‍शिएंसी दूर करने के साथ ही वेट लॉस में भी मददगार है दूध, हम बता रहे हैं कैसे

  1. ब्लड प्रेशर नियंत्रित रखने में मदद कर सकती है

हाई बीपी दुनिया भर में एक अरब से अधिक लोगों को प्रभावित कर चुका है। साथ ही यह हृदय रोग और स्ट्रोक के लिए एक प्रमुख जोखिम कारक है। डॉक्टर अक्सर हाई बीपी वाले लोगों को नमक का सेवन कम करने की सलाह देते हैं। हालांकि, हालिया साक्ष्य बताते हैं कि आपके आहार में पोटेशियम की मात्रा को बढ़ाना भी ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए उतना ही महत्वपूर्ण है।

पोटेशियम एक महत्वपूर्ण मिनरल और इलेक्ट्रोलाइट है। शरीर को ठीक से काम करने इसकी आवश्यकता होती है। इसका एक मुख्य काम शरीर में सोडियम के प्रभाव का प्रतिकार करके ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद करना है। पत्ता गोभी पोटेशियम का एक बेहतरीन स्रोत है, 2 कप (178-ग्राम) पत्ता गोभी हमारी दैनिक आवश्यकता का लगभग 12 प्रतिशत पोटेशियम प्रदान करती है।

  1. कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद कर सकती है

कोलेस्ट्रॉल एक मोम जैसी वसा है, जो कि आपके शरीर की हर कोशिका में पाया जाता है। कुछ लोग सोचते हैं कि सभी कोलेस्ट्रॉल खराब हैं, लेकिन यह शरीर के उचित कार्य के लिए आवश्यक है। शरीर की महत्वपूर्ण प्रक्रियाएं कोलेस्ट्रॉल पर निर्भर करती हैं, जैसे कि उचित पाचन, हार्मोन और विटामिन डी का संश्लेषण।

व्‍हीटग्रास जूस बैड कोलेस्‍ट्रॉल को बाहर करता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
पत्ता गोभी खराब कॉलेस्ट्रोल को कम करती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

हालांकि, जिन लोगों का कोलेस्ट्रॉल अधिक होता है, उनमें भी हृदय रोग का खतरा बढ़ जाता है। विशेषकर तब जब उनमें खराब कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल) का स्तर बढ़ जाता है।

पत्तागोभी में ऐसे दो पदार्थ होते हैं जिन्हें एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के अस्वास्थ्यकर स्तर को कम करने के लिए दिखाया गया है।

  1. घुलनशील फाइबर

घुलनशील फाइबर को आंत में कोलेस्ट्रॉल के साथ बांधकर और इसे रक्त में अवशोषित होने से बचाने के लिए “खराब” कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल) के स्तर को कम करने में मदद करने के लिए दिखाया गया है।

67 अध्ययनों के एक बड़े विश्लेषण से पता चला है कि जब लोग प्रति दिन 2 से 10 ग्राम घुलनशील फाइबर खाते हैं, उनके एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के स्तर में लगभग 2.2 मिलीग्राम प्रति डेसीलीटर की कमी हुई।

पत्तागोभी घुलनशील फाइबर का एक अच्छा स्रोत है। वास्तव में, गोभी में पाए जाने वाले फाइबर का लगभग 40% घुलनशील होता है।

यह भी पढ़ें: ये 5 कारण आपको भी बना देंगे पपीते के पत्‍तों के जूस का प्रशंसक, जानिए इसे घर पर कैसे बनाना है

  1. पौधों का स्टेरॉल्स

पत्तागोभी में फाइटोस्टेरॉल नामक पदार्थ होता है। वे पौधे के यौगिक होते हैं जो संरचनात्मक रूप से कोलेस्ट्रॉल के समान होते हैं। वे पाचन तंत्र में कोलेस्ट्रॉल के अवशोषण को अवरुद्ध करके एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करते हैं। प्रति दिन फाइटोस्टेरॉल के सेवन में 1 ग्राम की वृद्धि को एलडीएल कोलेस्ट्रॉल की सांद्रता को 5% तक कम करने के लिए दिखाया गया है।

विनीत विनीत

अपने प्यार में हूं। खाने-पीने,घूमने-फिरने का शौकीन। अगर टाइम है तो बस वर्कआउट के लिए।