लो कैलोरी और हाई प्रोटीन सुपरफूड हैं फिश, वेट लॉस के लिए 4 तरह की मछली करें आहार में शामिल

जब वेट लॉस की बात आती है, तो सिर्फ एक्सरसाइज से काम नहीं बनता। इसके साथ ही आपको अपने कैलोरी काउंट पर भी ध्यान देना होता है। मछली इसमें आपकी मदद कर सकती है।

fish-to-reduce-weight
लो कैलोरी और हाई प्रोटीन सुपरफूड हैं फिश. चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Published on: 24 August 2022, 10:00 am IST
  • 148

वेट लॉस डाइट प्लान करते वक्त आप तरह-तरह के फूड्स के पर रिसर्च करती होंगी। इतना ही नहीं कई तरह के बार्स और शेक जैसे प्रोटीन सप्लीमेंट को अपनी डाइट में शामिल करती होंगी। तो क्या आपको पता है कि मछली आपकी वेट लॉस डाइट का एक परफेक्ट कॉन्बिनेशन हो सकती है। यदि आप भी वजन बढ़ने की समस्या से परेशान हैं और वजन कम करना चाहती हैं, तो मछली को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें।

फिश में मौजूद सभी पोषक तत्व कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं से निजात पाने में मदद करते हैं, इसी के साथ वेट लॉस में भी ये काफी ज्यादा फायदेमंद हो सकते हैं। वहीं फिश मेडिटेरियन डाइट का एक हिस्सा है, और कई रिसर्च भी यह मानती हैं कि मेडिटेरियन डाइट वेट लॉस में सबसे ज्यादा प्रभावी तरीके से काम करती है।

हमने मछली और वेट लॉस को लेकर कई रिसर्च और स्टडी पढ़ीं। परिणामस्वरूप मछली को वजन कम करने के लिए एक प्रभावी सुपरफूड के तौर पर पाया। तो चलिए जानते हैं आखिर किस तरह मछली का सेवन हमें वजन को नियंत्रित रखने में मदद कर सकता है। इसके साथ ही जानेंगे कौन सी फिश वेट लॉस डाइट के लिए परफेक्ट होती है।

fish for weight loss
जानिए नेचुरली वेट लॉस करने का तरीका। चित्र:-शटरस्टॉक

1. प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है मछली

यदि आप वेट लॉस प्लान कर रही हैं, तो मछली को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन द्वारा किए गए अध्ययन के अनुसार मछली में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन पाई जाती है। प्रोटीन हमें संतुष्ट रखता है और बार बार भूख नहीं लगने देता। यह हमें ओवर ईटिंग से भी बचने में मदद करता है।

यदि आप अपने डाइट में काफी ज्यादा कार्बोहाइड्रेट ले रही हैं, जो कि आपको संतुष्ट नहीं होने दे रहा। तो ऐसे में प्रोटीन से युक्त मछली जैसे सुपरफूड्स को अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं।

2. फैट इंटेक कम हो जाता है

हाइ फैट एनिमल जैसे की बीफ और पोर्क की जगह मछली का सेवन शरीर से कैलरीज को कट डाउन करने में मदद करेगा। मछली को अन्य जरूरी पोषक तत्वों से युक्त सब्जियों के साथ मिक्स करके सर्व कर सकती हैं। यह और भी ज्यादा प्रभावी साबित होगा।

protein se bharpur hai fish
प्रोटीन से भरपूर है मछली। चित्र शटरस्टॉक.

