इन 5 फूड्स के साथ अपनी डाइट को बनाएं और भी ज्यादा आकर्षक और स्वादिष्ट   

Published on: 30 July 2022, 19:00 pm IST

यदि आप भी वेट लॉस की योजना बना रही हैं, तो अपने किचन फूड को टेम्पटेशन युक्त बना लें। अपनी डाइट में ऐसे कलर वाले फूड शामिल करें, जिनका कलर आपको आकर्षित करता हो।

healthy tempting
यह भी पढ़ें:- ऐसा खाना खाएं, जिसका रंग-गंध दोनों आकर्षित करें।

जब भी हम कोई जंक फूड देखते हैं, तो हमें टेम्प्टेशन होने लगती है। भूखे न रहने के बावजूद भूख लगने लगती है। क्या आपने कभी इस बात पर ध्यान दिया है कि टेम्पटेशन क्यों होती है? दरअसल, आकर्षित करने वाले फूड कलर की वजह से हमें जंक फूड खाने की इच्छा होने लगती है। हम जंक फूड या प्रोसेस्ड फूड लेते हैं, तो एक बार में कैलोरी की बहुत ज्यादा मात्रा शरीर में पहुंच जाती है, जो हमारे वेट लॉस प्रोग्राम को बुरी तरह प्रभावित करती है। यदि आप भी वेट लॉस की योजना बना रही हैं, तो विशेषज्ञ कहते हैं कि अपने किचन को टेम्पटेशन युक्त (make kitchen temptation full)  बना लें। अपनी डाइट में ऐसे कलर वाले फूड शामिल करें, जिनका कलर आपको आकर्षित करता हो। भोजन को अपनी प्लेट में कुछ इस तरह सजाएं कि आपको उन्हें खाने को जी ललचाए।

जल्दी वजन घटाना है नुकसानदेह

क्लाउड नाइन हॉस्पिटल, गुरुग्राम की सीनियर कंसल्टेंट गाइनेकोलॉजी डॉ. रितु सेठी बताती हैं कि जल्दी वजन घटाना हमारे लिए नुकसानदेह हो सकता है। इससे हमें कई अलग-अलग तरह की स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए हमेशा बैलेंस्ड डाइट और रेगुलर डाइट रूटीन को फॉलो करना चाहिए।

किचन को सजाएं टेम्पटिंग फूड से

जिंदल नेचर केयर इंस्टीट्यूट की चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉ. बबीना एनएम वेट लॉस प्रोग्राम में शामिल महिलाओं को माइंडफुल ईटिंग पर जोर देती हैं। वे कहती हैं, भोजन के रंग, गंध, स्वाद, बनावट पर जरूर ध्यान देना चाहिए। ऐसे भोजन को शामिल करना चाहिए, जिनका रंग आपको आकर्षित करे, साथ ही साथ लो कैलोरी होने के कारण वह वेट लॉस में भी मदद करे। 

अपनी इंद्रियों को पूरी तरह भोजन से जोड़ दें। इससे भी अपने किचन में मौजूद और पकने वाले भोजन के प्रति आपका आकर्षण बढ़ेगा। यहां कई ऐसे फूड्स के बारे में बताया जा रहा है, जो न सिर्फ टेम्पटिंग हैं, बल्कि फाइबर और प्रोटीन के सोर्स हैं। इसलिए वेट लॉस में भी मददगार हैं।

1 सफेद चना (Chick Pea)

इसका सफेद पीला कलर टेम्पटिंग लगता है। पोषण का पावरहाउस काबुली चना फाइबर और प्लांट प्रोटीन से भरा होता है, जो वजन घटाने में आपकी मदद कर सकते हैं। यह फोलेट, आयरन, इम्यूनिटी बढ़ाने वाले एंटीऑक्सिडेंट का स्रोत है। यदि ब्लोटिंग की समस्या है, तो यह ब्लोट बस्टिंग खनिजों से भी भरपूर होता है। साथ ही कॉम्प्लैक्स कार्बोहाइड्रेट का एक समृद्ध स्रोत है, जो आपको दिन भर एनर्जेटिक बनाए रखने में मदद कर सकता है। 

कैसे खाएं

सूप, स्ट्यू, साइड डिश के रूप में इसे ट्राई किया जा सकता है।

chickpeas
कम कैलोरी होने के कारण छोले चना वजन घटाने में कारगर है। चित्र: शटरस्टॉक

कभी सफेद चने को उबाल कर उसे बारीक कटे टमाटर, प्याज, गाजर, हरी मिर्च, नींबू, धनिया पत्ती, चाट मसाला आदि के साथ मिलाकर खाएंगी, तो हरा, लाल, पीला और गुलाबी रंगों के कारण न सिर्फ वह देखने में आकर्षित करेगा, बल्कि खाने में भी चटाखेदार होगा। साथ ही पेट में कम कैलोरी भी जाएगी।

2अंडे (Eggs)

कम कैलोरी वाले अंडे भी पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। आमलेट, एग फ्राई और एग करी यदि आप अपने भोजन में शामिल करेंगी, तो आपको हाई प्रोटीन मिलेगा। लेकिन बॉयल एग के सफेद भाग के साथ योक भी खाएंगी, तो आप पूरे दिन तृप्त महसूस करेंगी। 

