वैलनेस
स्टोर

बाजरे की खिचड़ी की ये आसान रेसिपी सर्दियों के वीकेंड में बन जाएगी आपकी फेवरेट

Published on:27 December 2020, 10:00am IST
वीकेंड में कुछ आसान, स्वादिष्ट और हेल्दी बनाना चाहती हैं? तो बाजरे की खिचड़ी आपके लिए ही है।
विदुषी शुक्‍ला
  • 83 Likes
वीकेंड में कुछ हेल्दी बनाना चाहती हैं तो बाजरे की खिचड़ी आपके लिए ही है। चित्र- शटरस्टॉक।

राजस्थानी बाजरे की खिचड़ी सिर्फ अपने स्वाद की वजह से ही नहीं अपने गुणों की वजह से भी देशभर में मशहूर है। इसे विशेषकर सर्दियों के मौसम में ज्यादा खाया जाता है। इसे उत्तर भारत में खासकर राजस्थान में बहुत ज्यादा खाया जाता है क्योंकि यहां पर इसकी पैदावार बहुत ज्यादा मात्रा में होती है।

सर्दियों के मौसम के दौरान राजस्थान के सबसे बड़े आकर्षणों में से एक प्रसिद्ध पारंपरिक बाजरे की खिचड़ी है, जो न केवल अपने स्वाद के कारण, बल्कि अपने फायदे के लिए भी जानी जाती हैं। तो यहां है राजस्थानी बाजरे की खिचड़ी की सबसे पुरानी, ​​सरल और पारंपरिक रेसिपी के साथ इसके कुछ फायदे।

ये बनाने में आसान और खाने में स्वादिष्ट है। और एक लेजी वीकेंड का परफेक्ट साथी है।
आयरन, फॉस्फोरस, प्रोटीन, विटामिन से भरपूर बाजरा आपकी डाइट में शामिल करने के लिए एक बेहतरीन डिश है।

बाजरे की खिचड़ी के लिए आपको क्या चाहिए?

250 ग्राम- बाजरा
100 ग्राम- मूंग दाल (हरा चना) या मूट दाल
50 ग्राम- घी
1 चम्मच- नमक
2 लिटर – पानी

क्यों खाना चाहिए बाजरा। चित्र- शटरस्टॉक

बाजरे की खिचड़ी कैसे बनाये-

  • बाजरे को एक मिक्सी में डालें। इसे आसान बनाने के लिए, इसे ग्राइंडर में पीसें, भूसी को फटक कर हटा दें।
  • अब इसमें या तो मूंग दाल या मोंठ की दाल डालें।
  • प्रेशर कुकर लें, उसमें पानी डालें और उबालें।
  • उबलते पानी में घी और नमक डालें।
  • अब धीरे-धीरे कुकर में बाजरे और दाल का मिश्रण डालें और इसे 5-7 मिनट के लिए अच्छी तरह
  • से हिलाएं ताकि गुठलियां न बनें।
  • 1 सीटी आने के बाद प्रेशर कुकर को बंद कर दें और गैस की आंच को 10 मिनट तक धीमा कर दें। सब भाप निकलने के बाद ही कुकर खोलें।
  • बाजरे की खिचड़ी तैयार है, इसे और स्वाद बढ़ाने के लिए घी, दही, गुड़ के साथ परोसें।

टिप – अगर आपकी बाजरे की खिचड़ी ज्यादा गाढ़ी हो जाए, तो इसमें गर्म पानी मिलाकर अच्‍छे से मिक्‍स करें।

स्वादिष्ट और सेहतमंद बाजरे की खिचड़ी। चित्र- शटरस्टॉक।

बाजरा है पोषण का भंडार

एक कप (लगभग 150 ग्राम) बाजरे के आटे में 6 ग्राम प्रोटीन होता है, 2 ग्राम फाइबर और 40 ग्राम कार्बोहाइड्रेट होता है।
इसमें फॉलेट, आयरन, मैग्नीशियम, थियामिन, नियासिन, फॉस्फोरस, जिंक, रिबोफ्लेविन और विटामिन बी6 भरपूर मात्रा में मौजूद होता है।

ये भी पढें- कच्ची हल्दी के लाभों को पाने का स्वादिष्ट तरीका है हल्दी का अचार, हम बताते हैं इसकी रेसिपी

साथ ही बाजरा ग्लूटेन मुक्त भी होता है। इसलिए अगर आप ग्लूटेन फ्री चुनते हैं, तो बाजरा आपके लिए बहुत फायदेमंद है। बाजरा एंटीऑक्सीडेंट, पोलीफेनॉल्स और फाइटोकेमिकल का भी उच्च स्रोत है। यानी बाजरा सिर्फ पोषक तत्व ही नहीं देता, बल्कि उनके अवशोषण को भी सुनिश्चित करता है। यही कारण है कि बाजरा इतना फायदेमंद माना जाता है।

तो देर किस बात की, आसानी से बनने वाली खिचड़ी का आनन्द उठाएं।

विदुषी शुक्‍ला विदुषी शुक्‍ला

पहला प्‍यार प्रकृति और दूसरा मिठास। संबंधों में मिठास हो तो वे और सुंदर होते हैं। डायबिटीज और तनाव दोनों पास नहीं आते।