3. इन्फ्लेमेशन को कम करे

क्या आपको मालूम है, बॉडी इन्फ्लेमेशन नियंत्रित रहना कितना जरूरी है? यदि नहीं, तो आपको बता दें कि यह आपके जीवन को लंबा और स्वस्थ रखने के साथ ही वजन कम करने में भी सहायक होता है।

आर्काइव्स ऑफ मेडिकल साइंस द्वारा प्रकाशित डेटा के माध्यम से पता चला है कि वेट लॉस प्लान इन्फ्लेमेशन को रिड्यूस करता है, और इन्फ्लेमेशन से होने वाली बीमारियों की संभावना को भी कम कर देता है।

वहीं पब मेड सेंट्रल द्वारा किए गए मछली को लेकर प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार मछली फैटी एसिड का एक अच्छा स्रोत है, जो इन्फ्लेमेशन को कम करने के वाली आवश्यक पोषक तत्वों में से एक हैं। इसके साथ ही इसका सेवन आपको मेंटली और फिजिकली एनर्जेटिक रखता है, शरीर में पर्याप्त एनर्जी होने से आप ज्यादा से ज्यादा फिजिकल एक्टिविटी में भाग लेती हैं और यह वेट लॉस में मदद करता है।

4. सीमित मात्रा में कैलोरी पाई जाती है

मछली लो कैलरी और हाई प्रोटीन सुपरफूड है। यह आपके वेट लॉस डाइट का एक परफेक्ट फूड हो सकता है। मछली को अपने वेट लॉस डाइट मैं ग्रिल्ड, बेक्ड और बॉयल्ड फिश को शामिल कर सकती है।

machli ke fayde
संतुलित मात्रा में मछली खाना लाभदायक है। चित्र: शटरस्टॉक

इन प्रतिक्रियाओं के साथ मछली को डाइट में शामिल करने से किसी भी प्रकार की एक्स्ट्रा फैट और एक्स्ट्रा कैलरी ऐड नही होती। यदि आप कुकिंग प्रोसेस के दौरान इसमें एक्स्ट्रा फैट ऐड कर लेती हैं, तो यह आपकी वेट लॉस के लिए प्रभावी रूप से काम नहीं कर पाता है।

यहां है वेट लॉस के लिए 4 सबसे प्रभावी फिश

1. हैलबट (Halibut)

हैलबट फाइबर का एक अच्छा स्रोत होती है, जो आपको लंबे समय तब संतुष्ट रखती हैं और भूख को भी नियंत्रित रखती हैं। यूरोपीयन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रिशन द्वारा प्रकाशित एक डेटा में इसे वेट लॉस के लिए एक हेल्थी डाइट के रूप में प्रस्तुत किया गया है। यह भूख को उत्तेजित करने वाले हार्मोन सेरोटोनिन को जरूरत से ज्यादा रिलीज नहीं होने देती।

2. ऑयस्टर (Oysters)

ऑयस्टर में कई आवश्यक पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे कि जिंक। ऑयस्टर हमें लंबे समय तक संतुष्ट रखने के साथ ही मेटाबॉलिक सिंड्रोम और ब्लड प्रेशर को इंप्रूव करने में मदद करता है। इसके साथ ही ग्लूकोज और एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को भी नियंत्रित रखता है।

fish jaroor len
सप्ताह में 2-3 दिन मछली को अपने आहार में जरूर शामिल करें। चित्र शटरस्टॉक।

3. वाइल्ड सैमन (Wild Salmon)

किए गए एक अध्ययन के अनुसार वाइल्ड सैमन का सेवन कर रहे लोगों केबॉडी इन्फ्लेमेशन को कम होते देखा गया। वहीं दूसरी ओर इंटरनेशनल जर्नल ऑफ ओबेसिटी के अनुसार नियमित रूप से सैमन का सेवन वजन कम करने में आपकी मदद कर सकता है।

4. स्कैलपस (Scallops)

यह एक प्रकार का सीफूड है जो कि रेस्टोरेंट्स में क्रीमी सॉसेज के साथ रिप्रेजेंट किया जाता है। जोकि वेट लॉस के लिए बिल्कुल भी उचित नहीं होते परंतु यदि इसे सही मेथड से पकाया जाए, तो यह आपके वेट लॉस के लिए एक प्रभावी डाइट सोर्स के रूप में सामने आ सकता है। हाई प्रोटीन और लो कैलोरी फूड होने के साथ यह वेट लॉस में आपकी मदद करता है।

यह भी पढ़ें : तनाव में आखिर ज्यादा क्यों झड़ने लगते हैं बाल, हमने एक्सपर्ट से पूछा इसका कारण 

  • 148
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें