वैलनेस
स्टोर

लिपोसोमल विटामिन : ऐसे विटामिन जो तुरंत अवशोषित होकर आपको ज्‍यादा फायदा पहुंचा सकते हैं

Published on:12 May 2021, 12:26pm IST
लिपोसोम में स्वस्थ वसा कण, फास्फोलिपिड्स, साथ ही पानी में घुलनशील विटामिन और खनिज होते हैं। अधिक जानने के लिए ये लेख पढ़े
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 89 Likes
ये आपकी इम्युनिटी का निर्माण करने में मदद करते हैं, चित्र-शटरस्टॉक.

जब स्वास्थ्य और फिटनेस से संबंधित जानकारी की बात होती है, तो इंटरनेट पर आपको एक टन से ज्‍यादा जानकारी मिल सकती है। समस्या ये है कि आप नहीं जानते कि क्या सही है और क्या गलत है। इसलिए आपके लिए सही और पुख्‍ता जान‍कारियां लेकर हम एक बार फि‍र आपके साथ हैं।

आज हम लिपोसोमल विटामिन के बारे में बात करने जा रहे हैं। लेकिन इससे पहले कि हम इसके फायदों के बारे में बताएं, पहले आइए समझें कि ये विटामिन क्या है। आप उन्हें सप्लीमेंट के ‘सुपर हीरो’ कह सकते हैं। क्योंकि वे इस तरह बनाए जाते हैं कि वे सीधे कोशिकाओं (सेल्स) में समा सकें।

क्‍यों अलग हैं लिपोसोमल विटामिन

लिपोसोमल विटामिन लिपोसोम में मिले हुए होते हैं, जिनमें स्वस्थ वसा कण, फास्फोलिपिड्स, साथ ही पानी में घुलनशील विटामिन और खनिज होते हैं। हां, आपने इसे सही सुना। अन्य सप्लीमेंट के विपरीत, वो पोषण देने के लिए कैप्सूल या टैबलेट का उपयोग नहीं करते हैं। मतलब, ये सप्लीमेंट दूसरों की तुलना में अधिक प्रभावी है!

इम्युनिटी को मजबूत करते है्, चित्र- शटरस्टॉक.

क्‍या कहते हैं विशेषज्ञ

पॉलिन जोस, एक विशेषज्ञ जो पीएच लैब्स प्रोएक्टिव हेल्थ केयर टीम का एक हिस्सा है, उन्होंने एक लेख में लिखा है कि, “लिपोसोमल तकनीक की दवाओं को ’60 के दशक से वितरित किया गया है। इस तकनीक का इस्तेमाल सप्लीमेंट्स के अलावा वैक्सीन और जीन थेरेपी (दोनों इंजेक्शन) के लिए डिलीवरी सिस्टम के रूप में भी किया गया है।

लाइसोसोम क्या है?

हमने पहले ही आपको बता दिया है कि लिपोसोम्स इन विटामिनों को उनके नाम देते हैं। इसे बेहतर तरीके से समझने के लिए, यह जानना आवश्यक है कि वे फास्फोलिपिड्स से बने होते हैं। जो कोशिका झिल्ली बनाते हैं। ये कोशिका(सेल) झिल्ली के रूप में एक ही सामग्री से बना है। इसका गुण ये है कि ये आसानी से अवशोषित हो जाते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि वो इन झिल्ली के साथ तुरंत जुड़ जाते हैं।

इंटीग्रेटिव मेडिसिन द्वारा इसकी प्रभावशीलता को और अधिक प्रमाणित किया गया है। एक क्लीनीसियन जर्नल है जो बताता है कि लिपोसोमल विटामिन में इंट्रासेल्युलर डिलीवरी को बढ़ाने की क्षमता है। इसके अलावा, ये अन्य सप्लीमेंट की तुलना में एक उच्च जैव उपलब्धता और अवशोषण है।

ये आपको कैसे फायदा देते हैं?

अन्य विटामिन सप्लीमेंट्स की तरह, ये भी अपने बहुत से गुणों के कारण जाना जाता है लेकिन बड़े पैमाने पर। ये आपकी इम्युनिटी का निर्माण करने में मदद करते हैं, कोलेजन उत्पादन को बढ़ावा देते हैं, प्रोटीन का उत्पादन बढ़ाते हैं, और शरीर में मुक्त कण क्षति से लड़ते हैं। सबसे बड़ा अंतर विटामिन में लिपोसम में ये है कि ये आपके शरीर में पोषक तत्वों को अधिक प्रभावी ढंग से अवशोषित करने में मदद करता है।

कोविड -19 से बचने के लिए आप इन सप्लीमेंट्स को ले सकते हैं। इनसे आपको बड़ी मदद हो सकती है। वे आवश्यक एंटीबॉडी के उत्पादन को गति देते हैं। कुछ मामलों में, लिपोसोमल विटामिन का उपयोग कैंसर के उपचार के भाग के रूप में भी किया जाता है।

क्या विटामिन-D कोरोना के जोखिम को कम कर सकता है? चित्र : शटरस्टॉक

ये विटामिन आपके मस्तिष्क और हृदय स्वास्थ्य को बढ़ाने में भी सहायक होते हैं। हमारे तंत्रिका कोशिकाओं को कार्निटाइन, क्रिएटिन, टायरोसिन और मायलिन के साथ-साथ न्यूरोट्रांसमीटर डोपामाइन और नॉरपेनेफ्रिन बनाने के लिए कुछ एंजाइमों की आवश्यकता होती है। यदि आपका मस्तिष्क इन पोषक तत्वों को प्राप्त नहीं करता है, तो आपका दिमाग ठीक से काम नहीं करता है।

अधिकांश समय, डॉक्टर दिन में एक बार लोगों को सप्लीमेंट आहार लेने की सलाह देते हैं। आप इसे पानी के साथ घोल सकते हैं या इसे स्मूदी या कॉफी के साथ भी ले सकते हैं – चुनाव आपका है!

इसे भी पढ़ें-गाय का दूध बनाम भैंस का दूध : क्‍या पोषण के मामले में दोनो में कोई अंतर है? आइए पता करते हैं

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।