एग योक गुड कोलेस्ट्रॉल बढ़ाने के साथ कोलीन और विटामिन डी जैसे पोषक तत्वों वाला भी होता है। कम कैलोरी और भरपूर फाइबर वाला मजेदार डिश आपके पेट को रात भर भरा हुआ रखेगा। दोपहर के भोजन में कभी अलग तरीके से ब्वॉयल एग खाने की कोशिश करें।

कैसे खाएं

प्याज, टमाटर का सैलेड काट लें।

सैलेड पर मूंग, चना स्प्राउट्स डाल दें।

दो ब्वॉयल एग को बीच से काट लें।

गर्म पैन पर स्वादानुसार नमक, चुटकी भर हल्दी और काली मिर्च पाउडर डाल दें।

उसके ऊपर ब्वॉयल एग रख कर फ्लेम बंद कर दें।

इन अंडों को सैलेड के ऊपर रख दें।

हल्दी में सने अंडे को देखते ही खाने को आपका मन मचलने लगेगा।

3 ओट्स (Oats)

ओट्स में फाइबर और प्रोटीन की मात्रा तृप्ति को बढ़ा सकती है। बैलेंस डाइट के रूप में यह वेट लॉस में भी कारगर है और आपको पेट भरा होने का भी एहसास दिलाता है। सिर्फ आधा कप बिना पके ओट्स में कम से कम 4 ग्राम फाइबर और केवल 150 कैलोरी होती है। ओट्स में सैचुरेटेड फाइबर एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है और आंत में प्रोबायोटिक्स को भी बढ़ाता है।

कैसे खाएं

दूध के साथ और दलिया के रूप में आपने ओट्स को बहुत खाया होगा।

कभी सैलेड और स्प्राउट्स के साथ मिक्स कर खाएं।

दूसरी ओर, ओट्स को कुछ देर पानी में भिगो दें। यह ग्लूटेन फ्री होता है।

इसे उबले आलू, नींबू, नमक, हल्दी, काली मिर्च, बारीक कटे प्याज, बारीक कटा शिमला मिर्च के साथ मैश कर लें।

इसे गोल साइज बनाकर हाथों से दबा दें।

पैन पर हल्का तेल लगाकर इसे उलट-पुलट कर पका लें।

आलू चाट या बर्गर टिक्की की तरह दिखने वाला यह पौष्टिक व्यंजन जबर्दस्त टेम्पटिंग होगा।

4 अखरोट(Walnuts)

अखरोट मोनोअनसैचुरेटेड फैट से भरपूर होते हैं। प्रोटीन और फाइबर से भरपूर यह मेंटल हेल्थ को मजबूत करता है। अखरोट मूंगफली और अन्य ट्री नट्स की तुलना में अधिक एंटीऑक्सीडेंट पॉलीफेनोल्स की मात्रा प्रदान करते हैं। स्टडी बताती है कि अखरोट एलडीएल कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड की मात्रा को काफी घटा देता है। प्रोबायोटिक्स की मौजूदगी गट हेल्थ के लिए बढ़िया है।

कैसे खाएं

अखरोट को 5-6 घंटे पानी में छोड़ दें।

फूलने पर छिलका उतार लें।

हरी मिर्च, टमाटर, लहसुन आदि के साथ पीसकर चटनी के रूप में किसी भी भोजन के साथ खा सकती हैं।

पानी में भिगोए और छिलका उतारे हुए 10 अखरोट पीस लें।

इसे एक गिलास पानी के साथ अच्छी तरह मिक्स कर लें।

आपका वीगन आल्मंड मिल्क तैयार है, जो आपको न सिर्फ तंदुरुस्त रखेगा, बल्कि वजन भी घटाएगा।

अखरोट माइंड के लिए बढ़िया है। चित्र: शटरस्टॉक

पौष्टिक चटनी और आल्मंड मिल्क दोनों आपको उदरस्थ करने के लिए लालच देंगे।

5 कद्​दू (Pumpkin)

चमकीला नारंगी और हरे छिल्के वाले कद्​दू का प्रयोग उसके टेम्पटिंग कलर के कारण ही पास्ता में प्रयोग किया जाता है। यह रंग कद्​दू को बीटा-कैरोटीन से मिलता है। इस कैरोटीनॉयड को शरीर विटामिन ए बनाने के लिए उपयोग करता है। इसमें विटामिन बी-6, विटामिन ई, विटामिन के और विटामिन सी, राइबोफ्लेबिन भी पाया जाता है। कद्​दू के साथ-साथ इसके बीज भी बेहद फायदेमंद हैं। 

kaddu ke fayde
कद्​दू ब्लड शुगर लेवल को कम करने में मदद करता है। चित्र:शटरस्टॉक

ब्लग शुगर लेवल, ब्लड प्रेशर आदि को कंट्रोल करने के साथ-साथ यह आंखों के लिए भी बेहद फायदेमंद है।

कैसे खाएं

कद्​दू के बीज को घी, नमक और काली मिर्च के साथ भूनकर खाएं।

स्मूदी, सूप, सब्जी के अलावा, भुनी और पिसी मूंगफली, भुने बेसन के साथ कद्​दूकस किए और भुने कद्​दू को खाएं। यह टेम्पटिंग दिखने के अलावा, स्वाद में भी बेजोड़ होगा। 

यह भी पढ़ें:-ब्रेस्ट कैंसर के जोखिम को कम कर सकता है हर रोज बस एक घंटा टहलना, और भी हैं लाभ 

स्मिता सिंह स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें